Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

पूर्णिया : डीएम की अध्यक्षता में हुई समीक्षात्मक बैठक,अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा – निर्देश

- Sponsored -

- Sponsored -

विकास वर्मा 

कोसी टाइम्स @ पूर्णिया .

बाहर से आए सभी लोगों के सेम्पल की होगी जांच
– नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा 14 दिनों तक
– पर्याप्त मात्रा में आपदा राहत केंद्र चलाने का जिलाधिकारी ने दिया निर्देश
– नगर निगम क्षेत्र में भी चलाया जाएगा राहत केंद्र
– किसी भी धार्मिक अनुष्ठान की जुलूस यात्रा निकालने पर रोक

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए और जरूरी सुविधाओं की जरूरत के लिए जिला समाहरणालय में जिलाधिकारी राहुल कुमार की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक हुई. बैठक में एसपी विशाल शर्मा भी मौजूद थे. बैठक में जिला में हो रही व्यवस्था और जरूरी संसाधनों की जिलाधिकारी ने जानकारी ली और संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक निर्देश दिए. बैठक में बताया गया कि जिला में बाहर से जितने भी लोग आ रहे हैं उनका आइसोलेशन किया जा रहा है व उनके सेम्पल की जांच की जा रही है. सभी लोगों को अस्पताल, होटल या विद्यालयों में बने आपातकालीन आइसोलेशन वार्ड में रख कर जांच की जा रही है. जिलाधिकारी ने बताया कि अब तक जिले में 4117 लोग बाहर से आए हैं, जिनमें 136 लोग विदेश से आए हैं और 18 मार्च के बाद आने वालों की संख्या 78 है. उन सभी लोगों को आइसोलेशन में रख कर उनकी नियमित जांच की जा रही है. उन्होंने यह भी बताया कि पूर्णियाँ जिले के 4128 लोग अभी भी जिला से बाहर हैं.

रिपोर्ट आने तक रखी जाएगी निगरानी :
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि विदेश से आने वालों की जाँच के लिए सैम्पल को दरभंगा मेडिकल कालेज सिविल सर्जन द्वारा भेजा जाएगा. रिपोर्ट आने तक उन लोगों को जिला के आर एन साव चौक स्थित होटल हॉलीडे में रखा जाएगा. इस दौरान उन्हें अस्पताल प्रशासन द्वारा मास्क, ग्लव्स आदि दिया जाएगा व अन्य लोगों से दूरी बनाकर रखा जाएगा. होटल में ठहरने पर उन सभी लोगों को नाश्ता एवं सादा भोजन उपलब्ध कराया जाएगा. जिसकी भुगतान आपदा प्रबंधन शाखा, पूर्णिया द्वारा की जाएगी.

विज्ञापन

विज्ञापन

नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा 14 दिनों तक :

रिपोर्ट नेगेटिव आने पर व्यक्ति के प्रखंड से संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के एम्बुलेंस द्वारा सुरक्षित उनके घर पहुँचाया जाएगा. जहां 14 दिन तक उन्हें होम क्वारंटाइन यानी परिवार के अन्य सदस्यों से अलग रखा जाएगा. इस दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी, आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/विकास मित्र आदि के माध्यम से उसके स्वास्थ्य की अपडेट प्राप्त किया जाएगा. जिन घरों में होम क्वारंटाइन किया जाएगा उसमें स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए स्टिकर चिपकते हुए उसमें तिथिवार मार्किंग करना अनिवार्य होगा. इन 14 दिनों के दौरान अगर व्यक्ति को बुखार/खांसी अथवा सांस लेने में तकलीफ की शिकायत होने पर तुरंत अस्पताल भेज जाना सुनिश्चित किया जाना है.

धार्मिक अनुष्ठान की जुलूस यात्रा निकालने पर रोक :
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि आने वाले दिनों में किसी भी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठानों जैसे रामनवमी, हनुमान जयंती, शव-ए-बारात आदि की जुलूस यात्रा नहीं निकली जाएगी. लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर सख्त करवाई का जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया है.

नगर निगम क्षेत्र में भी चलाया जाएगा राहत केंद्र :
बैठक में जिलाधिकारी ने नगर निगम क्षेत्र में भी राहत केंद्र चलाने का निर्देश दिया. बाहर से आने वाले सभी व्यक्तियों के ठहरने, रहने खाने की पूरी व्यवस्था विद्यालयों में करवाये जाएंगे. सभी नोडल अधिकारीयों को प्रखंडों में जाकर चल रहे आपदा केन्द्रों के निरक्षण का निर्देश जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान दिया.

इस मौके पर समीक्षात्मक बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, नगर निगम आयुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी, डीपीएम, डीटीओ आदि उपस्थित थे.

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...