Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

जनप्रतिनिधियों के एंट्री के बाद 12 डोज लेने वाले बाबा को मिल सकता है राहत

- Sponsored -

मधेपुरा/ कोरोना वैक्सीन का 12 डोज लेकर सुर्खियों में आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से धोखाधड़ी के केस में फंसे ब्रह्मदेव मंडल को मधेपुरा सदर राजद विधायक प्रो चंद्रशेखर और मधेपुरा से पूर्व सांसद सह जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव का समर्थन मिलने के बाद ब्रह्मदेव मंडल के लिए थोड़ी राहत की सामने आई है

राजद विधायक प्रो. चंद्रशेखर ने एसपी को पत्र लिख कर ब्रह्मदेव मंडल की गिरफ्तारी पर रोक लगाने की मांग की है तो वही जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मधेपुरा से पूर्व सांसद राजेश रंजन पप्पू यादव ने इस कार्रवाई को अन्याय बताया विपक्ष के द्वारा साधे जा रहे निशाना और पप्पू यादव के आक्रमक रुख के साथ ही ब्रह्मदेव मंडल के द्वारा आत्महत्या करने की बात सामने आने के बाद मधेपुरा पुलिस थोड़ी नरम हो गई है. जिस तरह से लगातार उनकी गिरफ्तारी के लिए उनके घरों पर छापेमारी की जा रही थी उनके घरवाले काफी परेशान थे तो अब वही उनके लिए राहत भरी खबर है।

एसपी, राजेश कुमार
विज्ञापन

विज्ञापन

वहीं इस मामले में पहली बार मधेपुरा एसपी ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. एसपी राजेश कुमार ने कहा कि इस मामले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक एफआईआर दर्ज कराया गया है जिसमें कहा गया है कि आरोपी ब्रह्मदेव मंडल जो 84 वर्षीय बुजुर्ग है अलग-अलग पहचान पत्र और मोबाईल नंबर का सहारा लेकर कोरोना का 12 डोज वैक्सीन लिया है . जो कि स्वास्थ्य विभाग के नज़र एक अपराध है. पुलिस मामले को दर्ज कर ली है, तमाम विन्दुओं पर पुलिस अनुसन्धान करेगी. ब्रह्मदेव मंडल से भी हमारे अनुसंधानकर्ता पूछ-ताछ करेगें आखिर किस परिस्थिति में उनके द्वारा 12 बार कोरोना का वैक्सीन लिया गया और स्वास्थ्य विभाग को गुमराह किया गया है. उन्होंने कहा कि वे काफी वृद्ध व्यक्ति है इस लिए पुलिस सहानुभूति के साथ उनसे पूछ-ताछ करेगी. एसपी ने कहा हम चाहेंगे वे अनुसन्धान में सहयोग करें.

वही स्थानीय विधायक और पूर्व संसद द्वारा गिरफ़्तारी पर रोक लगाने की मांग के सम्बन्ध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधि होने के नाते उन्होंने डिमांड किया है मैं इस सम्बन्ध में कुछ नहीं कहूँगा पुलिस अपना काम करेगी . जब उनसे स्वास्थ्य विभाग की भूमिका से सम्बंधित जाँच के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा पुलिस हर विन्दु पर जाँच करेगी.

बहरहाल 11 माह में 12 डोज कोरोना वेक्सिन लेने वाले ब्रह्मदेव मंडल फ़िलहाल फरार चल रहे हैं. ऐसी संभावना जतायी जा रही है कि पुलिस द्वारा ब्रह्मदेव मंडल से पूछताछ के बाद उन्हें थाने से ही बेल दे दिया जाएगा. लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि अब इस मामले पर पुलिस और प्रशासन क्या कार्रवाई करती है.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

Comments
Loading...