Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

मधेपुरा:बाढ़ के भय से लोगों में दहशत,कई गांव का सड़क संपर्क भंग ,डीसीएलआर ने लिया जायजा

- Sponsored -

- Sponsored -

ब्रजेश कुमार

कोसी टाइम्स@आलमनगर,मधेपुरा

कोसी के जलस्तर में लगातार हो रही बढ़ोतरी से प्रखंड के दक्षिणी क्षेत्र के आठ पंचायतो के लोगों में दहशत व्याप्त हो गया है। बाढ़ के कारण कई गांव का सड़क संपर्क प्रखंड मुख्यालय से भंग हो गया है।प्रशासन द्वारा आवागमन हेतु 8नाव चलाई जा रही है । सोशल मीडिया सहित अन्य जगहों से मिल रही समाचार कि कोशी बेराज के सभी 56 फाटक खोल दिए गए हैं। लोगों के बीच अफरा-तफरी का माहौल व्याप्त हो गया है क्योंकि जिले का यह इलाका से ही कोसी नदी का पानी निकलते हुए गंगा में जाकर मिलती है एवं अपने साथ तबाही लाते हुए इस क्षेत्र को तहस-नहस कर देती है। स्थानीय लोग ऊँचे जगहों का तलाश कर रहे हैं हालाकि बाढ को देखते हुए प्रशासन द्वारा बाढ़ से निपटने के लिए व्यापक रूप से तैयारी की जा रही है।

विज्ञापन

विज्ञापन

ज्ञात हो कि प्रत्येक वर्ष बाढ़ की विभीषिका के कारण यह इलाका प्रभावित रहता है एवं लोगों के समक्ष भारी संकट उत्पन्न हो जाती है एवं बाढ़ के कारण दर्जनों आदमी असमय मौत के मुंह में चले जाते हैं ।साथ ही सैकड़ों पशु इस बाढ की चपेट में आकर असमय काल के गाल में समा जाती है। रतवारा पंचायत के मुरोत, छतोना वासा सहित अन्य गाँव एवं टोले का सड़क संपर्क भंग हो गया है ।अनुमंडल भूमि अपर समाहर्ता ललित कुमार सिंह ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने प्रखंड क्षेत्र के गंगापुर पंचायत क्षेत्र के भरही धार में पहुंचकर नदी में हो रहे लगातार जलस्तर में वृद्धि को लेकर स्थानीय लोगों से जानकारी ली एवं उपस्थित लोगों को यथासंभव मदद दिलाने की बात कही।

वही स्थानीय लोगों ने बताया के जल स्तर में वृद्धि प्रत्येक दिन 2 से डेढ़ फीट हो रहा है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि 1 से 2 दिन में यह पूरा इलाका जलमग्न हो जाएगा। कोसी बैराज से पानी छोड़े जाने के 3 दिन के बाद यहां पानी का भयंकर रूप उत्पन्न होता है ।परंतु इस सबके बावजूद अभी तक आवागमन को लेकर एक भी सरकारी नाव परिचालन नहीं किया गया है । ग्रामीणों ने धार में सरकारी नाव परिचालन करने की मांग की वही भरही धार में नाव परिचालन कर रहे चालक ने बताया कि गत वर्ष बाढ के दौरान चलाए गए नाव का भी भुगतान अब तक नहीं किया गया है वहीं इस बार अब तक नाव का परिचय परवाना नहीं दिया गया है। फिलहाल पंचायत के मुखिया के द्वारा मौखिक आदेश पर नाव का परिचालन किया जा रहा है जिस पर डीसीएलआर ललित कुमार सिंह ने नाव परिचालन को लेकर जल्द ही नाव का परवाना दिलाने की बात कही।

वही अंचलाधिकारी आलमनगर मनोरंजन कुमार मधुकर ने बताया कि बाढ़ को देखते हुए सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। ऊंचे जगह को प्रशासन द्वारा चिन्हित कर लिया गया है। फिलहाल 8 नाव आवागमन के लिए परिचालन की जा रही है हालांकि अभी बाढ़ की वैसी स्थिति नहीं बनी है जैसा लोगों में भय व्याप्त है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...