Home » Others » सुपौल : पिपरा में सात निश्चय योजना में बड़े पैमाने पर लूटखसोट,जाँच के नाम पर होती है धन उगाही 

सुपौल : पिपरा में सात निश्चय योजना में बड़े पैमाने पर लूटखसोट,जाँच के नाम पर होती है धन उगाही 

Advertisements

भ्रष्टाचारियो के लिए बैंक बाइलेंश बने सात निश्चय योजना

मिथिलेश कुमार कोसी टाइम्स @पिपरा,सुपौल

जिला के पिपरा प्रखंड क्षेत्र के रामनगर पंचायत स्थित वार्ड नम्बर-02,08,11,16,19 में सात निश्चय योजना के तहत कराए जा रहे सड़क निर्माण कार्य में गुणवत्ता के साथ खुलेआम खिलवाड़ किया जा रहा है। जिसमें धड़ल्ले से घटिया सामग्री का इस्तेमाल कर कार्य कराया जा रहा है। सड़क का जीणोद्धार किया जा रहा है जिसमें मिट्टी, ईट सोलिंग तथा पीसीसी ढलाई निर्माण कार्य किया जा रहा है। कार्य की गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा गया है। घटिया किस्म की मीर्जा चौकी गिट्टी जिसमें गिट्टी से अधिक मिट्टी मिला हुआ है। लोकल सफेद बालू को छिपाने के लिए चादर की तरह उपर से सोनसेन बालू का छिरकाउ किया गया है और निम्न स्तर का सीमेंट से ढलाई किया जा रहा है। इसके अलावा कार्य में बालू एवं सीमेंट के अनुपात को सही नहीं रखा गया। इतना ही नहीं सरकारी नियमानुसार किसी भी कार्य स्थल पर सूचना बोर्ड नहीं लगाया गया है।

कार्यस्थल पर मुखिया द्वारा सूचना बोर्ड नहीं लगाये जाने से प्राक्कलित राशि, सड़क की लम्बाई और चौड़ाई का पता भी नहीं चल पा रहा है। जिसको लेकर स्थानीय ग्रामीण ने बताया कि कई बार हमलोगो ने पंचायत के कई योजना की जॉच के लिए प्रखंण्ड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार को आवेदन दिये। लेकिन ना तो कभी सही तरीके से जॉच हो पाई है ओर कई बार हमलोग को यह भी देखने को मिला है कि अधिकारीयों द्वारा जॉच कर कार्य को फिलहाल रोक दिया जाता है ओर काम रोकने के बावजूद जेसे ही स्थल पर से अधिकारी निकले कि फिर कार्य शरू कर दिया जाता है। ऐसे ही मामला कौशली पट्टी वार्ड 19 में चन्देश्वरी यादव घर से नारायण यादव के घर तक 6 महिना पूर्व फाइबर ब्लॉक से सरक निर्माण किया जा रहा था।

कार्य में अनियमितताएं बरतने का आरोप पप्पू कुमार नामक व्यक्ति ने आवेदन में प्रखंण्ड विकास पदाधिकारी से जॉच की मॉग की थी लेकिन मामला जेसे का तैसे रह गया। जबकी प्रखंण्ड विकास पदाधिकारी ने ग्यापांक 1349 दिनांक 31/07/2019 को जारी कर सात निश्चय योजना कार्य पूर्ण अथवा अपूर्ण की अभिलेख 24घंटो के अंदर जमा करने को वार्ड सदस्या व वार्ड सचिव को कहा लेकिन 6महिना पूरा हो जाने के बाद भी अभिलेख जमा नहीं किया गया। ना ही भ्रष्ट प्रतिनिधि के खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं हुई। ऐसे ही मामला वार्ड न 16 की है जिसमें ग्रामीणो ने 5 महिना पूर्व वार्ड सदस्या सुनिता देवी के द्वारा सात निश्चय नली गली योजना में मनमानी करने का आरोप लगाया था। जिसमें ग्रामीणो ने आवेदन में उच्च अधिकारी से योजना की जॉच नहीं होता तब तक कार्य नहीं होने देंगेे। लेकिन योजना की जॉच अधिकारी नहीं कर पाए। वही वार्ड 8 में वार्ड सदस्या रेखा देवी द्वारा वार्ड 11 सीमा से दिनेश मंडल घर तक पीसीसी ढलाई कार्य किया जा रहा है इसमे भी सूचना बोर्ड नहीं लगाया गया है। ढलाई समग्री में महा घोटाला किया जा रहा है लोकल बालू ज्यादा ओर सोनसेन बालू की मात्रा कम देखा जा रहा है।एंवम रामनगर वार्ड 13 में अनिल मंडल दुकान से सिंहेश्वर मंडल के घर तक वार्ड सदस्य शिवचंदर मंडल के द्वारा बिना सूचना पट्ट बोर्ड का ही पी सी सी ढलाई निर्माण कार्य किया जा रहा है भारी अनियमितताएं बरती जा रही है ।

ग्रामीण भागवत मंडल,सिहेश्वर मंडल,पिन्टू मंडल, लखन मंडल,अमन कुमार, सज्जन यादव इन सबों बताया कि आश्चर्य की बात तो यह है कि पंचायत में कोई कार्य होता है तो सूचना पट्ट ही नहीं बनता है। ग्रामीणों ने बताया की सिकायत करके कुछ नहीं होता सिर्फ कागज पर जॉच होता है स्थल का नहीं। वहीं निर्मली पंचायत स्थित 5 एवं 7 नंबर वार्ड में किए गए फाइबर ब्लॉक निर्माण कार्य जो सूचना पट्ट पर दर्शाए गए राशि एवं क्षेत्रफल के हिसाब से आधा भी कार्य नहीं किया गया। जिसको लेकर संबंधित अधिकारियों को सूचना भी दिया गया था। उन्होंने बताया कि जांच किया जा रहा है। उचित काम करवाया जाएगा महीनों बीत जाने के बाद भी सड़कों पर बालू ही बालू नजर आ रहा है देखा जाए तो अभी तक जांच ही किया जा रहा है। जानकारी अनुसार बताया जा रहा है कि योजना को लेकर विरोध किया गया है जिसके कारण सड़कों पर बालू नजर आ रहे हैं। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि कहीं विरोध नहीं किया गया है कार्य को लेकर पास हुए योजना अनुसार कार्य को पूरा करने का निर्देश दिया गया था। शुत्रो की मानें तो सरकार के पैसा खाने वालों ने मिलजुल कर योजना को लूट फसोट अन्य योजना को लूटने में जुट गए। योजना संबंधित पंचायत के जुड़े व्यक्तियों से जानकारी दिया जाता है कि आज होगा कल होगा इधर परेशानियों को झेल रहे हैं पंचायत के लोग। क्योंकि योजनाओं का शिलान्यास करने से ही पूरा हो जाता है उसके बाद कोई झाँकने नहीं आता बहुत ऐसे पंचायत है जहां लुट करने की बेंक बने हुए हैं सात निश्चय योजना। अब सवाल उठता है की जॉच होती क्यो नहीं अगर होती है तो फिर अनियमितताएं में सुधार क्यो नहीं।

पंचायत में हो रहे कार्य को लेकर जांच किया जाएगा

अरविंद कुमार

प्रखंड विकास पदाधिकारी

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

कोरोना को लेकर लोगों को सजग कर रहे हैं चौसा के सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ

संस्था के लोगो ने ग्रामीणों को वायरस के संक्रमण से बचाव के उपायों की दी जानकारी मुखिया प्रतिनिधि अभिनंदन मंडल ...