Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

प्रवचन कार्यक्रम का आयोजन

- Sponsored -

- Sponsored -

विज्ञापन

विज्ञापन

संजय कुमार भगत। वरीय संवाददाता, कोसी टाइम्स@ छातापुर। सुपौल

 

जैन धर्म का पर्युषण पर्व के मौके पर समाज में धर्म के प्रचार प्रसार को लेकर कलकत्ता से दो उपासिका बहनें प्रखंड मुख्यालय पहुंची | इन दोनों उपासिका ने धर्म से जुड़े हुये कई प्रवचन देकर लोगों को धर्म के प्रति समर्पित बनने की बात कही | गुरुवार को शाम में समाज के लोगों को संबोधित करते हुये महाश्रमण जी के पद चिन्हों पर चलने वाली निर्मला बोथरा ने कहा कि 84 लाख योनियों में भटकाव के बाद मानव योनी मिलता है | इसको लेकर मानव को क्षमा दानी बनने की जरुरत है | उन्होंने कहा कि मानव को एक दुसरें की गलती को क्षमा करने से किसी प्रकार की परेशानी कलह उत्पन्न नहीं होंगी | उन्होंने कहा कि उनके समाज के लोगों से रूबरू होने का मुख्य उदेश्य धर्म के प्रचार प्रसार कर उन्हें धर्म के प्रति समर्पित बनने की सलाह देना है | उन्होंने कहा कि भागम भाग के दुनिया में आज मानव काम काम के परेशानी से दिनभर बोझिल बना रहता है | उन्हें मानव रूपी तन को सफल बनाने के लिये धार्मिक कार्यों में भी समय देने की जरुरत है | उन्होंने समाज के लोगों को समय समय पर उपवास में रहने, नित्य जाप करने, स्तुति ध्यान करने, वाणी में नित्य संयम बरतने की बात कही | सारिका बोकोडिया ने कहा कि मानव को अपने माँ पिता समेत सभी परिजनों का आदर सम्मान करने करना चाहिए | उन्होंने कहा कि मानव के लिये नशा, मांस और मजीरा राक्षस प्रवति में ले जाने के मार्ग का माध्यम है | इसलिए सभी को इनसे दूर रहने की जरुरत है | उन्होंने कहा कि मानव को कम बोलने की आदत डालने की आवश्यकता है | उनहोंने कहा कि मानव को जब भी बोले ऐसी वाणी बोलने की आवश्यकता है | जिससे सुनने वालों को किसी प्रकार से दुःख नै पहुंचे | इसके साथ ही उन्होंने पर्युषण पर्व से सम्बंधित कई जानकारी समाज के लोगों को दिया | उन्होंने कई कथा भी कहकर लोगों को धार्मिक कार्य के प्रति बने रहने के लिये संकल्पित करवायी | मौके पर बड़ी संख्या में समाज की महिला पुरुष थे |

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...