Home » Recent (Slider) » चौसा अभिया टोला में नहर के पानी की तेज धारा को रोके जाने से दर्जनो किसानो के खेतो का फसल हो रहा बर्बाद

चौसा अभिया टोला में नहर के पानी की तेज धारा को रोके जाने से दर्जनो किसानो के खेतो का फसल हो रहा बर्बाद

Advertisements

पैंतीस एकड़ खेतो में लगी किसानो के फसल हो रहा बर्बाद

किसान के खेतों में लगे मक्का, आलू,गोभी,के फसल हुए बर्बाद

चौसा पूर्वी पंचायत के अभिया टोला से सरकारी डायनेज में जाने वाली पानी के रास्ते को दबंगो किया अवरुद्ध

आवेदन दिये जाने के बावजूद भी अभी तक किसी भी तरह की नही हुई कारवाई 

नहर पूरी तरह है बंद,नहरों पर स्थानीय लोगों ने कब्जा कर कुछ स्थानों पर बना लिया है खेत 

कुमार साजन@चौसा,मधेपुरा 

प्रखंड मुख्यालय के चौसा पूर्वी पंचायत के अभिया टोला के समीप नहर की पानी की धारा को बंद किये जाने से दजनों किसानों की खेत मे लगी करीब 35 एकड़ जमीन में फसल में पानी घुस जाने से बर्बाद हो रहे हैं। उक्त मामले को लेकर ग्राम पंचायत चौसा पुर्वी के अभिया टोला के दजनों किसानों ने चौसा सीओ से आवेदन देकर कारवाई की मांग किये जाने के बावजूद भी कारवाई नही होने से लोगो में काफी नाराजगी व्यक्त की है।

बताया गया कि मुरलीगंज से बिहारीगंज होते हुए चौसा आने वाली नहर की पानी अभिया टोला में सड़क के बगल से होते हुए सरकारी जमीन से गुजरते हुए पोखर व नहर में जा गिरती थी। लेकिन उसी जमीन पर गांव के ही कुछ दबंग लोगो के द्वारा ईट के दीवाल से घेरा बंदी कर रखा है।जिससे नहर की पानी आगे बंद हो गया है। पानी ओभर फलो होकर किसान के खेतों में लगे मक्का, आलू,गोभी,के फसल बर्बाद हो रहे हैं। किसान बमबम मंडल,धर्मेद्र रंजन बुचो मंडल ने बताया कि नहर के सामने घेरा बन्दी के कारण पानी का अधिक दबाव के कारण रहर से बहकर पानी किसान के फसल को बर्बाद कर रहे हैं। मुसो यादव,अवधेश यादव,अनिल कुमार ने कहा कि कि पानी के बहाव अधिक होने के कारण खेत का भी कटाव होने लगा है। इससे पुर्व करीब सात महीने पुर्व भी खेते में पानी घुस जाने से दर्जनो किसानो के धान की फसल बर्बाद हो गया था। पुन:बीते बुधवार को पानी घुस जाने से खेतो में लगी मक्का, आलू, गोभी सहित कई फसल बर्बाद होने की कगार पर पहुंच गया है।नहर पूरी तरह है बंद,नहरों पर स्थानीय लोगों ने कब्जा कर कुछ स्थानों पर बना लिया है खेत । ग्रामीणो ने कहा कि मामले की जानकारी संबंधित विभाग के अधिकारियो को लिखित आवेदन दिये जाने के बावजूद भी अभी तक किसी भी तरह की कारवाई नही होने से लोगो में काफी नाराजगी व्यक्त है। ग्रामीणो ने यह भी कहा कि दो दिनो के भीतर कारवाई नही की गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस बाबत उदाकिशुनगंज एसडीएम एसजेड हसन ने कहा कि सीओ को स्थल जांचकर करने का आदेश दिया गया है।

Comments

comments

x

Check Also

घैलाढ़ में प्रशिक्षण सह किसान मेला का आयोजन

घैलाढ,मधेपुरा. मधेपुरा जिला के घैलाढ प्रखंड अंतर्गत बरदाहा पंचायत के राम जानकी मंदिर परिसर में मृदा स्वास्थ्य कार्ड आधारित प्रत्यक्षण ...