Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

मधेपुरा : कडाके की ठंढ और कोरोना के कहर के बाद भी जारी है आंगनबाड़ी में बच्चो की पढ़ाई

- Sponsored -

पुरैनी,मधेपुरा अफजल राज की रिपोर्ट/ राज्य में कोरोना के कारण सभी शिक्षण संस्थानों को 21 जनवरी तक बंद कर दिया है। वहीं इससे पहले जिला प्रशासन ने बढ़ती ठंड को लेकर छुट्टी की घोषणा की थी। लेकिन मंगलवार को पुरैनी प्रखंड के सभी आंगनवाड़ी केंद्र खुले मिले और यहां बच्चे भी मौजूद रहे। इन केंद्रों पर बच्चों ने ना मास्क पहना था और ना ही उनके बीच कोई सोशल डिस्टेंसिंग थी। बच्चों को समूह में बैठाकर गरम भोजन परोसा गया।

विज्ञापन

विज्ञापन

बता दे कि 4 जनवरी को ठंड व शीतलहर के प्रकोप को देखते हुए बिहार सरकार ने नर्सरी से आठवीं तक के विद्यालयों को बंद करने का निर्देश दिया था। लेकिन आंगनवाड़ी केंद्र को बंद नहीं कराया गया। इस पूरे मामले में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी पुरैनी का बयान भी चौंकाने वाला है। आईसीडीएस पदाधिकारी मीना कुमारी ने बताया कि उन्हें इस बारे में कोई निर्देश नहीं मिला है कि आंगनवाड़ी केंद्र को बंद रखना है।

उन्होंने बताया कि विभाग के द्वारा किसी प्रकार का अब तक निर्देश जारी नहीं किए जाने के कारण प्रखंड के सभी आंगनवाड़ी केंद्र का संचालन किया जा रहा है। जिससे असमंजस की स्थिति बनी हुई है। बिहार सरकार के पर प्रखंड के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करा दिया गया है। लेकिन अब तक बाल विकास परियोजना विभाग के द्वारा किसी प्रकार का गाइड लाइन जारी नहीं किया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...