Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

सहरसा में 84 वां त्रिमूर्ति शिव जयंती महोत्सव समारोह आयोजित

- Sponsored -

- Sponsored -

सुभाष चन्द्र झा
कोसी टाइम्स @ सहरसा
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के बनगांव रोड स्थित शांति अनुभूति भवन द्वारा 84 वां त्रिमूर्ति शिव जयंती महोत्सव रविवार को बड़े ही हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। इसका उद्घाटन दीप प्रज्ज्वलन द्वारा बिहार ब्रह्माकुमारीज़ संचालिका रानी दीदी, डी.डी.सी. राजेश कुमार सिंह, फैमिली जज रविंद्र कुमार त्रिपाठी, समस्तीपुर से आए कृष्ण भाई द्वारा सामूहिक रूप से किया गया।

विज्ञापन

विज्ञापन

इस शुभ अवसर पर ब्रह्माकुमारी संचालिका राजयोगिनी रानी दीदी ने कहा कि शिव जयंती परमपिता परमात्मा शिव के अवतरण का महान् यादगार पर्व है। जिसके लिए गायन है ज्ञान सूर्य प्रगटा, अज्ञान अंधेर विनाश। जब विश्व में विकारों के कारण अज्ञानता की अंधियारी रात छा जाती है, तब ज्ञान सूर्य परमात्मा आकर सत्य ज्ञान का प्रकाश देते हैं जिससे अज्ञानता का अंधकार छंटता जाता है और मनुष्य आत्माएं फिर से पावन व स्वच्छ बन जाती हैं। यह सृष्टि भी सतोप्रधान स्वर्ग बन जाती है जिसमें देवी- देवताओं का वास होता है। शिवलिंग पर भांग- धतूरा- अक आदि विषैली चीजें चढ़ाने का तात्पर्य यह है कि परमात्मा शिव हम आत्माओं के अंदर विषय-विकार रूपी विषैली चीजों को निकालते हैं और बदले में हमें दिव्य गुणों की मूर्ति बना देते हैं। इसकी सहज विधि राजयोग है, जो स्वयं परमात्मा आकर हमें सिखा रहे हैं।कार्यक्रम को डी.डी.सी. राजेश कुमार सिंह, फैमिली जज रविंद्र कुमार त्रिपाठी, रमेश झा महिला कॉलेज की प्राध्यापिका रेनू सिंह, समस्तीपुर से पधारे कृष्ण भाई ने भी संबोधित किया।आगंतुकों का स्वागत स्थानीय सेवा केंद्र प्रभारी स्नेहा बहन ने किया व राजयोग मेडिटेशन की अनुभूति भी करायी।मुख्य रूप से बिंदेश्वरी भगत, राधेश्याम अग्रवाल, शिव शंकर प्रसाद सिंह, अर्जुन दहलान, अमर दहलान, कैलाश पचेड़िया, महादेव भीमसरिया आदि मौजूद थे।कार्यक्रम के अंत में राजयोगिनी रानी दीदी द्वारा शिव ध्वजारोहण किया गया व सभी से इस मौके पर शुभ संकल्प करवाए गए एवं सभी को प्रसाद वितरण किया गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आर्थिक सहयोग करे

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

Comments
Loading...