Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

आंधी तूफान के साथ बारिश एवं ओलावृष्टि से हुआ जनजीवन अस्त-व्यस्त

- Sponsored -

- Sponsored -

मिथिलेश कुमार/ पिपरा,सुपौल. शुक्रवार की रात आई आंधी तूफान के साथ बारिश एवं ओलावृष्टि से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है .बता दें कि शुक्रवार की 11:30 बजे रात में भयंकर आंधी तूफान ओलावृष्टि हुई जहां पिपरा प्रखंड क्षेत्र के निर्मली पंचायत स्थित हटबढरिया गांव के लगभग 40 से 50 किसानों के छत का टीना एवं फूस का घर आंधी में उड़ गया .वहीं लगभग 60 से 70 हेक्टेयर खेत में लगे मक्का की फसल एवं खीरा बैगन बुरी तरह बर्बाद हो गया।

इसे भी पढ़िए : महिला कर्मियों को बार बार अधीक्षक बेवजह बुलाते है कार्यालय 

विज्ञापन

विज्ञापन

मुखिया कुंदन कुणाल ने बताया कि अंचलाधिकारी राजीव कुमार सिन्हा को इसकी जानकारी दी गई है वहीं कृषि कोऑर्डिनेटर धनंजय कुमार द्वारा किसान के खेत पर आकर खेत में लगी फसल का जांच किया जा रहा है। कृषि सलाहकार धनंजय कुमार ने बताया कि निर्मली पंचायत के हट हटबरिया गांव एवं बेलाटोल में काफी संख्या में किसानों की फसल बर्बाद हुई है एवं पथरा पंचायत में लगभग दर्जनों किसान के खेत में लगभग 10 एकड़ में लगी मक्का की फसल बर्बाद हो गई है। किसानों ने बताया कि दिन-रात फसल की कटनी और तैयारी में लगे थे। ऐसे समय में आई आंधी एवं बारिश एवं ओलावृष्टि ने सारी उनकी मेहनत पर पानी फेर दिया।

इसे भी पढ़िए : सिविल सर्जन ने लिया स्क्रीनिंग का जायजा 

किसानों को अब बैंक एवं महाजनों से लिए कर्ज की चिंता सता रही है। निर्मली पंचायत के मुखिया कुंदन कुणाल एवं पथरा दक्षिण पंचायत के मुखिया रत्नेश कुमार व रामनगर पंचायत के मुखिया बानो खातुन ने बताया कि फसल क्षति हुए किसानों को उचित मुआवजा दिलाया जाएगा। एवं जिनका घर आंधी से क्षतिग्रस्त हुआ है उन्हें भी अंचल अधिकारी  से आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से उचित मुआवजा दिलाने का भरोसा दिलाया।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...