Home » Others » मधेपुरा:गम्हरिया में प्रसव के दौरान बच्चे की मौत,परिजनों ने किया जमकर हंगामा

मधेपुरा:गम्हरिया में प्रसव के दौरान बच्चे की मौत,परिजनों ने किया जमकर हंगामा

Advertisements

**गम्हरिया पी एच सी बना मौत का केंद्र 

**मधेपुरा एसडीएम वृंदा लाल और मधेपुरा सीएस ने पहुंचकर लोगों को किया शांत 

**500 रूपये नहीं देने के कारण बच्चे की ली है जान

**गम्हरिया पीएचसी में बुधवार को जमकर लोगों ने किया हंगामा 

राजीव कुमार कोसी टाइम्स गम्हरिया , मधेपुरा

औराही एकपरहा पंचायत के गांधी नगर निवासी सीता देवी को प्रसव कराने के लिए मंगलवार को दिन के 10:00 बजे गम्हरिया पी एच सी लाया गया और रात्रि के 10:00 बजे मधेपुरा रेफर कर दिया जहां की मधेपुरा के एक प्राइवेट क्लीनिक में प्रसव के दौरान बच्चे की मौत हो गई ।बच्चे की मौत से आक्रोशित परिजनों और ग्रमीणों ने गम्हरिया पीएचसी में आकर जमकर हंगामा किया ।

परिजनों के द्वारा आरोप लगाया जा रहा था कि प्रसव के दौरान महिला को जल्दी रेफर नहीं किया और एएनएम के द्वारा प्रसव कराने के एवज 500 रुपैया मांगा जा रहा था,जब हमलोगों ने कहा कि यदि आपलोगों से प्रसव नहीं होगा तो रेफर तो कर दीजिए और एंबुलेंस दीजिए पर अस्पताल प्रशासन के द्वारा एंबुलेंस भी नहीं दिया गया । एंबुलेंस जब मांगा गया तो बताया कि एंबुलेंस खराब है । तब जाकर इतने रात को हमलोगों ने बरी परेशानी से टेम्पु लाया और इतनी रात्री को पेशेंट को मधेपुरा सदर अस्पताल लेकर गया पर वंहा भी पेशेंट को भर्ती नहीं लिया गया तब जाकर हमलोग एक निजी नर्सिंग होम ले गए जहां डॉक्टर ने कहा स्थिति तो बहुत खराब है बच्चे को नहीं बचाया जा सकता पर अभी जच्चा सुरक्षित है इसे बचाया जा सकता है ।

हंगामे की खबर पर गम्हरिया प्रखंड प्रमुख शशि कुमार पी एच सी पहुंचकर सभी पीएचसी कर्मी को फटकार लगाया । मामला की जानकारी मिलते ही सदर एसडीओ वृंदा लाल मधेपुरा सीएस गम्हरिया पीएचसी पहुंचकर लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया ।लोगों ने एसडीओ और सीएस से शिकायत किया कि यहां इस पीएससी में एक भी ड्रेसर नहीं है ।नर्स भी नहीं है ।और यहां के डॉक्टर पी एच सी में समय नहीं देकर प्राईवेट में ईलाज किया करते है । एंबुलेंस लगभग 15 दिनों से खराब है। अस्पताल जाने का रास्ता भी नहीं है। अस्पताल के आगे थोड़ा सा भी बारिश होने के बाद पानी लग जाती है ।साफ-सफाई की व्यवस्था नहीं है ।अस्पताल में खाना समय पर नहीं दिया जाता है ।रूटीन के मुताबिक खाना नहीं दिया जाता है ।अस्पताल के डॉक्टर सही समय नहीं देता है ।रात में कोई भी डॉक्टर नहीं रहता है । ज्यादातर आयुष डॉक्टर काम करते हैं ।सांप का दवाई उपलब्ध रहने पर भी नहीं दिया जाता है । हॉस्पिटल गेट के आगे मीट मछली का हाट लगाया जाता है ।जिस पर एसडीओ ने बताया कि सभी समस्याओं का जल्द ही निदान हो जाएंगे । एसडीओ ने सीओ रमेश कुमार सिंह को रास्ता जल्द से जल्द पीएससी तक लाने की बात कही। और आगे में लगे पानी कीचड़ मिट्टी देकर देने की बात कही ।और अन्य मामला को लेकर एसडीओ ने बताया कि बहुत जल्द यहां पर सभी व्यवस्था कर दी जाएगी ।और दोषी कर्मचारी को ऊपर कार्रवाई की जाएगी ।मौके पर जाप नेता विनय शंकर यादव , पंचायत समिति सदस्य मिथिलेश कुमार , सदानन्द यादव , मुखिया प्रतिनिधि राजकिशोर यादव , सरपंच शत्रुघ्न यादव सहित कई जनप्रतिनिधि और गणमान्य लोग मौजूद थे ।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सुपौल:पिपरा प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन

मिथिलेश कुमार कोसी टाइम्स@पिपरा,सुपौल पिपरा प्रखंड के भागीरथ उच्च माध्यमिक विद्यालय मैदान में गुरुवार को प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का ...