Home » गीत / गजल

गीत / गजल

रश्मों-रिवाज़ की दीवार गिराएँ तो अच्छा

रश्मों-रिवाज़ की दीवार गिराएँ तो अच्छा ये धूप मेरे घर तक भी आए तो अच्छा है रिश्तों की सीलन को ...

Read More »

प्यार झूठा मोहब्बत भी झूठी

प्यार झूठा मोहब्बत भी झूठी प्यार झूठा मोहब्बत भी झूठी अब किसी पर भरोसा क्या करना प्यार मरता नहीं प्यार ...

Read More »

शहर रो रहा है

शहर रो रहा है  शहर रो रहा है , पहर रो रहा है आँसुओं से अपना मुँह धो रहा है ...

Read More »

तुम्हें पाने का ख्वाब

तुम्हें पाने का ख्वाब तुम्हें पाने का ख्वाब देख रहा हूं, यह हकीकत है या फसाना सोच रहा हूं। वर्षों ...

Read More »

नियति के आगे न किसी का चला है

नियति के आगे न किसी का चला है नियति के आगे न किसी का चला है न किसी का चलेगा। ...

Read More »

मेरी जिंदगी

मेरी जिंदगी मेरी जिंदगी अब डर नहीं मौत का अब जी लिया हूँ, तेरी हर सांस में। फिर वापस आ ...

Read More »

शिवम गर्ग की रचना-ये जो जलियांवाला बाग है ना

ये जो जलियांवाला बाग है ना, लिपटी है इसमें रक्त देशभक्तों का, महज़ जज़्बों से लड़े थे वो, था बुलंद ...

Read More »

गीतों की बस्ती का शहज़ादा

गीतों की बस्ती का शहज़ादा मैं गीतों की बस्ती का शहज़ादा, मैं राजकुमार। -2 मैं गीत बनाता, गीत ही गाता ...

Read More »