Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कुख्यात सड़क लुटेरा गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश, तीन लुटेरे हुए गिरफ्तार

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कैमूर/ संत दुबे/ कैमूर पुलिस ने कुख्यात सड़क लुटेरा गिरोह के तीन बदमाशों को पकड़ा है। पकड़े गए बदमाशों के पास से पुलिस ने लूटे गए 7 मोबाइल, एक देसी कट्टा ,चार जिंदा गोली भी बरामद किया है।

बुधवार को कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने कुदरा थाने में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए पत्रकारों को बताया कि 10 जुलाई को सड़क लुटेरों ने कुदरा थाना के बीज निगम के पास दो पिकअप वाहनों के साथ लूट की घटना को अंजाम दिया. इसमें खलासी से लुटेरों ने ₹7000 लूट लिए तथा उसके मोबाइल भी छीन लिए .जब इस बाबत खलासी से ने विरोध किया तो उसे गोली भी मार दी। वैज्ञानिक अनुसंधान के सहारे लुटेरों तक पुलिस पहुंची। इस दौरान तीन सड़क लुटेरों को गिरफ्तार किया गया।

एसपी ने कहा कि पकड़ाया शातिर चोर गिरोह का मुख्य सरगना रोहतास जिले के शिवसागर थाना क्षेत्र स्थित पखनारी गांव का दशरथ यादव का पुत्र अशोक यादव तथा इसी जिले का राजपुर थाना स्थित थाना मुख्यालय का रहने वाला करीम इदरीसी का पुत्र मुन्ना दर्जी उर्फ मुन्ना है जो पहले लूट डकैती सहित कई कई कांडों में जेल जा चुके हैं।इन्हें मोहनिया के एसडीपीओ के नेतृत्व में कुदरा थानाध्यक्ष तथा शिवसागर थाना अध्यक्ष की टीम अशोक यादव के घर पर छापेमारी करने पहुंची तो पुलिस टीम पर हमला करवा दिया। जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल भी हो गए। हालांकि इस मामले का शिवसागर थाने में एफ आई आर दर्ज कर पुलिस कार्रवाई कर रही है।

विज्ञापन

विज्ञापन

बताया जो अपराधी गिरफ्तार किए गए हैं उसमें रोहतास जिले के सासाराम थाना क्षेत्र का नूरगंज मोहल्ला निवासी बलिया रोड का रहने वाला मुन्ना प्रसाद गोंड का बेटा भोला कुमार गोंड एवं इसी जगह के वार्ड नंबर 8 का बरतला मोहल्ले का रहने वाला महेंद्र ठाकुर का बेटा रोहित ठाकुर तथा कैमूर जिले के कुदरा थाना क्षेत्र का रहने वाला चिलबिली निवासी भुनेश्वर प्रसाद का बेटा रोशन कुमार शामिल है। जिनके पास से उपरोक्त लूटे गए सामान जप्त किए गए हैं।

बताया सभी मोबाइलों की एक-एक करके जांच की जा रही है जिस पर से लूट के बहुत सारे मामले का उद्भेदन हो सकता है। एसपी ने कहा कि मोहनिया थाना के एनएच 30 पर भी दो बोलेरो सवारी वाहनों से मोबाइल एवं पैसा अपराधियों ने लूटा था वह भी इस घटना में शामिल है। बड़ी बात यह है कि पकड़े गए अपराधी सड़क पर पत्थर  अथवा पत्थर पर चाइनीज काटी फीड कर गाड़ी के चक्के को पंचर कर देते थे और अपने आसपास के खेतों में छुपे रहा करते थे।जब गाड़ी पंचर हो जाती थी और वाहन चालक जब अपने चक्के को बदलने लगता था तो उसी समय यह शातिर अपराधी घटना को अंजाम दिया करते थे।

फिलहाल पुलिस ने सड़क लुटेरों के इस गिरोह को पकड़े जाने से राहत की सांस ली है। पुलिस कप्तान ने कहा कि पकड़े गए अपराधियों के निशानदेही पर बहुत राज खुल सकते हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...