Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कैमूर : भाजपा किसान मोर्चा बैठक में उठा किसानों का मुद्दा

विधानसभा चुनाव को लेकर दलगत राजनीति के बैठकों का दौर मैं उठ रहे किसानों युवाओं एवं कामगारों के मुद्दे

- Sponsored -

- Sponsored -

कैमूर से संत दुबे की रिपोर्ट
कैमूर में भारतीय जनता पार्टी द्वारा गठित किसान मोर्चा की बैठक में किसानों की ज्वलंत समस्याओं पर गंभीरता से विचार किया गया। यह बैठक जिले के मोहनिया अनुमंडल मुख्यालय में सोमवार को हुई। बैठक में मोहनिया के विधायक निरंजन राम, जिला किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष विमलेश पांडे, उपाध्यक्ष वेदव्यास चौबे एवं प्रदेश कार्यसमिति के अनिल दुबे थे। बैठक में किसानों के विभिन्न समस्याओं को सदस्यों ने काफी संवेदनशील होकर उठाया। वक्ताओं ने कहा कि कैमूर जिला किसानों की मेहनत पर खड़ा है। किसान मेहनत करते हैं और उनकी गाड़ी कमाई का हिस्सा समाज के हित में लगता है। परंतु किसानों को सरकार अपेक्षित सुविधाएं प्रदान नहीं की है। जिसके चलते वे आत्मनिर्भर नहीं हो पा रहे हैं। क्षेत्र के किसानों के साथ सबसे बड़ी समस्या सिंचाई की है सिंचाई के नाम पर सरकार ने पानी की तरह पैसों को बहाया है परंतु धरातल पर इसका लाभ नहीं मिल रहा है।ऐसे में किसान मेहनत के बाद भी सही समय पर फसल उपजाने में पीछे रह रहे हैं। ऐसे में जरूरत है किसानों को मदद करने की। वक्ताओं ने विश्वास दिलाया कि हम किसान मोर्चा के बैनर तले किसानों की ज्वलंत समस्याओं को पटल तक लाएंगे तथा सरकार को समस्याओं से अवगत कराएंगे इतना ही नहीं समाधान की दिशा में उनसे कार्य भी कराएंगे। बैठक में फसल क्षतिपूर्ति एवं खाद बीज सिंचाई निराई बुवाई एवं मजदूरों की समस्याओं तक उनके सबसे अहम पहलुओं पर भी विचार किए गए।

विज्ञापन

विज्ञापन

बता दें कि आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी राजनीतिक पार्टियां खुलकर मैदान में प्रचार प्रसार को लेकर आ गई हैं तथा हर कोई अपनी पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए जी जान एक किए हुए हैं। कोई पार्टी के बैनर तले युवाओं को संगठित करने की कोशिश में जुटा है तो कोई किसानों की समस्याओं को लेकर किसानों को रिझाने के लिए सुर्ख़ियों में बने रहने की कोशिश में जुड़ा है। कई पार्टियां तो दलगत तो कोई जातिगत समीकरण को जोड़कर चुनाव मैदान में आम आवाम के बीच पहुंच रहे हैं तथा अपना झंडा बुलंद बताकर लोगों के हौसले आफजाई कर रहे हैं। अब देखना यह है कि आगामी विधानसभा चुनाव में कैमूर के चारों सीट एक बार फिर बीजेपी के खाते में पड़ जाता है या कोई पार्टी इसमें से हकमारी कर पाती है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...