Home » Recent (Slider) » CAA और NRC के सम्बन्ध में पढ़े सर्टिफाईड देशद्रोही का ये पोस्ट …

CAA और NRC के सम्बन्ध में पढ़े सर्टिफाईड देशद्रोही का ये पोस्ट …

Advertisements

जबतक कोई निचला वर्ग है, मैं उसमें ही हूँ.
जबतक कोई अपराधी तत्व है, मैं उसमें ही हूँ.
जब तक कोई जेल में बंद है मैं आज़ाद नहीं हूँ.
(अनाम)

प्रस्तुति – सर्टिफाईड देशद्रोही

लोग कहते हैं सीएए बिल को पढ़े बिना लोग विरोध कर रहे हैं. उनके लिए क्या वो देश का संविधान पढ़े हैं, महाभारत, रामचरित्र मानस और देश का पहला संविधान मनुस्मृति. शायद नहीं लेकिन बहस तो होती है. अगला सवाल जो उठता है कई लोग कहते हैं CAA के विरोध में सड़क पर आने वाले लोगों को पता नहीं है CAA है क्या..? वैसे पीएम के सभा में भी आने वाले लोगों को भी पता नहीं होता वो कहाँ आएं है पीएम को देखने या उन्हें सुनने.

बात CAA पर पीएचडी का थीसिस लिखने का नहीं है, सामान्य बात है. चोर चोर होता है, शैतान शैतान होता है, इंसान इंसान होता है, नागरिक नागरिक होता है, घुसपैठिया घुसपैठिया होता है, पीड़ित पीड़ित होता है, हिन्दू या मुसलमान नहीं होता…. यह कानून घुसपैठिया और नागरिक को धर्म के आधार पर बांटती है. जो भारतीयता के खिलाफ है.

सवाल बड़ा मज़ेदार होता है, लोगों को अपना ही पैसा बैंक से निकालने में प्रूफ़ देना पड़ता है, मतदान केंद्र पर अपना मतदान करने के लिये ही पहचान पत्र दिखाना पड़ता है, परोशी द्वारा जमीन पर अतिक्रमण करने पर मालिकाना हक जमाने के लिये अपना कागजात देखाना पड़ता है तो नागरिकता के सबाल पर इतना हंगामा क्यो बरपा है? बात तो वाजिब है. लेकिन हमें याद रखना चाहिए आज का (करेंट डाक्यूमेंट ) सबूत मांगा जाता है, 71 वाला या 47 वाला नही, वैसे यदि जमीन का खतियान माँगा जाय तो, खोजने में कितनी परेशानी होती है यदि 1902 वाला मांगा जाता है तो…अंदाजा लगाया जा सकता है.

ये तो बात हुई NRC की अब CAAका विरोध क्यों? तो समझना होगा NRC में जो लोग डक्यूमेंड नहीं दे पाएंगे वो घुसपैठिया कहलाएगें, बाद में CAA का हवाला देकर मुस्लिम को छोड़ अन्य को नागरिकता देकर ऐहसान किया जाएगा। बांकी मुसलमानों का क्या होगा ? क्या उसे बांग्लादेश या पाकिस्तान या नेपाल स्वीकार करेगा ? क्या हम उस आवादी को हिन्द महासागर में बहा देंगे ? या फिर एक साथ तालिबानी स्टाइल में गोली मार देंगे ? वो स्थिति शायद नहीं आएगी। फिर नोट बंदी जैसा हाल इस कानून का होगा 2025 तक तक लोग परेशान, एक भी पैसा कालाधन नहीं आया जनता परेशान हुई, और नकली नोट भी बाजार में। ये मूल मुद्दों से भटकाने और जनता को सिर्फ परेशान करने की मुहिम है।

प्रस्तुति – सर्टिफाईड देशद्रोही

 

नोट : ये पोस्ट कोसी टाइम्स कार्यालय में एक अनाम व्यक्ति ने भिजवाया है.उन्होंने कहा है केंद्र सरकार के खिलाफ बोलने वाला आज देशद्रोही हो जा रहा है इसलिए मै पूर्व में ही खुद को सर्टिफाईड देशद्रोही कह डाला है.

Comments

comments

x

Check Also

माध्यमिक शिक्षकों का अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू, मांगों के समर्थन में दिया धरना

सुभाष चन्द्र झा कोशी टाइम्स @ सहरसा . बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर जिला माध्यमिक, उच्च माध्यमिक शिक्षक ...