Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

कमिश्नर ने किया मेडिकल कॉलेज में बैठक ,घूम-घूम कर पूरे अस्पताल क्षेत्र का किया निरीक्षण

- Sponsored -

- Sponsored -

शुशांत अंशु /सिंहेश्वर,मधेपुरा/ प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में रोगी कल्याण समिति की एक बैठक कोशी आयुक्त सह रोगी कल्याण समिति के चेयरमैन राहुल महिवाल की अध्यक्षता में की गई. इस बैठक में मुख्य रूप से 7 एजेंडा पर चर्चा की गई. बैठक में मुख्य रूप से डीएम श्याम बिहारी मीना, एसपी योगेंद्र कुमार, एसडीओ नीरज कुमार, डीपीआरओ मनीष कुमार, मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ गौरिकान्त मिश्रा, अधीक्षक डॉ राकेश कुमार सहित अन्य साथ थे.

बैठक के बाद सभी ने लगभग पुरे अस्पाल परिसर सहित कॉलेज क्षेत्र का घूम- घूम कर निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया. बैठक में 7 एजेंडा में 2 एजेंडा पर मुहर लग गई है जबकि अन्य पर विचार करने की बात कही गई. एजेंडा में पहला एफएमटी विभाग में 4 मोरगे अटेंडेंट को बहाल करने एवं मानदेय के दर हेतु अनुमोदन पर चर्चा हुई जबकि, दूसरा एनाटोमी में 4 डिसेक्शन हॉल अटेंडेंट को बहाल करने एवं मानदेय के दर हेतु अनुमोदन इस पर बताया गया कि रिक्त पद को मानदेय पर रखा जा सकता हैं. जिसे 395 रुपये प्रति दिन स्किल्ड सरकारी दर के हिसाब से दिया जाएगा. वही अस्पताल परिसर में 5 चापाकल लगाने पर चर्चा हुई जिसपर डीएम ने स्पष्ट रूप से बताया कि इस क्षेत्र में चापाकल का पानी पीने योग्य नही है. इसलिए नल का जल की व्यवस्था को ही प्राथमिकता दी जाएगी.

विज्ञापन

विज्ञापन

जबकि एलएंडटी के जेईई राहुल कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि ब्लॉक 5 के पास पीने के पानी की व्यवस्था की जाएगी. वहीं चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल परिसर में महिला एवं पुरुष हेतु अलग- अलग यूरिनल बनाने पर भी विचार हुआ जिसे एक सिरे से खारिज कर दिया. इस बारे में कहा गया कि अगर बाहरी परिसर में यूरिनल बनाया गया तो वह काफी गंदी हो जायेगा जिससे लोगों को परेशानी होगी. चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल परिसर से कचरा उठाव हेतु नगर परिषद या अन्य कचरा निस्तारण एजेंसी दर निर्धारित करते हुए अनुमोदन पर कहा गया कि कचरा उठाव नगर परिषद से किया जा सकता है अगर नगर परिषद कोई शुल्क लेगा तो उसे दिया जाएगा. हालांकि बाद में डीएम ने अपने स्तर से इस कार्य को देख लेने की बात कही. चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के सुरक्षा के लिए महिला और पुरुष पुलिस बल तैनाती के लिए पुलिस अधीक्षक और डीएम से मांग की गई. जिस पर कहा गया कि 12 महिला पुरूष की मांग हुई थी जिसमें 4 पुरुष बल दे दिया गया है. कुछ उलझनों के कारण पूरा बल नही दिया गया है. जबकि यह भी बताया गया कि जल्द ही मेडिकल कॉलेज के पास 3 कमरों का एक पुलिस चौकी बनाई जाएगी जहां पर्याप्त संख्या में 24 घंटे पुलिस बल मौजूद रहेंगे.

अंत में अस्पताल के लिए 15 महिला पुरुष ट्रॉली मेन एवं 25 महिला पुरुष वार्ड बॉय को बाहय स्रोत से रखने के लिए अनुमती मांगी गई. जिस बारे में कहा गया कि रोगी कल्याण समिति से इस पद को बहाल करने बात कही गई. जिस पर जल्द ही विचार किया जाएगा.

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...