Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

चर्चित आईपीएस ऑफिसर विकास वैभव को आज आईआईटी कानपुर में किया जाएगा सम्मानित

- Sponsored -

- Sponsored -

प्रशांत कुमार

 

2003 बैच के आईपीएस ऑफिसर विकास वैभव को आज आईआईटी कानपुर में प्रतिष्ठित सम्मान सतेंद्र कुमार दुबे मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा।मालूम हो अपने कर्तव्यशैली से चर्चित हुए आईपीएस विकास वैभव वर्तमान में बिहार के भागलपुर रेंज के डीआईजी है ।उनके करियर के तौर पर एसपी के रूप में पहली पोस्टिंग बगहा में हुई थी।

 

बिहार के बेगूसराय के स्थायी निवासी श्री वैभव देश के टॉप आईआईटी में शुमार आईआईटी कानपुर से बीटेक करने के बाद आईपीएस के रूप में अपनी करियर को उड़ान दिया और अब तक जहां भी पोस्टिंग हुई अपने बेहतर पुलिसिंग से आमजन के दिल जगह बनाते हुए छाप छोड़ते गए।कम्युनिटी पुलिसिंग में इनका अटल विश्वास है इसी का नतीजा है ये अब भी जनता दरबार लगाते है और लोगों से रूबरू होकर उनकी समस्या सुनते है।

क्या है सत्येंद्र दुबे अवार्ड

बिहार के गया जिले में 2003 में इंजीनियर सत्येंद्र दुबे की हत्या हो गई थी, उस समय यह मामला काफी चर्चित हुआ था, क्योंकि सत्येंद्र दुबे ने अपनी हत्या से पहले नेशनल हाईवे अथॉरिटी में हो रहे भ्रष्टाचार के बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय तक को चिठ्ठी लिखी थी।सत्येंद्र दुबे आईआईटी कानपुर के ही छात्र रहे थे जो ईमानदार अभियंता में गिने जाते थे।रंगदारी नही देने के कारण उनकी हत्या करवा दी गयी।

विज्ञापन

विज्ञापन

अपनी ईमानदारी और बेहतर पुलिसिंग के लिए चर्चित है विकास वैभव

अपने बेहतर कार्यशैली और ईमानदारी के लिए आईपीएस विकास वैभव अपने करियर के शुरुआत से ही चर्चित है।पक्ष करना या विपक्ष करना इनके करियर में कभी नही देखा जा सका जो इन्हें खास बनाता है।एसपी के रूप में अपने पहले पोस्टिंग बगहा से ही श्री वैभव इस कदर चर्चित हो गए कि तबादला बाद कई दिन तक बगहा बन्द रहा।कम्युनिटी पुलिसिंग में विश्वास रखने वाले विकास वैभव कुछ दिन बाद ही जनता दरबार का शुरुआत किया जो अनवरत अब तक जारी है।

छात्र युवाओं के है आदर्श

आईपीएस विकास वैभव छात्र नौजवान और बच्चों के लिए आदर्श है।यूपीएससी की तैयारी कर रहे छात्र इनकी तस्वीर अपने गैलरी में रख इनके कर्तव्यशैली को याद कर मोटिवेट होते है।बच्चों के बीच इनका अलग अंदाज सबको भाता है ।अभी हाल ही में बीते रक्षाबन्धन में छोटी छोटी बच्चियों ने इन्हें राखी बांध रक्षाबन्धन का पर्व मनाया था।आईपीएस विकास वैभव खुद भी छात्र युवाओं को मोटिवेट करते रहते है।अभी हाल में भी एक सेमिनार में छात्र युवाओं को संबिधित करते नजर आए थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...