Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

महामारी बन चुके कोरोना वायरस,सरकार लोगों से सावधानियां बरतने की कर रही है अपील

- Sponsored -

- Sponsored -

संजय कुमार सुमन

sk.suman379@gmail.com

बिहार के पटना एम्स में कोरोना से पहली मौत शनिवार देर रात हुई है। यह कोरोना से देश में छठी मौत है। पटना एम्स में भर्ती मुंगेर के चुरम्बा गांव निवासी युवक सैफ अली (38 वर्ष) ने शनिवार को दम तोड़ा। वहीं शनिवार रात को महाराष्ट्र में 63 वर्षीय एक शख्स की मौत के बाद देशभर में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या छह हो गई है। देशभर में कोरोना के मरीजों की संख्या 341 तक पहुंच गई है।बिहार में कोरोना के दो पॉजिटिव मरीज भी मिले हैं। एक कतर से और दूसरा स्कॉटलैंड से आया है। स्कॉटलैंड वाला मरीज एनएमसीएच में भर्ती कराया गया है। एम्स के निदेशक ने बताया कि मृतक युवक का शव परिवारवालों को सौंप दिया गया है।

कोरोना वायरस वुहान से ही चीन समेत दुनिया के 31 देशों में फैल चुका है। कई देशों ने अपने नागरिकों को चीन न जाने की सलाह दी है ।कुछ देशों ने चीन के लिए अपनी उड़ानें रद्द कर दी हैं।विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीन में फैले इस वायरस को अंतरराष्ट्रीय आपात स्थिति घोषित कर दिया है। इस वायरस से सर्वाधिक लोगों की मौत हुबेई प्रांत में हुई है।ताजा आंकड़ों के मुताबिक दुनिया भर में कोरोना वायरस से 13 हजार 49 लोगों की मौत हो चुकी है और दो लाख 75 हज़ार से भी ज़्यादा इस बीमारी से ग्रसित है।महामारी बन चुके इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकारें सतर्क हैं और लगातार लोगों से सावधानियां बरतने की अपील कर रही हैं।

कोरोना एक तरह का वायरस है। जिससे कई तरह की बिमारियों से व्यक्ति ग्रसित हो जाता है। कोरोना वायरस कई तरह के होते है दरअसल ये जानवरों में पाया जाता है। ये वायरस अलग-अलग जानवरो में अलग-अलग पाया जाता है और जिससे अलग-अलग बीमारिया फैलती है। कोरोना वायरस को COVID-19 से जाना जाता है। इस वायरस का नाम corona इसलिए रखा क्योंकि माइक्रोस्कोप में इस वायरस को देखने पर इसके चारों तरफ किसी तरह का मुकुट दिखाई देगा जैसे की इनके ऊपर किसी तरह का ताज हो। इसमें  बुखार, नाक ,गले और फेफड़ो की बीमारियां आम है।

यह संक्रमण दुनिया भर में फैल गया है ।चीन में फैला कोरोना वायरस विश्व के कई देशों में दस्तक दे रहा है।मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भारत में भी कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि हो गई है।

 

विज्ञापन

विज्ञापन

कोरोना वायरस मनुष्यों में कैसे फैल गया?

COVID-19 पहली बार दिसंबर 2019 में चीन के एक शहर वुहान में दिखाई दिया। हालांकि स्वास्थ्य अधिकारी अभी भी इस नए कोरोना वायरस के सटीक स्रोत का पता लगा रहे हैं, प्रारंभिक परिकल्पनाओं ने सोचा कि यह वुहान, चीन में एक समुद्री भोजन बाजार से जुड़ा हो सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सबसे पहले यह वायरस समुद्री जीव-जन्तुओ में हुआ, उसके बाद यह वायरस चीन के लोगो में फैला ।इस शहर में समुद्री जीव जिन्दा भी मिलते है, और उनका मांस भी मिलता है। बाजार का दौरा करने वाले कुछ लोगों ने नए कोरोनावायरस के कारण वायरल निमोनिया विकसित किया।25 जनवरी, 2020 को सामने आया एक अध्ययन बताता है कि पहले रिपोर्ट किए गए मामले वाला व्यक्ति 1 दिसंबर, 2019 को बीमार हो गया था और उसका सीफ़ूड मार्किट से कोई संबंध नहीं था। इस वायरस की उत्पत्ति और प्रसार कैसे हुआ, इसकी जांच चल रही है।यह वायरस संभवतः मूल रूप से एक पशु स्रोत से उभरा था लेकिन अब यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता हुआ प्रतीत होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका सहित पूरे चीन समेत दुनिया के 31 देशों में फैल चुका है.भारत की बात करे तो दिल्ली और मुंबई के बाद अब यह देश के अन्य शहरों में भी फेल चूका है जैसे-राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात आदि में भी फेल चूका है।

कोरोना वायरस से आप अपनी रक्षा कैसे करें?

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए। अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है। खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें। जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें। अंडे और मांस के सेवन से बचें। जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।

कोरोना वायरस के लिए क्या सावधानियां हैं?

चीन और अन्य देशों की कई स्वास्थ्य एजेंसियां, जिनमें संयुक्त राज्य अमेरिका में रोग नियंत्रण केंद्र (CDC) और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) शामिल हैं, इस बीमारी पर कड़ी नजर रख रही हैं और इसे फैलने से रोकने के लिए कदम उठा रही हैं।

चीन में कोरोना वायरस  के कारण से अर्थव्यवस्था पर इसकी बहुत बड़ी मार झेलनी पड़ रही है। चीन की अर्थव्यवस्था को हो रहे नुक़सान की एक बड़ी वजह वायरस को फैलने से रोकने हेतु होने वाला खर्चा है ।चीन में कोरोना वायरस थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?

इसके लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते हैं। संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं।यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है ।कुछ मामलों में कोरोना वायरस घातक भी हो सकता है। खास तौर पर अधिक उम्र के लोग और जिन्हें पहले से अस्थमा, डायबिटीज़ और हार्ट की बीमारी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...