Home » Recent (Slider) » हाय रे विश्वस्तरीय मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल ,तेरे करतब पर रोना आया

हाय रे विश्वस्तरीय मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल ,तेरे करतब पर रोना आया

Advertisements

प्रशांत कुमार

मधेपुरा

पूरा देश आज कोरोना वायरस से परेशान है .हर तरफ राज्य सरकार लॉक डाउन की घोषणा कर रहे है और एहतियात बरतने की सलाह दे रहे है.स्वास्थ्य विभाग लगातार बेहतर व्यवस्था कर रहे होने की बात कर रहे है लेकिन देश के आधूनिकतम मेडिकल कॉलेज में शुमार जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल पर आज लोगों को रोना आ रहा है.इस मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में कोरोना सम्बन्धी जाँच या आइसोलेशन सेंटर जैसा कोई व्यवस्था नही है.

करीब 800 करोड़ की राशि से बनकर तैयार यह मेडिकल कॉलेज आज केवल आँखों को सुकून दे रहा है कि इतना बेहतर भवन एल एंड टी ने बिहार सरकार के कहने पर बना दिया है.इस परिसर में न तो कोरोना को लेकर कोई तैयारी है न ही कोई आइसोलेशन वार्ड .ओपीडी में लगातार मरीज की संख्या में वृद्धि हो रहा है .विभिन्न जिले से आने वालों मरीजों के लिए किसी भी तह का सेनेटाईजार भी उपलब्ध नही है.

बीते सात मार्च को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ,स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय एवं विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बड़े ही गर्व के साथ कहा था कि विश्वस्तरीय यह मेडिकल कॉलेज सबसे आधुनिकतम संस्थान होगा.यह संस्थान पीएमसीएच ,डीएमसीएच आदि संस्थानों का भार हल्का करेगा लेकिन वैसा कुछ होता नही दिख रहा है.अब तो मधेपुरा के लोग सरकार और जिला प्रशासन से मांग भी कर रहे है कि इस मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में अविलम्ब कोरोना जाँच सेंटर बनाने की व्यवस्था की जाय चूँकि यह संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ रहा है.ऐसे में पटना स्थित संस्थानों में लोगों की भीड़ बढ़ेगी तो इलाज या जाँच नही हो पायेगा.

इस सम्बन्ध में जब आज कोसी टाइम्स देर शाम जन नायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल परिसर पहुँच स्थिति का जायजा लेने पहुंची तो अस्पताल अधीक्षक ने किसी भी तरह की जानकारी देने से इनकार किया और बस सॉरी कहकर पल्ला झाड़ते रहे. एक सवाल कि ये मेडिकल कॉलेज विश्वस्तरीय है और कोरोना सबंधित जाँच आदि हेतु क्या व्यवस्था है तो उन्होंने चुप्पी साध लिया और आगे बढ़ते रहे .

निश्चित ही यह कृत्य चिंताजनक है.सरकार को इस मध्येनजर अविलम्ब ध्यान देने की जरूरत है.जिस हिसाब से कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है ये स्थिति और भयावह होने वाला है.बहरहाल अब देखना दिलचस्प है कि इस रिपोर्ट के बाद सरकार ,विभाग और प्रशासन क्या कुछ कदम उठाती है.

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

भविष्य की नहीं वर्तमान की चिंता करनी है : नीरज खेमका

विकास वर्मा पूर्णिया चैम्बर ऑफ कॉमर्स के महासचिव नीरज खेमका ने कहा कि मानवीय और सामाजिक कार्य इस लॉक डाउन ...