Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

पर्यावरण संरक्षण और खेतों में पराली नहीं जलाने को लेकर चौसा के विद्यालयों में बच्चों को दिलवाई गई शपथ

- Sponsored -

- Sponsored -

कोसी टाइम्स प्रतिनिधि@चौसा,मधेपुरा

फसल अवशेष प्रबंधन और खेतों में पराली नहीं जलाने को लेकर कन्या मध्य विद्यालय चौसा में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान स्कूल के शिक्षकों ने छात्र-छात्राओं को खेतों में फसल के अवशेषों को जलाने से पर्यावरण और खेतों को होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ उन्हें पर्यावरण संरक्षण को लेकर शपथ दिलवाई। गई।
प्रधानाध्यापक विजय पासवान ने कहा कि सरकार के निर्देशानुसार खेतों में पराली नहीं जलाने और बच्चों को खुद भी पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करने और आसपास के लोगों को अपने खेतों में पराली नहीं जलाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देखा गया है कि किसान मशीन से धान की कटनी कराकर खेत में थ्रेसिंग कर लेते हैं। इस दौरान धान की पुआल व डंठल को जला देते हैं, जिससे न सिर्फ वायु प्रदूषण होता है। साथ ही साथ इसका खेतों की उर्वरता पर भी असर देखने को मिलता है।

विज्ञापन

विज्ञापन

बाल संसद के शिक्षक संयोजक संजय कुमार सुमन ने फसल अवशेष क्या है, इसे खेतों में जलाने की क्या मजबूरी है, इससे क्या नुकसान है, मिट्टी की उर्वरा शक्ति को कैसे नष्ट करता है और मानव सेहत को किस तरह नुकसान पहुंचाता है आदि विषयों पर विस्तृत रूप से चर्चा कर बच्चों को जानकारी दी।उन्होंने यह भी बताया गया कि किसान किस तरह इसका प्रबंधन कर सकते है। खेतों में इसे जलाने से कैसे बच सकते है। साथ ही मुनाफे के कारोबार में तब्दील करने का भी तरीका बताया गया। आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रधानाध्यापक विजय पासवान, रिजवाना इसराइल,हकिम उद्दीन, संजय कुमार सुमन, प्रतिभा गुप्ता, बिंदु कुमारी, संजीवानंद, उमेश प्रसाद यादव, पुरुषोत्तम कुमार, रेहाना खातून, बिंदुला कुमारी,बाल संसद की प्रधानमंत्री साक्षी कुमारी,उपप्रधानमंत्री गुंजन कुमारी, मंत्री उम्मे हबीबा,शनुबी नाज, शिवानी कुमारी,चंचल कुमारी,प्रीति कुमारी, सोनी कुमारी, रानी कुमारी,मौषम कुमारी,लक्ष्मी कुमारी समेत विद्यालय के शिक्षकों एवं बच्चों को दिलाई गई शपथ।

उधर उत्क्रमित मध्य विद्यालय बड़की बढोना में प्रधानाध्यापक गौतम कुमार गुप्त के नेतृत्व में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान स्कूल के शिक्षकों ने छात्र-छात्राओं को खेतों में फसल के अवशेषों को जलाने से पर्यावरण और खेतों को होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ उन्हें पर्यावरण संरक्षण को लेकर शपथ दिलवाई। गई।शिक्षकों ने फसल अवशेष प्रबंधन’ कार्यक्रम के तहत बच्चों को खेतों में फसल अवशेष नही जलाने, उससे होने वाले पर्यावरणीय एवं स्वास्थ्य संबन्धी नुकसान तथा निदान के बारे में बताया तथा परिवारजनों एवं सगे सम्बन्धियों को भी इसके बारे में बतलाने एवं फसल अवशेष प्रबंधन के लिए प्रेरित करने हेतु शपथ दिलाया गया। शिक्षक ने बच्चों को समझाते हुए बताया कि खेतों में पुआल, फसल अवशेष जलाने से मिट्टी में उपस्थित जैविक कार्बन, उर्वरा शक्ति, ह्यूमस, पोषक तत्व, खेत के लिए आवश्यक सूक्ष्मजीव आदि नष्ट हो जाते हैं जिससे उत्पादन पर प्रभाव तो पड़ता है।इस मौके पर गौतम कुमार गुप्त,मनीष कुमार,लड्डू कुमार शर्मा,बीरेन्द्र कुमार भगत,सोनी शर्मा ,बुद्धदेव कुमार ,कैलाश ऋषिदेव,वकील रजक एंव छात्र-छात्रा उपस्थित थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...