Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

मधेपुरा:चौसा में सादगी के साथ मनाया गया ईद का त्योहार, घर में पढ़ी गई नमाज

फोन एवं सोशल मीडिया के माध्यम से दी गई एक दूसरे को मुबारकबाद,बच्चों में देखा गया उत्साह

- Sponsored -

कुमार साजन@चौसा,मधेपुरा

आपसी भाईचारे का त्योहार ईद-उल-फितर इस बार चौसा में सादगी के साथ मनाया गया। लॉकडाउन की वजह से मस्जिदों और ईदगाहों में बड़ी जमात के साथ नमाज अदा नहीं हो सकी। अकीदतमंदों ने शारीरिक दूरी बनाकर अपने-अपने घरों में ईद की नमाज पढ़ी, जबकि मस्जिदों में चार से पांच लोगों ने नमाज अदा करते हुए घर-परिवार और समाज के साथ ही देश में अमन और चैन की दुआ मांगी। कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के लिए विशेष दुआ की गई।चौसा,लौआलगान,अरजपुर, सोनवर्षा, कलासन, पैना, चंदा,बद्री टोला, बाकर टोला,सहोड़ाटोला,बीरबल टोला,फुलौत के मुसलमानों ने

ईद की नमाज को सादगी के साथ अदा करते हुए लोगों ने एक-दूसरे को मुबारकवाद दी। आज ईद के दिन वह उत्साह नही देखने को मिली जो वर्षों पूर्व मिला करती थी।ना कोई राग था और ना कोई उत्साह था।लोगों ने मस्जिद में जाने से परहेज करते हुए अपने अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा की और बिना गले मिले ही दूर से एक दूसरे को सलाम दुआ कर ईद की मुबारकबाद दी।

विज्ञापन

विज्ञापन


ईद के दिन खास रौनक होती है।इस दिन मस्जिदों को सजाया जाता है। लोग नए कपड़े पहनते हैं और एक-दूसरे से गले मिलकर ईद की मुबारकबाद देते हैं।हालांकि, इस बार लॉकडाउन के चलते ईद की रौनक थोड़ी फीकी पड़ गई। कोरोना वायरस के खतरे की वजह से मस्जिदों में जाकर नमाज अदा करने पर रोक लगाई गई।ऐसे में कई मौलवियों ने अनुयायियों को अपने घरों में सुरक्षित तरीके से यह त्योहार मनाने की सलाह दी। घर पर बने व्यंजन, मीठे पकवान और नमाज के साथ इस बार की ईद ज्यादातर लोग अपने घरों में ही मनाएं।


कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की भी सलाह दी गई।इस कारण ना तो लोग हमेशा की तरह गले मिले और ना ही मस्जिद जाकर नमाज अदा कर पाएं। ईद की बधाई देने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया गया।आफताब आलम,मोनू आलम,परवेज आलम,अलीम अंसारी,जिया आलम,मनौवर हुसैन ने बताया कि “यह करुणा की ईद है।क्योंकि कई लोग महामारी के कारण पीड़ित हैं।इस वर्ष घर पर रहकर सुरक्षित ईद मनाया गया। “हम सभी के लिए घर पर ईद की नमाज अदा करना थोड़ा अजीब रह, लेकिन जैसा कि हम एक असामान्य स्थिति से गुजर रहे हैं, हमें नए बदलावों को स्वीकार करना पड़ा।


मनौवर आलम,आरिफ आलम,यहिया सिद्दीकी,इमदाद आलम,तपशिर आलम,साईं इस्लाम ने बताया कि कोविड के कारण, लोगों में त्योहार की खुशी भी है और महामारी का डर भी है।ऐसे में घर में उपलब्ध सामग्री से व्यंजन तैयार करके ईद का त्योहार की खुशी के साथ मनाया गया। फोन के अलावा, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर ईद की मुबारकबाद एक-दूसरे को दी गई।
ईद के बाजार पर भी कोरोना का ग्रहण लग गया। ईद पर बड़े पैमाने पर रेडीमेड कपड़ों, जूते-चप्पल के अलावा मेवा व अन्य किराना आइटमों की बिक्री होती है पर लॉकडाउन के कारण कारोबारियों को झटका लगा है। ईद को लेकर बीडीओ रीना कुमारी,सीओ राकेश कुमार सिंह व थानाध्यक्ष रवीश रंजन सहित पुलिस बल ने इलाके का भ्रमण कर मुस्लिम भाइयों को ईद की मुबारकबाद दी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...