Home » Recent (Slider) » मधेपुरा:उमश भरी गर्मी में बिजली की आंख मिचौली से उपभोगता परेशान, विभाग के अधिकारी नही देतें है ध्यान

मधेपुरा:उमश भरी गर्मी में बिजली की आंख मिचौली से उपभोगता परेशान, विभाग के अधिकारी नही देतें है ध्यान

Advertisements

रंजीत कुमार सुमन

कोसी टाइम्स@मुरलीगंज,मधेपुरा 

विद्युत उपकेंद्र से शहर एवं तीन फीडर को दी जाने वाली विद्युत आपूर्ति इस गर्मी के मौसम में पूरी तरह डामाडोल स्थिति में पहुंच गई है। पिछले एक पखवाड़े से अगर चंद बूंदे पानी और थोड़ी भी हवा चल पड़े तो विद्युत उपकेंद्र की आपूर्ति ठप पड जाती है। उमश भरे गर्मी में बिजली की आंख मिचौली से जहाँ उपभोगता परेशान है वही विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौषम की खराबी का हवाला देकर अपने जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेते है । जरा सी हवा-पानी के बाद 24 से 48 घंटे के लिए विद्युत आपूर्ति ठप्प हो जाती है ।

उमश भरी गर्मी में बिजली विभाग के इस रवैये से जहाँ शहर के लोगो को परेशानी झेलनी पड़ती है वही ग्रामीण इलाकों में भी काफी परेशानियों का सामना कर रहे उपभोगताओं में काफी आक्रोश है। उपभोगताओं की नाराजगी इस कदर बढ़ गयी है कि वो बिजली विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें उपभोगता की परेशानी से कोई मतलब नही है । उन्हें तो सिर्फ बिजली बिल के नाम पर मोटी उगाही, कर्मचारी को कनेक्शन जोड़ने के नाम पर उगाही करने से मतलब है । अगर विरोध कीजिये तो झूठे मुकदमे में फसाने की धमकी दी जाएगी ।

इतना ही नही आजकल शोशल मीडिया फेसबुक और व्हाट्सअप पर मुरलीगंज विद्युत आपूर्ति केंद्र के कर्मचारी और अधिकारियों के खिलाफ पोस्ट करके भी लोग विरोध जता रहे है ।

इस तरह की व्यवस्था में दो बूंद बारिश होने के बाद विद्युत आपूर्ति ठप्प हो जाने से लोगों को कई समस्याएं एक साथ खड़ी हो जाती है।
इस मामले में कनीय अभियंता राधेश्याम कुमार ने जानकारी देते हुए बताया यह बारिश होने की वजह से यह समस्या आई है। पूछे जाने पर हर बार हल्की बारिश के बाद भी आपूर्ति क्यों बंद हो जाती है उन्होंने कहा कि बारिश में विद्युत आपूर्ति सिंघेश्वर ग्रिड से ही बंद कर दी जाती है ।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सहरसा नया बजार हुआ अतिक्रमण मुक्त, नाले से हटाया गया अतिक्रमण

सुभाष चन्द्र झा कोसी टाइम्स@सहरसा नगर परिषद के द्वारा रविवार को नया बजार मे सड़कों तथा नाला पर से अवैध ...