Home » Recent (Slider) » कुलपति के दो साल हुए पूरे,विश्वविद्यालय ने जारी किया उपलब्धियों का विवरण

कुलपति के दो साल हुए पूरे,विश्वविद्यालय ने जारी किया उपलब्धियों का विवरण

Advertisements

विश्वविद्यालय संवाददाता

मधेपुरा

बीएनएमयू में कुलपति डाॅ. अवध किशोर राय ने 29 मई 2017 को योगदान दिया था. इनके योगदान के साथ ही विश्वविद्यालय का मौसम बदलने लगा. इसी बदलाव एवं विकास को केंद्र में रखकर विश्वविद्यालय ने दो माह की उपलब्धियों का संक्षिप्त लेखा-जोखा जारी किया है. प्रमुख उपलब्धियां हैं-

1. सभी काम नियम-परिनियम के अनुरूप हो रहे हैं. सीनेट, सिंडीकेट, परीक्षा समिति, वित्त समिति, विद्वत परिषद्, भवन निर्माण समिति, क्रय-विक्रय समिति आदि की बैठकें नियमित रूप से हो रही हैं.

2. कई महाविद्यालयों का नैक से मूल्यांकन कराया गया। अन्य में तैयारी जारी है। विश्वविद्यालय स्तर पर आईक्यूएसी का गठन किया गया है.

3. विभिन्न विषयों में नये शिक्षकों का पदस्थापन किया गया है. शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए शीघ्र ही अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। शिक्षकों की नियमानुसार प्रोन्नति दी गई है.

4. विश्वविद्यालय में कार्यरत संविदाकर्मियों का स्थायीकरण किया गया है.

5. पेंशन अदालत लगाकर सेवानिवृत्त सेवानिवृत्त शिक्षकों एवं कर्मचारियों की समस्याओं का आॅन द स्पाॅट समाधान किया गया. प्रायः सभी बकाया पेंशन का भुगतान कर दिया गया है.

6. विश्वविद्यालय वित्तीय स्वच्छता एवं पारदर्शिता के आदर्शों के अनुरूप कार्य कर रहे हैं और सभी प्रकार की वित्तीय अनियमितताओं को रोकने हेतु प्रतिबद्ध है.

7. सभी महाविद्यालयों, स्नातकोत्तर विभागों एवं विश्वविद्यालय कार्यालयों में बायोमेट्रिक एटेन्डेस सिस्टम लागू किया जा रहा है.

8. स्नातकोत्तर विभागों एवं महाविद्यालयों में समय तालिका के अनुरूप कक्षाओं का संचालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं.

9. लंबित शोध प्रस्तावों को पीजीआरसी की बैठक में स्वीकृति प्रदान की गयी है. जून में पेट परीक्षा आयोजित की जाएगी.

11. विश्वविद्यालय नियमित सत्र हेतु प्रतिबद्ध है. कदाचरमुक्त परीक्षा संचालन और ससमय त्रुटिरहित परीक्षाफल प्रकाशन सुनिश्चित किया गया है. विश्वविद्यालय के इतिहास में पहली बार कदाचार जांच समिति का गठन किया गया है.

12. एमसीए, बीलिब एवं एमएड की पढ़ाई शुरू हुई है. शीघ्र ही पत्रकारिता एवं जनसंचार में डिप्लोमा कोर्स की शुरूआत की जाएगी। तनाव प्रबंधन में डिप्लोमा, आपदा प्रबंधन में डिप्लोमा और गाँधी विचार में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम शुरू करने की योजना है।

13. सोशल साइंस एवं विज्ञान के सभी विषयों को भी नये कैम्पस में सिफ्ट किया जा चुका है. शीघ्र ही शेष विषय भी वहाँ चले जाएँगे

14. बीएनएमयू का नया वेबसाइट बीएनएमयूडाॅटएसीडाॅटइन बनाया गया है. यूआईएमएस लागू किया गया है. विभिन्न स्तरों पर आॅन लाइन नामांकन प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है.

15. स्टेट बैंक की सहायता से चुल्हाय पार्क एवं कृति पार्क का सौंदर्यकरण किया जा रहा है.

16. शुद्ध पेयजल एवं शौचालय की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है. जगह-जगह गर्ल्स काॅमन रूम एवं वासरूम की व्यवस्था की गई है.

17. मधेपुरा के तत्कालीन सांसद के सौजन्य से एक बस प्राप्त हुआ है.

18. वर्षों से बंद पड़े जिम को चालू किया गया है. बैडमिंटन कोर्ट एवं वाॅलीवाल कोर्ट का निर्माण कराया गया है.

19. बंद पङे रीमिडियल कोचिंग की शुरुआत हुई है.

20. एकलव्य, तरंग एवं विभिन्न अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिताओं में भागीदारी की गयी.

21.एनएसएस को सक्रिय किया गया है.

22. विश्वविद्यालय का रजत जयंती समारोह के अंतर्गत सेमिनार का आयोजन किया गया.

23. जनसंपर्क पदाधिकारी के माध्यम से मीडिया को आवश्यक सूचनाएँ उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है. राजभवन संवाद की तर्ज पर बीएनएमयू संवाद का प्रकाशन किया गया.

24. विश्व योग दिवस, स्वच्छ भारत अभियान और बाल विवाह एवं दहेज विरोधी मानव-श्रृंखला में भागीदारी निभाई गयी.

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

चौसा ने चल रहे पोलियो का यूनिसेफ के उपक्षेत्रीय पर्यवेक्षक अभयकांत श्रीवास्तव ने किया निरीक्षण

पाकिस्तान में 6 केस तथा अफगानिस्तान में निकले 3 केस 27 मार्च 2014 को भारत बना पोलियो मुक्त देश भारत ...