Home » Breaking News » देश के दिग्गज वकील रामजेठमलानी का निधन

देश के दिग्गज वकील रामजेठमलानी का निधन

Advertisements

कोसी टाइम्स प्रतिनिधि@दिल्ली

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया है. राम जेठमलानी लंबे समय से बीमार थे. राम जेठमलानी ने कई मशहूर केस लड़े हैं. इसमें इंदिरा गांधी केस के हत्यारों का केस, डॉन हाजी मस्तान और हर्षद मेहता जैसे केस हैं. राम जेठमलानी ने एक मशहूर वकील के साथ राजनेता भी थे. फिलहाल वह आरजेडी से राज्यसभा सांसद थे.जेठमलानी देश के सबसे बेहतरीन वकीलों में गिने जाते थे। उन्होंने अपने जीवन में कई बड़े केस लड़े और जीते थे। जेठमलानी दिग्गज वकील होने के साथ-साथ केंद्रीय कानून मंत्री भी रह चुके हैं। राम जेठमलानी पिछले दो हफ्ते से गंभीर तौर पर बीमार थे।जेठमलानी लादे गए मुकदमों के अलावा अपने बयानों की वजह से भी अक्सर चर्चा में रहते हैं. जेठमलानी ने 17 साल की उम्र में ही वकालत की डिग्री हासिल कर लिया था. तब नियमों में संशोधन कर उन्हें 18 वर्ष की उम्र में प्रैक्टिस करने की इजाज़त दी गई थी. जबकि नियमानुसार प्रैक्टिस की उम्र सीमा 21 वर्ष थी।

जन्म

जेठमलानी का जन्‍म पाकिस्तान (तब भारत का हिस्सा था ) के शिकारपुर में 14 सितंबर 1923 को हुआ था। वह पढ़ने में मेधावी रहे। दूसरी, तीसरी और चौथी कक्षा की पढ़ाई एक साल में ही पूरी कर ली थी और मात्र 13 साल की उम्र में मैट्रिक पास कर गये थे।जेठमलानी के पिता बोलचंद गुरमुख दास जेठमलानी और दादा भी वकील थे। पाकिस्तान बनने के बाद वह एक दोस्त की सलाह पर मुंबई आ गए थे। यहां उन्होंने रिफ्यूजी कैंप में काफी दिनों तक रहे। जेठमलानी ने 1959 में केएम नानावती बनाम महाराष्ट्र सरकार का पहला केस लड़ा था और वह उससे काफी मशहूर हो गए थे। इसमें जेठमलानी ने यशवंत विष्णु चंद्रचूड़ के साथ केस लड़ा था और बाद में चंद्रचूड़ देश के चीफ जस्टिस भी बने।

उनके प्रमुख नामी केस

जेठमलानी ने जो प्रमुख केस लड़े उनमें नानावटी बनाम महाराष्ट्र सरकार, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के हत्यारों सतवंत सिंह और बेअंत सिंह, हर्षद मेहता स्टॉक मार्केट स्कैम, हाजी मस्तान केस, हवाला स्कैम,मद्रास हाईकोर्ट, जेसिका लाल मर्डर केस, 2जी स्कैम केस और आसाराम का मामला शामिल है.

इसके साथ ही जेठमलानी ने बाबा रामदेव , राजीव गांधी के हत्यारों , लालू यादव , जयललिता और जगन रेड्डी की पैरवी कर चुके थे. इसके अलावा वह संसद पर अटैक मामले में अफजल गुरु से लेकर सोहराबुद्दीन एनकाउंटर में अमित शाह का केस भी लड़ चुके थे।

मुफ्त में लड़े कई मामले

आज़ाद भारत के इतिहास में कई मोड़ों पर रामजेठमलानी काला कोट पहने खड़े दिखते हैं. एक समय पर देश के सबसे ज़्यादा टैक्स देने वाले लोगों में शामिल रहे जेठमलानी ने कई चर्चित मामलों में मुफ्त में मुकदमा लड़ा.

अपने अंदाज़ और अपने तेवर में कभी भाजपा में रहे जेठमलानी अटल बिहारी कैबिनेट में मंत्री बने थे. बाद में पार्टी से 6 साल के लिए प्रतिबंधित होने के बाद अटल बिहारी वाजपेयी के खिलाफ ही चुनाव लड़ने उतर गए थे.

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

मुरलीगंज में फिर गरजी बंदूक, युवक को बनाया निशाना

रंजीत सुमन मुरलीगंज,मधेपुरा. मधेपुरा जिले के मुरलीगंज में अभी फिर बन्दूक गरजी है।अपराधियों ने 19 वर्षीय युवक को गोली मारी ...