Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

बीएनएमयू : लॉक डाउन के बीच छात्रों के लिए संजीवनी साबित हो रहा है ऑनलाइन क्लास

- Sponsored -

- Sponsored -

मधेपुरा

भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर मनोविज्ञान विभाग में चतुर्थ सेमेस्टर स्पेशलाइजेशन इन क्लीनिकल साइकोलॉजी सत्र 2017 – 2019 के छात्र – छात्राओं के लिए चलाए जा रहे व्हाट्सएप क्लास काफी फायदेमंद साबित हो रही है। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण बंद चल रहे कक्षा के बीच व्हाट्सएप क्लास संजीवनी का काम कर रहा है।

एम. ए. चतुर्थ सेमेस्टर के छात्रों का वर्ग संचालन मार्च माह में तृतीय सेमेस्टर के प्रायोगिक परीक्षा संपन्न होने के उपरांत प्रारंभ हुआ था और दूसरे सप्ताह के अंत में ही कोरोना के कारण क्लास तत्काल स्थगित हो गया अतः पढ़ाई अधर में फस कर रह गई। पाठ्यक्रम को पूरा करने हेतु विभागाध्यक्ष प्रोफेसर कैलाश प्रसाद यादव ने विभाग के शिक्षकों से पढ़ाई की वैकल्पिक व्यवस्था करने को कहा था इसी वैकल्पिक व्यवस्था के तहत विभाग के सहायक प्राचार्य डॉ० आनंद कुमार सिंह ने पिछले सप्ताह से व्हाट्सएप क्लास शुरू किया है । उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की स्थिति में विभाग में पठन-पाठन का कार्य अवरुद्ध है और छात्रों की पढ़ाई पीछे छूट रही है ऐसी स्थिति में शिक्षकों का भी दायित्व है कि घर बैठे छात्रों को प्रोत्साहित करें और उसके सामने उत्पन्न शैक्षणिक समस्या को दूर करने का प्रयास करें। साथ -साथ परीक्षा प्रपत्र भरने के पूर्व पाठ्यक्रम को पूरा करने की भी शिक्षकों की नैतिक जिम्मेदारी है। जिसका निर्वहन हर शिक्षक को जमीनी स्तर पर करनी चाहिए।

विज्ञापन

विज्ञापन

डॉ० सिंह ने बताया कि व्हाट्सएप में बच्चों को एक ग्रुप में जोड़ कर प्रत्येक दिन ऑडियो और लिखित मटेरियल उपलब्ध कराया जा रहा है तथा प्रत्येक दिन 1 घंटे का समय विषय विश्लेषण हेतु संध्या 4:00 बजे से 4:30 बजे तथा 7:00 बजे 7:30 बजे का रखा गया है जिसमें छात्र-छात्राऐं शिक्षकों के साथ मोबाइल के माध्यम से विषय विश्लेषण करेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि पाठ्यक्रम के 5 में से प्रथम यूनिट की पढ़ाई पूरी कर ली गई है और दूसरे यूनिट की पढ़ाई शुरू की गई है और इस प्रकार बंद कक्षा का बच्चों के पढ़ाई पर ऋणात्मक प्रभाव नहीं पड़ने दिया जाएगा।

डॉ सिंह ने कहा कि वैसे तो इस प्रकार की पढ़ाई निजी शिक्षण संस्थान कोचिंग क्लास या खुली शिक्षा के लिए उपयुक्त होता है। लेकिन इसे वक्त का तकाजा कहें या फिर समय का सदुपयोग। बहरहाल इस प्रकार की वैकल्पिक व्यवस्था की गई । उन्होंने यह भी कहा कि जैसे ही विश्वविद्यालय खुलेगी और विभाग में वर्ग संचालन प्रारंभ होगी व्हाट्सएप क्लास बंद कर दिया जाएगा और छात्र – छात्रा कक्षा में नियमित उपस्थित होकर अध्ययन कार्य करेंगे।

इस सम्बन्ध में कोसी टाइम्स द्वारा इस ग्रुप के माध्यम से अधयन्न कर रहे दर्जनों छात्रों से बात की गयी तो उन्होंने लॉक डाउन से बंद पर पठन पाठन कार्य पर दुःख जताया और डॉ आनन्द कुमार सिंह के द्वारा व्हाट्सएप के माध्यम से करवाए जा रहे पढाई पर संतुष्टि जाहिर किया. छात्रा मोना कुमारी,श्रुति सुमन, कुंदन कुमारी,राहुल कुमार ,सत्यम कुमार आदि ने बताया कि ग्रुप में नियमित ऑडियो मेटेरियल सर के द्वारा दिया जाता है जो पढने में अत्यंत सहयोगी है.बताया इसके अतिरिक्त डाउट का समय भी निर्धारित है जहाँ सभी छात्र अपने डाउट को फोन के माध्यम से डिसकस कर सकते है.

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...