Home » Others » खगड़िया:बेलदौर के समाज सेवी संजय शर्मा को गरीबों के लिए आवाज उठाना पड़ा महंगा, हुआ मुकदमा दर्ज

खगड़िया:बेलदौर के समाज सेवी संजय शर्मा को गरीबों के लिए आवाज उठाना पड़ा महंगा, हुआ मुकदमा दर्ज

Advertisements

सुमलेश कुमार यादव@बेलदौर,खगड़िया

समाज सेवी संजय शर्मा ने प्रेस वार्ता कर बताया की जब जब पीएचसी में व्याप्त पूर्ण व्यवस्था एवं डॉक्टरों की लापरवाही के विरोध में आवाज उठाते हैं तो पीएचसी के प्रबंधक साजिश के तहत झूठे मुकदमे में फंसा कर परेशान करने की कोशिश करते हैं। उक्त बातें समाजसेवी संजय शर्मा ने प्रेसवार्ता में कही। आगे उन्होंने कहा कि पीएचसी के संबंध में मेरे ऊपर 8 मामले पहले से दर्ज है, जबकि पीएचसी के बारे में 1996 से मेरे ऊपर मामला दर्ज होते आ रहा है। लेकिन दो हजार में पीएचसी कि कूव्यवस्था के कारण मुझे जेल भी जाना पड़ा। इस बार भी पीएचसी के प्रबंधक द्वारा एक मुकदमा दर्ज किया गया। इससे मैं डरने वाला नहीं हूं, जब तक मैं जिंदा रहूंगा जनता के सवाल को लेकर लड़ाई लड़ता रहूंगा। जनता के दुख मैं चढ बढ़कर भाग लेता रहूंगा। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की लापरवाही के कारण बीते 15 दिनों के अंदर दो सर्पदंश प्रीत व्यक्ति काल के गाल में समा गए। परिजनों में मातमी सन्नाटा पसर गया। इस दुखद बात को लेकर रोड जाम एवं डॉक्टरों के खिलाफ प्रदर्शन किया गया तो, साजिश के तहत बीएचएम अशोक यादव द्वारा झूठे मुकदमा किया गया। क्या लोकतंत्र में विरोध करना सड़क जाम करना बुरी बात है। यदि विरोध नहीं करते है तो डॉक्टर व कर्मी आपस में बैठकर बलगहिया करते रहते हैं। मरीज दर्द से कराहते रहेंगे लेकिन उक्त स्थल पर से उठकर डॉक्टर मरीज के पास इलाज करने नहीं जाएंगे। यदि उसके विरुद्ध समाजसेवी के द्वारा रोड जाम किया जाता है तो स्थानीय साजिश के तहत समाजसेवी को फंसा दिया जाता है।

मालूम हो कि 2 दिन पूर्व सर्पदंश प्रीत बालक की मौत हो जाने के बाद उनके घरों का मातम खत्म नहीं हुआ, कि बीएचएम के द्वारा उनके घरों के परिवार को झूठे मुकदमे में फंसा कर जेल भेजने का काम कर रहे हैं ।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सहरसा नया बजार हुआ अतिक्रमण मुक्त, नाले से हटाया गया अतिक्रमण

सुभाष चन्द्र झा कोसी टाइम्स@सहरसा नगर परिषद के द्वारा रविवार को नया बजार मे सड़कों तथा नाला पर से अवैध ...