Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

मधेपुरा: गम्हरिया में चावल कम वितरण करने को लेकर छात्र एवं अभिवावक ने किया हंगामा

- Sponsored -

राजीव कुमार@गम्हरिया,मधेपुरा

विज्ञापन

विज्ञापन

गम्हरिया प्रखंड मुख्यालय स्थित उपडाकघर के समीप मध्य विद्यालय गम्हरिया के प्रधानाचार्य पर चावल वितरण में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए अभिभावक व बच्चों ने स्कूल परिसर में जमकर हंगामा किया। आक्रोशित ग्रामीण अभिवावक मोहम्मद अहमद, सद्दाम, नुरो ,रुबी देवी सहित कई ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेश कुमार भारती के द्वारा बच्चों के चावल वितरण में घोर अनियमिता बरती जा रही है।

सरकारी निर्देशों के अनुसार एक से पांचवीं तक के बच्चे को चार किलो पाँच सौ ग्राम चावल एवं कक्षा छठी से आठवीं तक के बच्चे को 6 किलो 700 सौ ग्राम चावल देने का प्रावधान है। परंतु विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेश कुमार भारती के द्वारा तराजू से तौलकर चावल नहीं दिया जाता है। बल्कि डिब्बा से वितरण किया जा रहा है। डिब्बा से वितरण में एक से पाँच तक के बच्चे को 3 किलो तो छह से आठवाँ तक के बच्चों को छह किलो चावल दिया जाता है। इतना ही नहीं अरवा चावल एवं उसना चावल को एक में ही मिला कर दिया जा रहा है। यदि हमलोगो कुछ बोलते हैं तो प्रधानाध्यापक बोलते हैं कि ऐसे ही दोनो चावल को मिलाकर कम ही दिया जाएगा। तुमलोगो को जो करना है कर लो। हमको ऊपर के पदाधिकारी को भी देना पड़ता है। इसलिए तुमलोगो से मेरा कुछ नहीं होगा। जबकि चौकानो वाली बात है कि बीते दिनों बभनी पंचायत में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत होने के बाद भी बच्चो अभिभावक एवं शिक्षक मास्क पहना उचित नही समझते हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण कैसे रुकेगा।
ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि विद्यालय में कार्यरत शिक्षक कभी आकर उपस्थिति पंजी को भरकर चले जाते हैं। ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों से विद्यालय की व्यवस्था की जांच की मांग की है। वहीं इस बारे में विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेश कुमार भारती ने दूरभाष पर बताया कि ग्रामीणों का हंगामा एवं आरोप पूरी तरह बेबुनियाद है।
इस बबात जिला शिक्षा पदाधिकारी जगतपती चौधरी ने दूरभाष पर बताया कि एमडीएम पदाधिकारी को बोलते हैं जाँच करने के लिए। जाँच रिपोर्ट आने के बाद गरबरी पाए जाने पर आवयश्क कारवाई की जायगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...