Home » Breaking News » मामूली सी बात पर कटिहार डिस्ट्रिक्ट जज ने बॉडीगार्ड को पीटा

मामूली सी बात पर कटिहार डिस्ट्रिक्ट जज ने बॉडीगार्ड को पीटा

Advertisements

कोसी टाइम्स प्रतिनिधि@कटिहार

कटिहार के डिस्ट्रिक्ट ने अपने बॉडीगार्ड हरिवंश कुमार को मामूली सी बात पर पिटाई कर दी और वर्दी भी फाड़ दिया। गौरतलब हो कि सड़क पर बस वाले ने साईड देने में देरी की और ये मामला सामने आया। वैसे कटिहार की सडकों पर जाम की समस्या आम है। यहाँ बस के चालक एवं ऑटो चालक सड़क पर गाड़ी खड़ी कर सवारी बैठाते हैं जिससे जाम लगती है। और हमारे डिस्ट्रिक्ट जज साहब टाइम के पाबन्द व्यक्ति रहे हैं।
इस मारपीट मामले को आपसी स्तर पर निपटा दिया गया था लेकिन डीजीपी के आदेश पर एफआईआर दर्ज हुई है। बिहार पुलिस के मुखिया का सख्त निर्देश है कि कानून कोई भी तोड़े उसपर करवाई होगी।
डिस्ट्रिक्ट जज के बॉडीगार्ड ने सहायक थाने में मारपीट का मामला दर्ज कराया है। साथ ही जिला जज के नाजिर ब्रह्नदेव मण्डल ने भी अंग रक्षक पर मारपीट कर भागने का मामला सहायक थाने में दर्ज कराया है।अंगरक्षक और नाजिर के द्वारा सहायक थाना में अलग-अलग आवेदन देकर मामला दर्ज कराया गया है। और पुलिस एफआईआर दर्ज कर मामले के अनुसंधान में लग गई है।
हालांकि इस मामले पर जिले के वरीय अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। जिला एवं सत्र न्यायाधीश के अंगरक्षक हरिवंश ने जिला जज पर यह आरोप लगाया है कि जिला जज के द्वारा उन्हें बेरहमी से मारा-पीटा गया है। अंगरक्षक ने यह आरोप लगाया है कि जिला जज के द्वारा उनकी वर्दी भी फाड़ दी गई। हालांकि इस प्रकरण को लेकर समाहरणालय और कोर्ट परिसर में हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। प्रत्यक्षदर्षियों ने बताया कि डिस्ट्रिक्ट जज अपने पद की गरिमा का ख्याल नहीं रख सके, जिसको लेकर विवाद हुई। एक ओहदे पद पर रहे अधिकारी से कम-से-कम इस तरह के कृत्य अशोभनीय है।

घटना को लेकर कटिहार के पत्रकार भी पैनी निगाह बनाये हुए थे। लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं होने की वजह से खबर नहीं लिखी जा रही थी। जैसे ही प्राथमिकी दर्ज हुआ, मामले ने नया मोड़ ले लिया। चर्चा है कि पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय के आदेश के बाद ही जिला जज पर सहायक थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। हालांकि इस घटना के बाद जिले के सभी अधिकारी दिन भर उहापोह की स्थिति में थे। बिहार पुलिस महासंघ और बिहार न्यायिक संघ के कर्मचारियों ने भी दिन भर जिला जज पर प्राथमिकी दर्ज कराने को लेकर दबाब बनाते देखे गए। अंगरक्षक हरिवंश के जुबानी एक बस अंबेडकर चौक के पास बीच सड़क पर खड़ी थी और जिला जज उधर से गुजर रहे थे। जाम को देखते हुए उनके अंगरक्षक गाड़ी से उतर बस को साइड कराने लगा जिस वजह से उनकी गाड़ी करीब 10 मिनट तक बीच सड़क पर रुकी रही जिस वजह से वे आक्रोशित हो गए और जैसे ही वह गाड़ी के अंदर पुनः बैठा जिला जज के द्वारा चलती गाड़ी में उसकी पिटाई कर दी गई। बाद में जैसे ही गाड़ी अदालत परिसर पहुंचा वह किसी तरह वहां से जान बचाकर भागा।
इधर अंगरक्षक के भागने से आक्रोशित जिला जज ने पुनः अपने बयान लेखक और पेशकार की भी पिटाई कर दी। जिससे न्यायालय में कार्यरत सभी कर्मचारी आक्रोशित होकर न्यायायिक कार्य का बहिष्कार कर दिया।
हालांकि इस क्रम में काफी मनाने के बाद न्यायिक कर्मचारी अपने कार्य पर वापस लौट गए। इस बीच पुलिस महानिदेशक के आदेश पर सहायक थाने में देर शाम मामला दर्ज कर लिया गया है। और अनुसंधान जारी है।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

ब्रह्मपुत्र मेल के जेनरेटर कोच में लगी आग

शयामा नंद सिह भागलपुर भागलपुर मूगेर असम के डिब्रूगढ़ से चलकर पुरानी दिल्ली जाने वाली 14055 नम्बर की अप ब्रह्मपुत्र ...