Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

दरभंगा की ज्योति की ज्योत विदेशों तक फैल रही,अब इवांका ट्रम्प ने भी की सराहना

- Sponsored -

- Sponsored -

त्रिभुवन ठाकुर l कोसी टाइम्स l दरभंगा की बेटी ज्योति का अब देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी नाम होने लगा है। दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड अंतर्गत सिरहुल्ली गांव की 15 वर्षीय ज्योति कुमारी ने पिता मोहन पासवान को हरियाणा राज्य के गुरुग्राम से साइकिल पर बिठाकर दरभंगा पहुंची है। 12 सौ किमी के सफर को ज्योति ने आठ दिनों में तय किया है। रोजाना वह सौ से डेढ़ सौ किमी साइकिल चलाती रही। इस बीच एक-से दो ट्रक चालक ने इनकी मदद भी की।

ज्योति सभी बाधाओं को पार करते हुए बीमार पिता को सही-सलामत घर तक ले आई। अब घर पहुंचने पर ज्योति की सराहना क्षेत्र सहित सहित देश विदेश तक के लोग कर रहे हैं। अमेरिका के राष्ट्रपित डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने ट्यूट कर नारी सशक्तीकरण को चरितार्थ करने को ले ज्योति की साइकिल यात्रा को सराहा है। वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी महिला सशक्तीकरण को देखते हुए ज्योति को एक लाख रुपये प्रोत्साहन राशन देने की घोषणा की है।

विज्ञापन

विज्ञापन

ज्योति के पिता मोहन पासवान कहते है कि  मैं दिल्ली में रहकर ऑटो चलाता था, दुर्घटना होने के बाद पैर काम करने बंद कर दिया । ठीक से चल फिर नहीं पा रह था। कुछ दिन पहले ज्योति की मां जो आंकनवाड़ी में सेविका है। गांव लौट गई थी। बेटी मेरे सेवा में लगी रही। अचानक लॉकडाउन आ गया। पास में रखे सभी पैसे खत्म हो रहे थे। खाने-पीने सहित अन्य दिक्कतें आर रही थी। घर जाने का कोई विक्लप भी नहीं सूझ रहा था। इतने में बेटी ज्योति ने साइकिल से घर जाने की जिद ठान दी। उसके हौसलों के सामने मैंने हामी भर दी। पांच सौ में एक पुरानी साइकिल खरीद कर गुरुग्राम से दरभंगा के लिए निकल पड़ा। ज्योति ने मुझे साइकिल पर बिठाकर 12 सौ किमी लंबी सफर पर निकल पड़ी।

ज्योति की मां फूलो देवी बताती है कि ज्योति पांच भाई-बहनों में दूसरे नंबर पर है, पैसे के अभाव में इसकी आठवीं की पढ़ाई बंद करवानी पड़ी। घर में मुफलिसी का आलम है। पिता बीमार हैं, मैं आंगनवाड़ी में सेविका हूं। जैसे-तैसे घर परिवार का गुजारा हो रहा है।बेटी के गुरुग्रम से आनेके बाद उसकी दुनिया ही बदल गई है। देश-विदेश से फोन आ रहा है। लोग मदद को हाथ बढ़ा रहे हैं। साइकिल संघ ने प्रतिभा को देखते हुए साइकलिंग में ट्रायल को ले संदेशा भेजा है।
,

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...