Home » Breaking News » संदिग्ध अवस्था मे बंगाल के महिला की मधेपुरा में मौत,पुलिस ने पंचनामे के आधार पर की मौत की पुष्टि

संदिग्ध अवस्था मे बंगाल के महिला की मधेपुरा में मौत,पुलिस ने पंचनामे के आधार पर की मौत की पुष्टि

Advertisements

गाँव के जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणों ने किया पंचनामा तैयार

महिला के गले मे फंदे का निशान

पुलिस ने चौकीदार नियुक्त कर पोस्टमार्टम के बदले किया शव की रखवाली,कई सवालों के घेरे में पुलिस

गौरव कबीर@उदाकिशुनगंज,मधेपुरा

उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के पिपरा करोति में एक बंगाल की महिला का संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई।बताया जाता है कि महिला की शादी मात्र एक माह पूर्व हुई थी।मृतका का घर बंगाल के ठाकुरगंज बताया जाता है।मिली जानकारी के अनुसार महिला की शादी महज एक माह पूर्व हुई थी।शादी के बाद से ही घर मे कई दिनों से विवाद चल रहा था।महिला के सुसराल वाले मृतका को मानशिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे।घर में हो रहे कलह को देखकर महिला का पति मजदूरी करने बाहर चला गया।सोमवार को महिला अपने कमरे में सोने गई।रात्रि के समय महिला अकेले सोई हुई थी।सुबह ससुराल वालों पता चला कि महिला ने गले मे फंदा लगाकर कर आत्महत्या कर ली।मामले की सूचना पंचायत के मुखिया को दी गई।मुखिया के द्वारा पुलिस को सूचना दिया गया।पुलिस घटनास्थल पर पहुँची।वहाँ पहुँच कर मृतका के घर वालो को सूचना दिया गया।सभी मंगलवार को करोति पहुँचे तबतक चौकीदार पुलिस के द्वारा तैनात किया गया।पोस्टमार्टम के बजाय पुलिस शव की रखवाली दो दिनों तक करती रहती है।परिवार के आ जाने के पश्चात शव को पुलिस की मौजूदगी में बिना पोस्टमार्टम किये जला दिया गया।इतना ही नहीं महिला की मौत को पुलिस ने महज एक अनसुलझी कहानी समझ कर दाह संस्कार करवा दिया।मामले में ग्रामीण दबी जुबान से बताते हैं कि महिला की हत्या कर दी गई है।रात्रि में महिला को बन्द कमरे गला दबाकर मार दिया।सुबह सब ससुराल वालों ने लोगों को बताया कि महिला ने खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।कई लोग यह भी कह रहे हैं कि महिला की सास से दिन में झगड़ा हुआ था।सभी लोग गुस्से में थे।इस वजह से उसकी हत्या कर दी गई।कयास यह भी लगाया जा रहा है कि महिला के साथ मौत से पहले जोर जबरदस्ती भी की गई।मौत के बाद लोगों ने देखा कि महिला को कम्बल से लपेटा गया था।महिला निर्वस्त्र थी।पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम किये बगैर ही दाह संस्कार करवा दिया।आनन फानन में पुलिस ने परिजन को बुलाया और दबाब देकर दाह संस्कार कराया।महिला की मौत अब पहेली बनकर रह गई है।बताते चले कि करोति में एक और महिला को विषयुक्त भोजन खिलाकर मार दिया गया।पुलिस मौके पर पहुँची और बिना पोस्टमार्टम किये हीं कुछ लोगों की मदद से जला दिया गया।अब तो उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के लोग यह भी कह रहे हैं कि किसी भी महिला की हत्या कर दो कानूनी कार्यवाही के नाम पर पुलिस अपराधियों को सुरक्षा मुहैया करा देगी।लोगों जेहन में ऐसे कई सवाल उत्पन्न हो रहे हैं।पुलिस की कार्यशैली से क्षेत्र के लोग नाखुश नज़र आ रहे हैं।अब सवाल यह है कि क्या पुलिस बिना पोस्टमार्टम किये यह तय करेगी कि किसी की मौत प्राकृतिक मौत हुई है।बीमारी के कारण मौत हुई है।पंचनामा तय करेगी कि हत्या की गई है या आत्महत्या की गई है।ऐसे कई सवालों के जद में उदाकिशुनगंज की पुलिस है।

मामले में पुलिस ने कहा कि करोति पिपरा महिला की मौत बीमारी से हुई थी।परिजनों ने डॉक्टर की रिपोर्ट सौंपी थी।दूसरी महिला ने आत्महत्या की है।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

चौसा के विद्यालयों में समारोह पूर्वक मनाई गई महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की जयंती

कुमार साजन@चौसा (मधेपुरा ) कन्या मध्य विद्यालय चौसा परिसर में आज एक समारोह का आयोजन कर पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा ...