Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

मधेपुरा:मोरसंडा में कोविड वेक्सिनेशन को लेकर ग्रामीणों ने स्वास्थ्यकर्मियों को खदेड़ा,वैक्सीन लेने से किया इनकार

- Sponsored -

कुमार साजन@चौसा, मधेपुरा

जागरूकता के अभाव में ग्रामीण टीकाकरण से परहेज कर रहे हैं। टीकाकरण के लिए दल जब गांव जाता है तो ग्रामीण टीका लगाने से मना कर देते हैं और कहते हैं कि टीका से लोग मर जाते हैं इसलिए टीका नहीं लगवाएंगे। ऐसा ही एक मामला चौसा प्रखंड के मोरसंडा गोठ बस्ती में देखने को मिला। यहां ग्रामीणों ने टीका लगाने गई टीम से वाद-विवाद कर उसे वापस कर दिया।
बताया जाता है कि चौसा प्रखंड के मोरसंडा गोठ बस्ती में करोना का टीका लगाने पहुंचे स्वास्थ्य कर्मियों के साथ स्थानीय लोगों ने गाली-गलौज करते हुए टीका लेने से इनकार कर दिया। मामला काफी गंभीर होने के बाद घटना की जानकारी मिलते ही मुखिया विद्यानंद पासवान के हस्तक्षेप के बाद किसी तरह मामले को शांत कराया गया।

विज्ञापन

विज्ञापन

बताया जाता है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौसा के स्वास्थ्य प्रशिक्षक गोपाल सिंह, आशा मैनेजर आशा कुमारी,एएनएम सविता कुमारी, नीतू कुमारी और निभा कुमारी सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की टीम मोरसंडा गोठ बस्ती में कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए पहुंची थी। वैक्सीनेशन करने से पहले स्वास्थ्य कर्मियों ने गांव में डोर टू डोर जा जाकर करोना हमारी से बचाव करने के लिए वैक्सीन लगाने को जागरूक कर रहे थे। इसी दौरान गांव के कुछ लोगों ने वैक्सीन लगाने से इनकार करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों के साथ गाली गलौज करना शुरू कर दिया। घटनास्थल पर स्वास्थ्य कर्मियों के पक्ष में बचाव करने पहुंचे मुखिया विद्यानंद पासवान के साथ भी गाली गलौज किया हालांकि मुखिया ने किसी तरह मामला शांत करा दिया और सभी स्वास्थ्य कर्मियों को वेक्सिनेशन केंद्र पर ले गए।

मुखिया द्वारा गांव के कुछ लोगो के साथ विद्यालय में बैठक किया गया।जिसमें उपस्थित स्वास्थ्यकर्मियों ने कोविड वैक्सीन को लेकर ग्रामीणों को सारी जानकारी दी गई तब जाके किसी तरह वैक्सीनेशन शुरू कराया।इस घटना से स्वास्थ्य कर्मियों में गहरा रोष देखा जा रहा है।
स्वास्थ्यकर्मियों ने बताया कि ग्रामीण सीधे यही कह रहे थे कि यदि अब दोबारा यहां पर वैक्सीन लगाने आओगे तो मार खाओगे।टीकाकरण को लेकर भी ग्रामीण क्षेत्रों में कई भ्रांतियां फैली है।ग्रामीणों के मन में ये डर बैठ गया है कि टीका लेने से मौत हो जाती है।यही कारण है कि मोरसंडा पंचायत के विभिन्न गांवों के लोगों ने अब तक कोविड 19 का वैक्सीन नही लिया है।
प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ज्ञानरंजन कुमार ने कहा मोरसंडा में स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जो कुछ भी हुआ निंदनीय है।ऐसी बहुत सी भ्रांतियां ग्रामीणों में है जिनका सामना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को करना पड़ रहा है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग वैक्सीन ले और किसी तरह की अफवाहों पर ध्यान ना दें यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...