Kosi Times
तेज खबर ... तेज असर
- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

बिहार बंद का चौसा व गम्हरिया में दिखा मिलाजुला असर,चौक चौराहे को जाम कर आवागमन को किया बाधित

- Sponsored -

कुमार साजन/चौसा,राजीव कुमार / गम्हरिया,मधेपुरा

बिहार विधानसभा में विधायकों की पिटाई समेत किसानों मुद्दे पर बुलाए गए बिहार बंद का असर चौसा प्रखंड में मिलाजुला रहा। महागठबंधन,जाप पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा प्रखंड के गांधी चौक पर टायर जलाकर आवाजाही को बंद कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया । बिहार सशस्त्र पुलिस बल विधेयक 2021 को लेकर विधानसभा में हंगामे के बाद सदन में घुसकर पुलिसकर्मियों के द्वारा विपक्षी विधायकों के साथ मारपीट की घटना को लेकर महागठबंधन ने आज शुक्रवार को बिहार बंद का आह्वान किया था। बिहार बंद को लेकर महागठबंधन के समर्थक सड़कों पर उतर गए।कई जगहों पर सड़क जाम कर आवागमन को ठप्प किया जिस कारण आवाजाही में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सड़क के दोनों ओर से गाड़ियों की लम्बी कतार लगी रही। बंदी के दौरान कांग्रेस नेता शंभू सिंह ने कहा कि सरकार किसान विरोधी कानून लाकर देश के किसानो को बर्बाद कर दिया है और विरोध करने पर विपक्ष के विधायकों पर लाठी चार्ज करना निदनीय है।इसकी जितनी निंदा की जाय कम होगी। कामरेड रामदेव सिंह व जाप छात्र परिषद के प्रखण्ड अध्यक्ष अभिषेक सिंह ने कहा की मंदिर मस्जिद के सामान सदन की गरिमा है और वहाँ पर सदन मे विधायको पर लाठी बरसाना विपक्ष के विधायक को पिटना बिल्कुल गलत है। इससे सदन की गरिमा को कलंकित कर दिया है। किसान विरोधी काला कानून के बाद बिहार सरकार बिहार सशस्त्र पुलिस बल विधेयक 2021 लाया है। मौके पर राजद नेता फारूक अली, सुधीर सिंह, रितेश रंजन, पप्पू आलम,अमन यादव समेत दर्जनों महागठबंधन एवं जाप पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद थे।
कुमार साजन

विज्ञापन

विज्ञापन

कानून व्यवस्था एवं बढ़ती महंगाई के खिलाफ राजद एवं अन्य दलों द्वारा गम्हरिया में बिहार बंद दिखा सफल

गम्हरिया,मधेपुरा से राजीव कुमार के अनुसार गम्हरिया में बिहार बंद का असर सफल दिखा ।इस दौरान राजद,जन अधिकार पार्टी सहित कई दलों ने बिहार बंद में अपना समर्थन देते हुए बिहार में बढ़ते अपराध गिरते कानून व्यवस्था एवं विधानसभा के अंदर माननीय विधायकों के ऊपर लाठीचार्ज के विरोध में आज बिहार बंद का आह्वान किया गया। जिस पर अमल करते हुए आज राजद के कार्यकर्ताओं ने गम्हरिया प्रखंड मुख्यालय के बस स्टैंड चौक पर चक्का जाम कर दिया ।इस दौरान कार्यकर्ताओं के द्वारा नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी भी की गई ।कार्यकर्ताओं ने कहा कि आज देश में बेरोजगारी बढ़ गई है ।चुनाव के समय में एनडीए की सरकार ने घोषणा किया था कि 19 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा ।जब विपक्ष के लोगों के द्वारा 23 मार्च को पटना में शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था तो नीतीश सरकार की दमनकारी पुलिस के द्वारा निहत्थे राजद,जाप एवं अन्य कार्यकर्ताओं के ऊपर लाठी एवं वाटर कैनन से पानी का छिड़काव किया गया। इतना ही नहीं विधानसभा के अंदर माननीय विधायकों के ऊपर भी अमानवीय व्यवहार किया गया। साथ ही महिला विधायकों को भी नीचे घसीटा गया।

इस पर गम्हरिया प्रखंड क्षेत्र के कई नेताओं ने रोष प्रकट करते हुए कहा कि नीतीश कुमार का सरकार अब दमनकारी सरकार हो गया है ।सरकार में रहने का कोई भी अधिकार नहीं है ।बिहार बंद के दौरान गम्हरिया में रोड के दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। लोग रास्ता बदलकर इधर से उधर जाते नजर आए। स्कूली बच्चों को भी काफी परेशानी का सामना करना। कई एंबुलेंस गाड़ियों को राजद कार्यकर्ताओं के द्वारा रास्ता भी दिया गया। इस मौके पर मुख्य रूप से राजद के युवा नेता अरुण कुमार, संजय यादव, विश्वनाथ यादव, प्रभास कुमार, तरुण यादव, अभिनंदन यादव, विजय यादव, लाल यादव, ललित सिंह, दिलीप शाह, मनीष कुमार, गुड्डू सिंह, अवधेश कुमार, सच्चिदानंद बैरागी सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

आर्थिक सहयोग करे

Comments
Loading...