Home » जिला चुनें » अररिया » अररिया के निजी नर्सिंग होम में प्रसव के बाद महिला की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

अररिया के निजी नर्सिंग होम में प्रसव के बाद महिला की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा

Advertisements

मेराज खान

कोसी टाइम्स@अररिया

अररिया: महिला की मौत पर परिजनों ने बताया कि रोशनी को बीते शनिवार प्रसव के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया था, लेकिन वहां कुछ आशा कार्यकर्ताओं ने उनलोगों को झांसा दिया कि आशा निजी नर्सिंग होम में नार्मल डिलेवरी होगा। इसलिए आपलोग प्रसव कराने के लिए महिला को नर्सिंग होम में लेकर चलें। परिजन भी आशा के झांसा में आ गए और उसे लेकर नर्सिंग हाेम में भर्ती करा दिया। लेकिन नर्सिंग होम में उगाही के लिए चिकित्सक ने परिजनों से पूछे बिना उसका आॅपरेशन कर दिया। आॅपरेशन के बाद महिला पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। जिस कारण उसकी स्थिति बिगड़ती चली गई। स्थिति बिगड़ने पर परिजनों ने नर्सिंग होम के चिकित्सक और नर्स को जानकारी दी, लेकिन सूचना के बाद भी चिकित्सक या नर्स ने ध्यान नहीं दिया। हालत खराब होने पर आनन फानन में उसे रेफर कर दिया। जब तक परिजन कुछ कर पाते तब तक महिला की मौत हो गई। आक्रोशित परिजनों का कहना था कि अवैध रूप से चल रहे आशा नर्सिंग होम में एक दर्जन से अधिक दलाल कार्यरत हैं। जो अस्पताल आने वाले रोगियों को बहला फुसलाकर नर्सिंग होम तक पहुंचाते हैं। इसके लिए दलालों को भी कमीशन दिया जाता है। दलाल के फेरे में आकर ही रोशनी की जान चली गई। हालत बिगड़ने पर आनन-फानन में किया रेफर कर दिया और महिला की मौत हो गाई।

बता दें कि अररिया सदर अस्पताल से सटे दक्षिण आशा नर्सिंग होम में रविवार को प्रसव के बाद महिला की मौत हो गई, हालांकि नवजात स्वस्थ है। घटना के बाद आक्रोशित परिजनों ने नर्सिंग होम में जमकर हंगामा किया। हंगामा की सूचना जिला पदाधिकारी वैद्यनाथ यादव तक पहुंची। जिनकी सूचना पर पुलिस ने नर्सिंग होम पहुंचकर आक्रोशित परिजनों को समझा बुझाकर शांत कराया। महिला रोशनी देवी, पति रमेश कुमार मंडल दियारी पंचायत की रहने वाली है। महिला की मौत के बाद उसके बच्चे को निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया है।

एसडीओ ने किया जांच टीम का गठन, महिला की मौत और अस्पताल से सटे चले रहे अवैध नर्सिंग होम की शिकायत पर एसडीओ रोजी कुमारी ने जांच टीम का गठन किया है। जांच टीम में सिविल सर्जन मदन मोहन प्रसाद सिंह, सीओ अशोक कुमार सिंह एवं नगर थानाध्यक्ष किंग कुंदन को शामिल किया किया है। एसडीओ ने बताया कि नर्सिंग होम की जांच के साथ महिला के मौत की रिपोर्ट मांगी गई है। मामले में जो भी दोषी पाए जाएंगे, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। अररिया पीएचसी प्रभारी को सीएस ने दी जांच महिला की मौत के बाद सीएस ने इस मामले की जांच अररिया पीएचसी प्रभारी डाॅ. आशुतोष कुमार को सौंपा है। घटना से पूर्व भी चिकित्सा पदाधिकारी को शहर में चल रहे अवैध नर्सिंग होम के विरुद्ध जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था। लेकिन अस्पताल के आसपास चल रहे अवैध नर्सिंग होम के बारे में सीएस बोले-हम पुलिस थोड़े ही हैं जो नर्सिंग होम के पास बैठे रहें। अनुरोध करने पर भी नहीं दिया आवेदन : एसएचओ घटना के बाद स्थानीय कुछ लोगों ने इस मामले का हल मिल बैठकर कर लिया। बताया जा रहा है कि नर्सिंग होम से जुड़े लोगों ने महिला की जान कीमत 3 लाख रुपए लगाई। हालांकि लेन देन की पुष्टि किसी ने नहीं की। लेकिन कुछ लोगों ने पीड़ित परिजनों को रुपए देकर मामले का रफा दफा कर दिया। इस मामले में जब नगर थाना एसएचओ से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि पीड़ित परिजनों से कई बार आवेदन की मांग की गई जो अब तक अप्राप्त है। पीड़ित पक्ष ने शव का पोस्टमार्टम भी नहीं कराया। मिली भगत से चल रहा है फर्जी नर्सिंग होम

Comments

comments

x

Check Also

अररिया : जनवितरण प्रणाली दुकानदार के प्रति फूटा जनाक्रोश

राजा वर्मा@जोगबनी फारबिसगंज प्रखंड के मटियारी पंचायत में पैक्स के समीप स्थित जनवितरण प्रणाली के दुकानदार परमानन्द दास के प्रति ...