Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

फ्रेंड्स आफ तेजस्वी संयोजक ने सीएम का प्रवासी मजदूर की ओर ध्यान कराया आकृष्ट

- Sponsored -

- Sponsored -

मधेपुरा/बिहार l फ्रेंड्स आफ तेजस्वी बिहार के प्रदेश संयोजक “संदीप यादव” ने प्रवासी मजदूर की स्थिति देखर दुःख जताया है और बिहार सीएम नीतीश कुमार से अनुरोध किया कि जल्द उनका उपाय करे.कहा बिहार में शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गया है, नियोजित शिक्षकों के बीच भुखमरी जैसा हालात हो गया जिस शिक्षक को करीबन छः माह से वेतन नहीं मिला हो उस परिवार की क्या स्थिति होगी, सरकार अविलंब शिक्षक को वेतन भुगतान करे ।

इसे भी पढ़िए : जब दुल्हा दुल्हन फंस गये लॉक डाउन में 

कहा विगत दिनों,दिल्ली, राजस्थान, जयपुर, पंजाब, आसाम, झारखंड, सूरत और मुंबई में अपने घर लौटने के लिये लोगों का सड़क पर उतरना सरकार की असंवेदनशीलता को दर्शाता है। सरकार गरीब मजदूर बंधुओं को उनके घर तक सकुशल पहुँचाने की व्यवस्था क्यों नहीं कर पा रही है ? जैसे विदेशों से जो लोग आए उनकी स्क्रीनिंग कर उन्हें अपने घर तक पहुँचाया गया उसी तरह देश के सभी गरीब प्रवासी लोगों की स्क्रीनिंग कर उन्हें भी अपने घर भेजा जाइए।

विज्ञापन

विज्ञापन

इसे भी पढ़िए : नम आँखों से कोरोना योद्धा डॉ जेपी को दी गयी विदाई 

एक छोटे से रूम में 20 से अधिक लोग रहते हैं । क्या सरकार नहीं जानती वहाँ कैसी फिजिकल डिसटेंडट होगा ? 100 मजदूर एक शौचालय का प्रयोग करते है। इस सारी समस्याएं को ध्यान में रखते हुए अगर उन्हें देश भर में खड़ी रेलगाड़ियों में शोशल डिस्टेंससिंग का ख्याल रखकर वापस घर भेज दिया जाए तो क्या दिक्कत है? कहा राजद नेता तेजस्वी यादव जी के द्वारा व राजद के कर्मठ साथियों के द्वारा अपने-अपने इलाके में मदद किया जा रहा है ओर मजदूरों से बात कर उनकी मदद की जा रही है। अब उनके पास पैसा, राशन-पानी कुछ नहीं है जिनके पास है वो भी अपने घर जाना चाहते है।

इस देश में अमीर और गरीब के लिए अलग-अलग कानून नहीं हो सकता ? बिहार सरकार तुरंत गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली और पंजाब सरकारों से बात कर सभी बिहारियों को वापस लाएँ। संकट की घड़ी में हम उन्हें ऐसे नहीं छोड़ सकते। यह सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है । मुसीबत की घड़ी में हर कोई अपने घर लौटना चाहता है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...