Home » Breaking News » मधेपुरा:उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में हत्याओं का अंतहीन सिलसिला जारी,सरपंच प्रतिनिधि को मारी गोली

मधेपुरा:उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में हत्याओं का अंतहीन सिलसिला जारी,सरपंच प्रतिनिधि को मारी गोली

Advertisements

कोसी टाइम्स प्रतिनिधि@मधेपुरा

उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में हत्याओं का अंतहीन सिलसिला जारी है।एक के बाद एक घटना को अपराधकर्मी अंजाम दे रहे हैं । अभी नरदह पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया पति अनिल यादव की हत्या का मामला शांत भी नही हुआ था कि आज औराय ग्राम कचहरी के सरपंच मो.पप्पू को दिन दहाड़े अपराधियों ने गोली मार दिया।हालाँकि वे फ़िलहाल भागलपुर मेडिकल कालेज में जीवन और मौत से जूझ रहे हैं। लगातार जनप्रतिनिधि पर अपराधिक हमले से जनप्रतिनिधियों में भय व आतंक का माहौल व्याप्त हो गया है। वे अब डर से अपने आप को सुरक्षित रहना चाह रहे हैं। उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में छह माह के अंतराल में बदमाशों ने एक दर्जन से अधिक लोगों को मौत के घाट उतार दिया है।

बताया जाता है कि आज शुक्रवार की सुबह किसी मामलें की सरपंच मो.पप्पू पंचायती करने पहुँचे थे । औराय में पंचायत करते अपराधियों ने गोली मार दिया। गोली दाॅये कन्धे मे लगी है। आनन-फानन में पुरैनी पीएससी लाया गया। चिकित्सकों ने गंभीर स्थिति देखते हुए भागलपुर रेफर कर दिया है हालत अब सामान्य हुआ है।सरपंच प्रतिनिधि को गोली मारे जाने की खबर को सुनते ही फिर से पुरैनी प्रखंड वासियों में खासकर पंचायत प्रतिनिधियो डर का माहौल है।  लोग आशंकित है वही खबर सुनते ही लोजद नेता जयप्रकाश सिंह ने पुरैनी में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कानून मंत्री के क्षेत्र में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही आपराधिक वारदात चरम सीमा को पार कर चुकी है। प्रशासन बेबस और लाचार है। घटना की लीपापोती की जा रही है।  दरोगा को बली का बकरा बना दिया जाता है।  ये नेताओ दुआरा जानबूझकर कर अपने जानकर भ्रष्ट पदाधिकारी की पोस्टिंग कराई जाती है ये सत्ता संरक्षण अपराध है ।

छह माह के अंतराल में बदमाशों ने एक दर्जन से अधिक लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। जबकि कुछ लोगों को गोली मारकर कर जख्मी कर दिया गया है। लगातार बढ़ रहे हत्याकांड की घटना से लोग सकते में है। इससे इलाके के लोग भयक्रांत है। बढ़ रही आपराधिक घटनाओं पर लोग पुलिस पर सवाल उठा रहे हैं। क्या अपराधियों में पुलिस का खौफ नहीं रह गया है? बेलगाम अपराधियों के आगे पुलिस बौनी पड़ गई है। पुलिस का अपराध पर नियंत्रण नहीं रह गया है। ताजा मामला पुरैनी थाना क्षेत्र की है। यहां पर 10 जून की रात्रि बेखौफ बदमाशों ने नरदह पंचायत के पूर्व मुखिया वर्तमान मुखिया पति अनिल यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। वह घटना की रात योगीराज गांव से भोज खाकर अपने घर दुबीसूबी लौट रहे थे। बदमाशों ने ओवरटेक कर नयाटोला गांव के पास गोली मारकर हत्या कर दी। इस वारदात में बाइक चालक गंभीर रुप से जख्मी है। जनप्रतिनिधि की हत्या से अनुमंडल क्षेत्र के लोग सकते में है। वहीं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और लोगों में भारी आक्रोश है। घटना से पुरैनी क्षेत्र में मंगलवार के दिन भर माहौल गर्म रहा। पुलिस के आलाधिकारी अनुमंडल मुख्यालय में कैंप कर हालात पर नजर बनाए रखा। पुलिस ने घटना में कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। यद्यपि पुलिस ठोस नतीजों पर नहीं पहुंच पाई है। इस घटना ने लोगों को दहला कर रख दिया है। पिछले छह महीने से अबतक की घटनाओं पर गौर करें तो क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक लोगों की हत्या हो चुकी हैं। हत्याओं के सिलसिलेवार घटनाओं से पुलिस की कार्यशैली को समझा जा सकता है। यह तो सिर्फ हत्याओं के आंकड़े है। जबकि लूट और चोरी के दर्जनों वारदात हुए है। लगातार बढ़ रहे घटनाओं के बावजूद पुलिस सक्रिय नहीं दिख रही है। इलाके के लोगों को पुलिस की कार्यशैली से भारी नाराजगी है। लोग अनुमंडल पुलिस अधिकारी को हटाने की मांग करने लगे है।

छह माह में एक दर्जन लोगों की हुई हत्या

बताया जाता है कि आलमनगर के सहायक थाना रतवारा अंतर्गत अजगैवीपुरी में सुदामा देवी नामक महिला की गला रेतकर हत्या कर दी गई।ग्वालपाड़ा के शाहपुर में 21 जनवरी को युवक को बदमाशों ने गोली मारी।रतवारा के गंगापुर बैजू मंडल टोला में 23 जनवरी को 35 वर्षीय युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई।उदाकिशुनगंज के तेलडीहा गांव के अमित कुमार नामक की हत्या छह फरवरी को महेशुआ गांव के निकट कर दिया गया।पुरैनी के कोयला टोला गांव के कपिलदेव सिंह की हत्या आठ मार्च को बिहारीगंज थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में कर दी गई।कपिलदेव का अपहरण दो मार्च का फिरौती के लिए किया गया।रतवारा के खापुर में 15 मार्च को 60 वर्षीय वृद्ध की हत्या सुप्तावस्था में गोली मारकर कर दी गई।पुरैनी के औराय पंचायत के खैरहो गांव में 23 मार्च को मूरलीगंज के तीनकोनवा गांव के प्रमोद यादव की हत्या कर दी गई।वह दूध का कारोबार करता था। बताया जाता हैं कि रूपये के लेनदेन में दूध कारोबारी की हत्या की गई।आलमनगर के भगीपुर में तीन मई को अधेड़ की हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया।ग्वालपाड़ा के अरार नदी में 22 मई को युवक का शव बरामद हुआ। ग्वालपाड़ा के सुखासन में 23 मई को कैलाश यादव को गोली मारी गई।उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय में चार जून को चीचो राम को बदमाशों ने गोली मारी।उदाकिशुनगंज के खाड़ा गांव में दो जून को अपहृत बालक रबिन की हत्या पांच जून को कर दी गई।ग्वालपाड़ा के भलुवाई गांव के पास सरौनी गांव के मक्का व्यवसायी त्रिवेणी मुखिया के दामाद लवकुश को बदमाशों ने गोली मारी। इलाज के दौरान लवकुश की मौत हो गई। वह पूर्णिया के भवानीपुर थाना क्षेत्र के सुरकाही गांव का रहने वाला था।

 

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सहरसा नया बजार हुआ अतिक्रमण मुक्त, नाले से हटाया गया अतिक्रमण

सुभाष चन्द्र झा कोसी टाइम्स@सहरसा नगर परिषद के द्वारा रविवार को नया बजार मे सड़कों तथा नाला पर से अवैध ...