Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

गिद्धौर में ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

- Sponsored -

- Sponsored -

मुकेश कुमार
कोसी टाइम्स@जमुई
सूबे की सरकार ने ग्रामीण इलाके में सुविधा को ध्यान में रखते हुए आवासीय,जाति आय,जन्म, मृत्यु सहित अन्य प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए पंचायत मुख्यालयों में ही आरटीपीएस काउंटर की शुरुआत बड़े ही तामझाम से की। काउंटर खुले अभी एक माह नहीं हुए कि बंद रहने की खबरें आने लगी है।इस तरह की शिकायत गेनाडीह पंचायत से है।जहां कुंधुर के ग्रामीणों ने गेनाडीह आरटीपीएस काउंटर बंद देखकर प्रदर्शन कर विभाग व अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की।जमीनी हकीकत यही है कि प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में आरटीपीएस काउंटर हाथी के दांत बनकर रह गई है।इसी तरह कई पंचायतों में गाहे बगाहे ही आरटीपीएस काउंटर खुलते हैं। शुक्रवार को प्रखंड के कुंधुर पंचायत के गेनाडीह सामुदायिक भवन, रतनपुर पंचायत भवन व पतसंडा पंचायत भवन में संचालित आरटीपीएस काउंटर बंद था।
गेनाडीह के ग्रामीण रामधारी मंडल, महेंद्र ठाकुर, सूरज कुमार, अंशु कुमार, दशरथ मंडल, मनीष कुमार, दीपक कुमार ने बताया कि आरटीपीएस काउंटर अपने उद्घाटन तिथि को छोड़कर गाहे-बगाहे ही खुलता है। जिससे प्रमाण-पत्र के लिए भटकना पड़ रहा है। प्रखंड के रतनपुर, पतसंडा, पतसंडा पंचायत भवन में संचालित आरिटीपीएस काउंटर की भी स्थिति अमूमन यही है।इस बाबत बीडीओ ने बताया कि प्रखंड के कुंधुर, रतनपुर, पतसंडा आदि पंचायतों में बंद आरटीपीएस काउंटर के मामले में वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर प्रखंड भर के आरटीपीएस काउंटर को बंद रखा गया है। वहां कार्यरत कर्मियों से प्रखंड मुख्यालय में विभागीय कार्य लिया जा रहा है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...