Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

सहरसा:बारिश में जलमग्न हुआ महुआ बाजार की मुख्य सड़कें

- Sponsored -

- Sponsored -

**अतिक्रमण की वजह से अधर में पड़ा है नाला निर्माण का काम

राज आर्यन गुड्डू

कोसी टाइम्स@महुआ बाजार,सहरसा

विज्ञापन

विज्ञापन

सोनबरसा राज प्रखंड अंतर्गत महुआ बाजार में मंगलवार की रात्रि हल्की बारिश हुई नही कि महुआ बाजार की मुख्य सड़कें जलमग्न हो गई। बताते चले कि बारिश का पानी सड़क से दुकान व लोगों के घर तक पानी जमा हो गया ।
मिली जानकारी के अनुसार बारिश की पानी के जल निकासी का कोई साधन नहीं है। जिसके कारण हल्की बारिश में भी नजारा देखने से ही भयावाह नजर आता है। वैसे तो जलजमाव की समस्या वर्षों से यहां बनी हुई है।कोई नई बात नही है।स्थानीय लोगो के द्वारा किसी तरह बारिश के मौषम में सड़क पर जमा पानी को अपने स्तर से हटाने का काम कर किसी तरह से काम चलता आ रहा था।लेकिन सबसे बड़ी समस्या ये हो गई कि ग्रामीणों के सहयोग से पहले जहां सड़क पर जमा पानी का निकास किया जाता था।वहां अब पक्की घर का निर्माण हो गया है।जिसके कारण जल निकासी का अब कोई उपाय नही बचा।यहाँ के ग्रामीणों की माने तो उनका कहना है कि विभाग की तरफ से कोई ठोस उपाय नही हुई है और ना ही स्थानीय प्रतिनिधि की ओर से।सरकार की तरफ़ से जल जमाव से निजात पाने के लिए सात निश्चय योजना के तहत हर गली नली की योजना का प्रावधान है। लेकिन विडंबना तो यह है कि अभी तक कोई भी योजना की शुरुआत यहां धरातल नहीं हो पाया है।

बताते चलें कि महुआ बाजार 10 से 12 पंचायतों का मुख्य व पुराना बाजार माना जाता है।बाजार में घुटने तक पानी जमा होने से लोगों को बाजार आना मुश्किल हो जाता है। जिससे लोग बाजार आने में कतराते हैं ।और जिससे यहां के दुकानदारों के व्यवसाय पर बुरा असर पड़ता है।और यहाँ के लोग इन्ही बाजार के व्यवसाय पर टिके हैं।उनका जीवन -यापन सब इसी पर टिका होता है। ऐसे में लोगों का बाजार आना जाना बंद हो जाय वो भी जल जमाव के कारण तो सोचिए क्या होगा।और तो और यहां तक कि छोटे बच्चे को स्कूल भी जाना पड़े तो घुटने भर पानी में घुसकर जाना पड़ता है .।

यहां के स्थानीय लोगों में विभाग के प्रति काफी उदासीनता देखने को मिली है। उनका कहना है कि अभी तक जल जमाव की समस्या से निजात नहीं मिल पाया है। जबकि सूबे की सरकार इस समस्या के लिए कई योजना निकाल चुकी लेकिन सब कागज -कलम पर ही रह जाता है। सभी योजना फैल होते नजर आ रहा है।वही दूसरी तरफ वार्ड प्रतिनिधि ललन कुमार जयसवाल ने बताया कि नाला निर्माण का कार्य सड़क अतिक्रमण की वजह से लटका हुआ है।कई बार अंचलाधिकारी से मिल अतिक्रमण हटाने को आवेदन दिया हूँ।लेकिन सड़क पर से अतिक्रमण नही हट पाया। जिस वजह से नाला निर्माण का कार्य शुरू नही हो पाया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...