Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं होने से स्वजनों का भड़का गुस्सा, गांव में मचा हंगामा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

उदाकिशुनगंज/मधेपुरा/ उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के मधुबन पंचायत के तीनटेंगा गांव वार्ड 10 में सोमवार को पुलिस कार्रवाई नहीं होने से नाराज स्वजनों का गुस्सा भड़क उठा .स्वजनों ने अन्य ग्रामीणों के साथ गांव में हंगामा मचाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपित के घर से लड़की उठा कर थाना ले गए। जबकि लोगों का कहना था कि आरोपितों की भी गिरफ्तारी की जाए लेकिन पुलिस ने लोगों की नहीं सुनी।

बयान दर्ज करवाने की बात कह कर पुलिस लड़की को लेकर चले गए। लोगों का कहना है कि आखिर पुलिस थाना में अबतक शिकायत दर्ज क्यों नहीं किए। थाना में दिए आवेदन में शंकर मंडल ने बताया कि 24 जुलाई को उनकी नाबालिग पुत्री का हथियार के बल पर अपहरण कर लिया गया। इस मामले में गांव के ही पारसनाथ गोस्वामी, रामचंद्र गोस्वामी, वीरकुवंर गोस्वामी, पांडव उर्फ लालो गोस्वामी एवं अंजन देवी को आरोपित करते हुए थाना में आवेदन दिया गया। आरोप है कि आरोपितों ने लाठी ,डंडे और हथियार का भय दिखाकर उनकी पुत्री को अगवा कर लिए। विरोध जताने पर आरोपितों ने स्वजनों के साथ मारपीट की। वहीं गाली ग्लोज करते हुए जान से मारने की धमकी दी।

विज्ञापन

विज्ञापन

इस मामले में किसी प्रकार की पुलिस कार्रवाई नहीं होता देख स्वजनों का गुस्सा भड़क उठा। स्वजनों ने पूरी बात पैक्स अध्यक्ष प्रीतम मंडल को बताया। पैक्स अध्यक्ष ने आरोपित पक्ष को भरसक समझाने का प्रयास किया। लेकिन आरोपी पक्ष पैक्स अध्यक्ष के पहल को ठुकरा दिया। उसके बाद स्वजन अन्य लोगों की मदद से आरोपितों के घर पहुंच कर हंगामा करने लगे।बताया जा रहा है कि इस दौरान पैक्स अध्यक्ष ने मामले की जानकारी थानाध्यक्ष को मोबाइल पर दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि जब शिकायत आवेदन दिया गया तो पुलिस ने कार्रवाई क्यों नहीं की। लोगों ने पुलिस पर आरोपितों के साथ मिलें होने का आरोप लगाया है।

स्वजनों ने कहा कि कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में मामले की शिकायत एसपी से करेंगे। वहीं मंगलवार को थानाध्यक्ष के खिलाफ धरणा पर बैठने की चेतावनी दी। इस मामले को लेकर स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है।इस संबंध में पुलिस का पक्ष जानने के लिए थानाध्यक्ष के सरकारी और निजी मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन थानाध्यक्ष ने लगातार समय में फोन काटते रहे।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...