Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

मधेपुरा : खरीफ महोत्सव में वैज्ञानिकों ने फसल की अधिक उपज के सिखाये गुर ।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

अमित कुमार
कोसी टाइम्स @ घैलाढ़ ,मधेपुरा। 

घैलाढ़ : प्रखंड में खरीफ महोत्सव 2019 सह प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण का हुआ. आयोजन प्रखंड मुख्यालय परिसर में गुरुवार को खरीफ महोत्सव अभियान सह प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का प्रखंड प्रमुख सुमन देवी , प्रखंड विकास पदाधिकारी राघवेंद्र शर्मा, जिला पार्षद पति डॉ बीके आर्यन, प्रखंड कृषि पदाधिकारी , जयंत रजक ,जदयू नेता डॉ राजीव जोशी, लोजद नेता राजनंदन यादव आदि लोगों ने मिलकर विधिवत रूप से फीता काटकर खरीफ महाअभियान कि आयोजन का शुभारंभ किया गया.

विज्ञापन

विज्ञापन

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रखंण्ड कृषि समन्वयक पदाधिकारी दिवाकर चौधरी के देखरेख में शुरुआत की गई. शिविर को संबोधित करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी राघवेंद्र शर्मा ने कहा कि किसानों को अगर सही ढंग से प्रशिक्षित कर दिया जाए तो कम लागत व मेहनत के बावजूद अच्छी फसल उगाई जा सकती है . उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा खरीफ फसलों की बुवाई के पूर्व किसानों को प्रशिक्षित किए जाने का मुख्य उद्देश्य अच्छी पैदावार को बढ़ावा देना है .कार्यक्रम में वैज्ञानिक राहुल कुमार वर्मा के द्वारा किसानों को खरीफ की खेती करने के लिए विभिन्न तरीकों को अपनाने के साथ समय से बिचड़े डालने व निर्धारित समय पर बिचड़े की रोपाई करने के तरीके बताये गये. कृषि उपज बढ़ाने के लिए श्रीविधि से खेती करने व सिंचाई के साथ ही खेतों में उर्वरक डालने की मात्रा का भी सुझाव दिया गया. वहीं, क्षेत्र में धान के अलावा अन्य फसलों की बुआई सहित निराई व उसके उपचार के बारे में बताया गया.

वैज्ञानिक सुनील कुमार ने उपस्थित किसानों को धान की फसल खासकर हाइब्रिड धान की रोपाई और बुराई के बारे में प्रशिक्षित किया. धान के रोपाई के पूर्व खेत में ढेंचा की खेती पर भी जोड़ दी गई ताकि कम खाद में अच्छी पैदावार प्राप्त किया जा सके. कार्यक्रम में आये सैकड़ों की संख्या में किसानों के बीच कृषि संबंधी बुके वितरित की गयीं. इसमें खरीफ फसल संबंधी जानकारियां दी गयीं. वहीं, खरीफ फसल के अलावा वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को मछली पालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन के बारे में जानकारी दी गयी. ताकि, किसान खेती के साथ उक्त व्यवसाय कर अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं.  गौरतलब है कि प्रशिक्षण कार्यक्रम में किसानों को समृद्ध बनाने के लिए वैज्ञानिक विधि से खेती करने की जानकारी के साथ कृषि में अधिक उपज होने का गुर सिखलाया गया.
मौके पर कृषि समन्वयक प्राधिकारी यशवंत कुमार, कृषि सलाहकार राजेश कुमार पप्पू, विपिन कुमार, जेपी कुमार ,विजय कुमार व लघु सिंचाई के कनीय अभियंता एवम मुखिया अनंत मंडल, कृषक पवन यादव, रविदास इसके अलावे सहित सैकड़ों की संख्या में किसान मौजूद थे.

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...