Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

जेकेटीएमसीएच मधेपुरा के चिकित्सकों का है कहना : हम नही सुधरेंगे ,जाँच में फिर मिले अनुपस्थित

- Sponsored -

- Sponsored -

मधेपुरा/ जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों का अपने ड्यूटी से गायब रहने का सिलसिला रुकने का नाम नही ले रहा है.इससे पूर्व कोसी टाइम्स के खबर पर जब स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने एक्शन लिया था तो कुल 62 चिकित्सकों पर कार्रवाई की गयी थी लेकिन उसके बाद भी इस मेडिकल कॉलेज में तैनात चिकित्सक सुधरने का नाम नही ले रहे है और लगातार ड्यूटी से गायब रह रहे है.बुधवार को जब जिले के अपर समाहर्ता (लोक शिकायत) शिव कुमार शैव और अपर समाहर्ता उपेन्द्र कुमार निरिक्षण को पहुंचे तो फिर कुछ चिकित्सक गायब मिले.

सात मार्च को जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय इस बात को लगातर दोहरा रहे थे कि जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल विश्वस्तरीय होगा तो उपस्थित हजारों जनता का रोम रोम ख़ुशी से बाग़ बाग़ हो रहा था लेकिन आज जब लापरवाह चिकित्सकों की खबर जनता को मिलती है और स्वास्थ्य मंत्री को मिलता है तो निश्चित ही उसे भी दुःख होता होगा.

बुधवार को अधिकारीयों द्वारा एक घंटे से जयादा रूककर मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों और कर्मियों के उपस्थिति पंजी का गहन जाँच किया गया.दस बजकर पचास मिनट पर अधिकारी द्वि के पहुँचने के बाद पुरे परिसर में हडकम्प सा मच गया .अधिकारी सीधे मेडिकल कॉलेज अस्पताल अधीक्षक डॉ अंसारी के कार्यालय पहुंचे जहाँ सभी विभाग के चिकित्सक सहित कर्मियों के उपस्थिति पंजी को गहनता के साथ जाँच किया गया.इस दौरान कुछ चिकित्सक फिर अनुपस्थित मिले.

विज्ञापन

विज्ञापन

बड़ा सवाल है कि जब कोरोना संकट जैसे समय में भी मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक अपने हड़कत से बाज नही आ रहे है तो अन्य दिन क्या करेंगे.इस संकट के समय बिहार के मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश है कि किसी भी चिकित्सक का छुट्टी मान्य नही होगा .सभी चिकित्सक अपना ड्यूटी करेंगे जरूरत पड़ने पर एक्स्ट्रा ड्यूटी भी करेंगे लेकिन मधेपुरा के चिकित्सकों के लिए ये निर्देश बस एक कथन जैसा ही है.

इससे पूर्व जब कोसी टाइम्स ने चिकित्सकों के बिना छुट्टी गायब रहने की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था तो विभाग ने बासठ चिकित्सकों पर कार्रवाई किया था .अभी हाल ही में बिहार सरकार ने बिहार के तमाम मेडिकल कॉलेज के गायब चिकित्सकों का नाम जारी कर हिदायत दिया था लेकिन फिर भी चिकित्सकों ने नही माना .

एडीएम उपेन्द्र कुमार ने बताया कि जो भी लोग अनुपस्थित है उन सबों से स्पष्टीकरण मांग आगे की कार्रवाई हेतु लिखा जायेगा.

 

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...