Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

आजादी बाद अब तक सिराजपुर – मरौना सड़क का नहीं हाे सका है निर्माण

सुपौल जिले का मरौना और मधुबनी जिले के लाखों आबादी के आवागमन के लिए महत्वपूर्ण है यह सड़क

- Sponsored -

- Sponsored -

सुपौल / जिले के दो भाग में मरौना पंचायत के गांवों को एक दूसरे से जोड़ने वाली सड़क जो सुपौल से मधुबनी जिले के भी हजारों लोगों को जोड़ती है, उसका हाल बेहाल है। मरौना चौक से थाना होते हुए मरौना पंचायत के सिराजपुर के बीच इस दाे किलोमीटर लंबी सड़क आजादी के बाद से अब तक अपने जीर्णाेधार की बाट जोह रहा है। मजे की बात तो यह है कि यह सड़क बिहार राज्य के कद्दावर मंत्री बिजेंद्र यादव का विधानसभा क्षेत्र भी है, इसके बावजूद भी यह सड़क अपने जीर्ण शीर्ण अवस्था पर आशू बहा रहा है।

व्याससायिक और समाजिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण इस सड़क के अब तक निर्माण नहीं होने से लोग काफी मायुस और आक्राेशित हैं। लोगों का कहना है कि दो किलोमीटर इस सड़क के निर्माण से ना सिर्फ मरौना पंचायत का गांव एक दूसरे से जुड़ेगा, बल्कि मधुबनी जिले के कई गांव के लोगों को भी मरौना बाजार आने के लिए सुलभ हो जाएगा। लोगों का कहना है कि इस सड़क के निर्माण हेतु उनलोगों के द्वारा कई बार विधायक से लेकर सांसद तक गुहार लगा चुके हैं। लेकिन अब तक किसी ने भी इसकी सुध लेना मुनासिब नही समझा है। लिहाजा बलान नदी के बीचों बीच गुजरने वाली इस सड़क पर पैदल आवागमन भी मुश्किल है। बरसात के मौसम में इस सड़का हाल तो और भी बदहाल हो जाता है। सिराजपुर के लोगों ने तो इस सड़क को आगामी विधान सभा चुनाव में इसे चुनावी मुद्दा बनाने मे जुट गए हैं।

मरौना के साथ मधुबनी जिला के एक लाख की आबादी के लिए भी महत्वपूर्ण है यह सड़क  : मरौना पंचायत के वकील अहमद हबीबुल्लाह, कैसर आलम आदि ने बताया कि दो किलोमीटर लंबी इस सड़क की जर्जर स्थिति के कारण सिराजपुर गांव के लोगों को अपने भी पंचायत स्थित थाना, स्वास्थ्य केंद्र व मरौना बाजार खरीदारी के लिए दो किलोमीटर की पांच किलोमीटर की दूरी तय कर जाना पड़ता है। मधुबनी जिला के डारह नवटोलिया के रहने वाले हरखू यादव ने मरौना स्थित मां चंद्रकला गैस एजेंसी भरा हुआ सिलेंडर लेने जा रहे थे। रास्ते में मुलाकात के दौरान उन्होंने बताया कि मरौना से सटे होने के कारण वे लोग मरौना से ही गैस का उठाव करते हैं। लेकिन सड़क के जर्जर हालत के कारण उनलोगों को काफी परेशानी होती है। बताया कि बरसात के मौसम में तो उनलोगाें की परेशानी और भी बढ़ जाती है क्योंकि खराब सड़क के कारण वे लोग अपने नजदीकी डीलर के यहां गैस लाने मरौना नहीं आ सकते हैं।

विज्ञापन

विज्ञापन

सड़क बने तो मरौना बाजार में आएगी रौनक : मधुबनी जिला से सटे होने के कारण मरौना बाजार में प्रखंड के साथ मधुबनी जिला के आस-पास के गांव के हजारों लोग बाजार के लिए मरौना आते थे। दुकानदार गंगा सिंह, रामसुदीन यादव, धीरेन्द्र साह, योगेन्द्र साह आदि ने बताया कि मरौना-भलुआही में करीब सात सौ दुकानदार विभिन्न व्यवसाय कर रहे हैं। बताया कि मधुबनी जिला के डारह, बसिपटी, गढ़गांव, वलुवाहा, मेहसा तथा दुआलख पंचायत के हजारों लोग अब बाजार के लिए मरौना नहीं आते हैं। जिसके कारण दुकानदारों का लाखों रुपए की उधार अधर में लटग गया है।

दुकानदारों का कहना है कि यदि ग्राहक आएंगे, उसके बाद तो उनलोगों का उधार वापस आएगा। लेकिन सड़क के नहीं बनने से अब उधर के लोग बाजार करने के लिए मधेपुर की तरफ चले जाते हैं। दुकानदारों का कहना है कि यदि इस सड़क का निर्माण हो जाए तो मरौना बाजार में फिर रौनक वापस लौट सकती है।

मरौना थाना, स्वास्थ्य केंद्र, गैंस एजेंसी व हीरो शोरुम के बगल से गुजरती है सड़क  : व्यावसायिक और सामाजिक दृष्टिकोंण से अति महत्वपूर्ण इस सड़क की अहमियत इस बात से भी लगाई जा सकती है कि इसी सड़क के किनारे मरौना थाना, स्वास्थ्य केंद्र, गैस एजेंसी और हीरो का शो रुम भी है। गैस एजेंसी और हीरो शो रूम के मालिक प्रभाष मंडल का कहना है कि मरौना प्रखंड के करीब सभी टोला मुहल्ला आज मुख्य सड़क से जुड़े हैं। इतना ही नहीं गोठ गांव में तथा हड़्डीभित्ता टोला में दो पुल करोड़ों की लागत से बना दिया गया। लेकिन पक्की सड़क नहीं होने से दोनों पुल का लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है। लेकिन इस महत्वपूर्ण सड़क का निर्माण क्यों नहीं हो रहा है, वह समझ से पड़े है। उन्होंने तंज कसते हुए कि मैं तो यही कहूंगा कि राजा को आंख नहीं कान होता है। समाजसेवी भरत यादव ने बताया कि पूर्व सांसद रंजीता रंजन ने अपने कार्यकाल के अंतिम समय में इस सड़क को पीएम योजना से निर्माण की अनुशंसा की थी। जिसके कारण पंचायत स्तर से इस सड़क का जीर्णोधार संभव नहीं है।

मुझे नहीं है कोई जानकारी :  बीडीओ डॉ मणीमाला कुमारी ने बताया कि सड़क निर्माण कार्य किस पेच में फंसा हैं, मुझे जानकारी नहीं है। जानकारी प्राप्त होने के बाद मैं कुछ बता सकती हूं।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...