Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

खेत और खलिहान को बचाने के लिए एकजुट हों किसान- प्रोफेसर चंद्रशेखर

- Sponsored -

बबलू कुमार/ मधेपुरा/ जात पात की करो विदाई, किसान आंदोलन की करो तैयारी ,खेत और खलिहान बचाने के लिए  किसान को एक जुट होने की आवश्यकता है  l उक्त बातें मधेपुरा एवं मुरलीगंज प्रखंड के कई सड़कों का शिलान्यास करने के बाद उच्च विद्यालय धुरगांव के प्रांगण में एक महती सभा को संबोधित करते हुए मधेपुरा कि राजद विधायक एवं बिहार सरकार के पूर्व मंत्री प्रोफ़ेसर चंद्रशेखर ने कहीl

उन्होंने कहा कि चीन की चॉग राहत एवं अमेरिका की दादागिरी नहीं चली तो मोदी की तानाशाही नहीं चलेगीl देश के कारपोरेट घरानों को 7 लाख 55 हजार करोड़ रुपये माफ किया जा सकता है, परंतु देश के अन्नदाता किसानों का कृषि ऋण माफ नहीं हो सकता ,यह सरकार किसानों की नहीं कंपनियों की हैl सरकार के इन्हीं नीतियों के कारण देश के किसान तबाह और परेशान हैं, खेती के लिए खाद नहीं मिलती, परंतु शराब की घर घर बिक्री हो रही है ,नीतीश बाबू विकास के कामों को छोड़कर समाज सुधारक बनने चले हैंl बिहार में भ्रष्टाचार और अफसर शाह का बोलबाला है, बड़ी संख्या में रोजगार के लिए नौजवान दूसरे राज्य पलायन कर रहे हैं, किसानों की फसल समर्थन मूल्य पर नहीं ली जा रही है, पढ़ाई का माहौल लगभग ठप सा हो गया है, करोना के बहाने एक सुनियोजित साजिश के तहत शिक्षा को बर्बाद किया जा रहा है l

प्रोफ़ेसर चंद्रशेखर ने कहा आपके प्यार और वोट से हम लगातार तीन बार विधायक निर्वाचित हुए हैं, हम आपका नेता नहीं आपका बेटा है, अपना शेष जीवन आपके लिए और खेती और किसानी बचाने के लिए न्योछावर कर देंगे l उन्होंने कहा कि जनता भगवान 12 माह में 12 दिन आप दें, सरकार के होश ठिकाने लगाएंगे, संघर्ष के बल पर जनता का हक दिलाएंगेl

विज्ञापन

विज्ञापन

उन्होंने खाद की किल्लत और कालाबाजारी पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि आवाज दो मोदी नीतीश होश में आओ, खाद नहीं तो वोट नहीं l प्रोफेसर चंद्रशेखर ने कहा कि देश खतरनाक दौर से गुजर रहा है, हमारी सीमाएं भी सुरक्षित नहीं है, देश की अखंडता एकता एवं संप्रभुता खतरे में हैl इसलिए जन आंदोलन ही एक रास्ता हैl आपने देखा कि देश के भगवान अन्नदाता किसान तीन कृषि कानून के खिलाफ लगातार 1 वर्ष देशव्यापी संघर्षों के बल पर मोदी सरकार को घुटने टेकने के लिए मजबूर किया और तीन काला कानून वापस हुआl

उन्होंने खाद की किल्लत और कालाबाजारी के खिलाफ 19 जनवरी को जिला कृषि पदाधिकारी मधेपुरा के समक्ष आयोजित विशाल धरना में बड़ी संख्या में भाग लेने की आह्वान आम जनों से की l सभा को महागठबंधन के जिला संयोजक एवं भाकपा की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने संबोधित करते हुए कहा कि यह देश नौजवानों और किसानों की है परंतु आज देश में नौजवान और किसान परेशान हैं, आत्महत्या करने को मजबूर हैंl उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य की सरकार ना सिर्फ किसान विरोधी है बल्कि जन विरोधी है ,उन्होंने सरकार की विफलता के खिलाफ आंदोलन तेज करने का आह्वान कियाl

राजद मधेपुरा जिला प्रधान महासचिव नजीरूद्दीन नूरी ने कहा कि राज्य व केंद्र की सरकार अन्नदाता किसानों को समय पर यूरिया और डीएपी खाद उपलब्ध कराने में विफल रही इससे किसानों में आक्रोश का माहौल कायम है, निकम्मी सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

सभा को युवा नेता पंकज कुमार, बेलो पंचायत के मुखिया दयानंद यादव, भदोल बुधमा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि पवन कुमार ,युवा नेता राजीव कुमार, मुरहो पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि बोआ यादव, राजद के प्रखंड अध्यक्ष सुरेश कुमार यादव, राजद किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव अमेश यादव, किसान नेता सदानंद यादव राजद नेता अनिल यादव सुनील यादव अरुण यादव, दिलीप यादव,सीपीआई नेता शैलेंद्र कुमार,राजद नेता गोसाईं ठाकुर, मोहम्मद जहांगीर, डाक्टर इरफान, आदि ने संबोधित किया l
सभा की अध्यक्षता युवा राजद के प्रखंड अध्यक्ष राज कुमार दास एवं मंच संचालन युवा राजद के जिला प्रवक्ता संजीव कुमार ने कीl

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...