Home » Breaking News » मधेपुरा:चौसा से अपहृत युवक खुद के बनायें जाल में फंसा,पुलिस ने किया उदभेद्न,अब जायेंगे जेल

मधेपुरा:चौसा से अपहृत युवक खुद के बनायें जाल में फंसा,पुलिस ने किया उदभेद्न,अब जायेंगे जेल

Advertisements

**चिमनी भठ्ठे की जमीन खाली करवाने को लेकर खुद के अपहरण का रचा साजिश

**पुलिस दबिश में आकर अपहृत युवक नवगछिया थाना में किया आत्मसमर्पण

संजय कुमार सुमन 

कोसी टाइम्स@मधेपुरा 

बीते 17 जून सोमवार को चौसा थाना क्षेत्र के गांधी चौक चौसा से 2 लाख 30 हजार के साथ भटगामा के कुमोद यादव का अपराधियों ने अपहरण कर लिया था। अपहरण से आक्रोशित ग्रामीणों ने चौसा-नवगछिया एसएच 58 को घंटों जाम कर चौसा पुलिस के विरोध में नारेबाजी की थी। परिजनों का आरोप था कि सोमवार की शाम 7:00 बजे चौसा के गांधी चौक के समीप से कुमोद यादव का अपहरण कर लिया। घटना की छानबीन कर रही चौसा पुलिस को यह मामला काफी संदिग्ध लगा। पुलिस ने जब अपहृत कुमोद के मोबाइल का सीडीआर निकाला गया तो सीडीआर में संदिग्ध लगा। जब जांच किया गया तो पता चलता है कि वह भटगामा में था ही नहीं, वह चौसा या पुरैनी गया ही नहीं। कई तथ्यों को नजर में रखते हुए मामले की छानबीन की गई ।छानबीन के तहत पुलिस ने जब दवाब बनाया तो सभी मामले का पर्दाफाश हुआ और अपहृत खुद पुलिस के शिकंजे में फंस गई।

चौसा-नवगछिया एसएच 58 को घंटों जाम का एक दृश्य

इस घटना में चौसा के पूर्व राजद प्रखंड अध्यक्ष सह पूर्व मुखिया सुशील कुमार यादव सहित 6 लोगों को नामजद कर प्राथमिकी दर्ज किया गया था। सड़क जाम कर उग्र प्रदर्शन  कारियों ने चौसा पुलिस  को 24 घंटे के अंदर अपहृत युवक को सकुशल बरामदगी का अल्टीमेटम आरोपियों को गिरफ्तार करने का समय मिला था। सड़क जाम के बाद प्रशासन हरकत में आई और संभावित जगह-जगह पर पुलिस टीम बनाकर छापेमारी शुरू कर दी गई। पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए अपहृत युवक ने खुद को गुरुवार 20 जून को सुबह करीब 6 बजे नवगछिया थाना में आत्मसमर्पण कर दिया। नौगछिया पुलिस प्रशासन ने इसकी सूचना मधेपुरा एसपी संजय कुमार को दिया और मधेपुरा पुलिस नवगछिया पहुंचकर उसे चौसा थाना लाया।

चौसा थाना में एसपी संजय कुमार,डीएसपी सीपी यादव युवक से घंटे भर पूछताछ की घंटे भर पूछताछ के बाद एसपी संजय कुमार ने मामले में खुलासा करते हुए बताया कि प्रारंभिक अनुसंधान में ही अपहरण की मामला संदिग्ध पाया गया था।अपहृत युवक के परिजनों द्वारा दिए गए आवेदनों पर अनुसंधान के दौरान पता चलता है कि वह भटगामा में था ही नहीं, वह चौसा या पुरैनी गया ही नहीं। जब उनके मोबाइल का सीडीआर निकाला गया तो पता चला कि 17 जून को 7:34 पर अपने साले से बात किया तो उसका लोकेशन मीराचक भागलपुर था । जबकि अपने साले को बताया कि मैं पुरैनी से आ रहा हूं, चौसा पहुंच रहा हूं। तुम गाड़ी लेकर आओ, हमें पहुंचा देना। 17 और 18 जून को जब अपहृत युवक के घर और सगे संबंधियों के घर पुलिस ने दबिश डाली और लगातार हर जगह छापेमारी किया जा रहा था। जब कहीं छुपने की जगह नहीं मिली तो उन्होंने 20 जून को 6:00 बजे नवगछिया थाना में स्वयं को उपस्थित किया।

एक सवाल के जवाब में एसपी संजय कुमार ने बताया कि अपहृत युवक ने पूछ ताछ में बताया कि मीरा चक के पुल के नीचे रात में सो गया था। दो दिन तक पुल के पास ही रहा। फिर सुबह में एक ट्रक पकड़ कर नवगछिया आ रहा था उन्हें नींद आ गई तो वह खरीक पहुंच गया। ट्रक का ड्राइवर और खलासी ने जब उसे जगाया कि तुम कौन हो खरिक आ गए हो। उसके बाद खरीक से गाड़ी पकड़ कर नवगछिया थाना आ गया। फिर पूछताछ में उन्होंने कबूल किया कि चिमनी भट्ठे में 8 कट्ठा जमीन दिए हुए था जो वह लोग खाली नहीं कर रहा था उसके बदले में हमें 5 कट्ठा जमीन फसल लगाने को दिया था पर हम 8 कट्ठा जमीन के बदले 5 कट्ठा जमीन हमें कबूल नहीं था हम अपनी पूरी जमीन खाली कर लेना चाहते थे। अपनी जमीन को खाली कराने के मकसद से ही गलत तरीके से षड्यंत्र रच कर खुद का अपहरण की साजिश कर भट्ठा मालिक पर दबाव बनाना चाहते थे। एसपी ने बताया कि पूरा मामला ही गलत था इसलिए यह केस फॉल्स हो जाएगा। जांच पड़ताल की जा रही है प्रशासन को गुमराह करने के एवज में उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी।जो भी दोषी होंगे वे बक्शे नही जायेंगे।भले ही चौसा पुलिस ने अपहृत कुमोद यादव का मामला सुलझा लिया हो पर बढ़ते अपराध पर पुलिस की पकड़ नही है।हालाँकि एक सवाल  पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने कहा कि चौसा,आलमनगर थाना मधेपुरा,पूर्णिया,भागलपुर,खगड़िया और सहरसा जिले के सीमावर्ती में पड़ने के कारण अपराधी अपराध कर दुसरे जिले में चले जाते हैं जो पुलिस के लिए मुश्किल होता है।पर पुलिस का दबिश बढ़ा है जरुर अपराध पर लगेगा लगाम।

देखें वीडियो

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

मधेपुरा : बेटियों की इज्जत दांव पर, सरकार की बेटी बचाओ अभियान साबित हो रहा है बेकार

मधेपुरा संवाददाता / गौरव कबीर उदाकिशुनगंज संवाददाता उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में इन दिनों बेटियां सुरक्षित नहीं दिख रही है।कहीं दर्ज़नो ...