Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

मधेपुरा : आईसीडीएस कार्यालय परिसर तालाब में तब्दील

- Sponsored -

- Sponsored -

उदाकिशुनगंज,मधेपुरा/उदाकिशुनगंज प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित आईसीडीएस कार्यालय परिसर हर साल बरसात के मौसम आते हीं तालाब में तब्दील हो जाता  है। जिस कारण आइसीडीएस कार्यालय के अधिकारियों, कर्मियों तथा कार्यालय में आने जाने वाले सेविका, सहायिका सहित आम लोगों को भी भारी कठिनाइयों का सामना करना परता है। कई वर्षों से इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकाला जा रहा है। स्थानीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को आइसीडीएस कार्यालय कि सारी समस्याओं से कई बार अवगत कराया गया है पर जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों कि उदासीनता का खामियाजा आइसीडीएस कार्यालय के अधिकारियों, कर्मियों तथा कार्यालय में आने जाने वाले सेविका, सहायिका सहित आम लोगों को भी भोगना पर रहा है।

बच्चों के कुपोषण को दूर करने की जिम्मेदारी रखने वाले बाल विकास परियोजना कार्यालय उदाकिशुनगंज खुद कुपोषित दिख रहा है। स्थिति यह है कि 15 साल पहले बने जर्जर भवन के कारण यहां काम करने वाले कर्मी खुद को असहज और असुरक्षित महसूस करते हैं। जर्जर भवन में कार्यालय कर्मी और अधिकारी रोजाना डर के साए में काम निपटाते हैं। इतना ही नहीं बरसात होने पर कार्यालय के कागजात को भी सुरक्षित रखना चुनौतीपुर्ण है। जर्जर भवन का दरवाजा और खिड़की की भी स्थिति दयनीय है। भवन में विना वायरिंग के बिजली और कम्प्यूटर का उपयोग खुला तार से किया जा रहा है जो खासकर बरसात के मौसम में खतरनाक साबित हो सकता है।

विज्ञापन

विज्ञापन

खुले में शौच मुक्त और स्वच्छता अभियान चलाने में अहम भूमिका निभाने वाले आइसीडीएस अधिकारी कर्मी और सेविका, सहायिका खुद जीर्ण-शीर्ण अवस्था में जंगल से घिरे शौचालय का उपयोग हमेशा डर के साये में करते हैं। जबकि आइसीडीएस कार्यालय परिसर में 90% महिला कर्मी एवं संबंधित कार्यालय से जुङे सेविका और सहायिका का जाना आना रोजाना लगा रहता है।

इस संबंध में सीडीपीओ निशा कुमारी ने बताया कि इन सभी समस्याओं से वरीय अधिकारियों को अवगत कराया गया है। जल्द सभी समस्याओं का समाधान करने कि आश्वासन वरीय अधिकारियों ने दी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...