Home » Recent (Slider) » शुरुआत क्षणो में ईभीएम में आई गड़बड़ी को फौरन ठीक कर सुचारूपूर्वक हुआ मतदान,कई केन्द्र पर बीएलओ की हुई शिकायत

शुरुआत क्षणो में ईभीएम में आई गड़बड़ी को फौरन ठीक कर सुचारूपूर्वक हुआ मतदान,कई केन्द्र पर बीएलओ की हुई शिकायत

Advertisements

सुभाष चन्द्र झा
कोशी टाइम्स @ सहरसा.

लोकसभा चुनाव के तृतीय चरण में मधेपुरा लोकसभा एवं खगड़िया लोकसभा के लिये मंगलवार को जिले में शांतिपूर्ण मतदान की जानकारी मिल रही है। जिले में मतदान के शुरुआत के समय सैकड़ों जगहों से थोड़ी बहुत शिकायत सुबह सात बजे से आने लगी।

शिकायतों के आधार पर जिला कंट्रोल रूम द्वारा तत्काल उसे दूर कराते हुए मतदान की प्रक्रिया शुरू कराने का काम किया गया। अधिकांश जगहों पर 10 से 15 मिनट की देरी के बाद ही मतदान शुरू हो गया।जबकि थोड़े कुछ जगहों पर वीवीपैट या फिर ईवीएम की अदला-बदली करनी पड़ी।

जिलाधिकारी डा शैलजा शर्मा सुबह 6.30 बजे से दिन के एक बजे तक लगातार कंट्रोल रूम में बैठकर सभी शिकायतों का तत्काल निष्पादन अधिकारियों के साथ करने में जुटी रही। वहीं कंट्रोल रूम में हीं लाइव वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई थी। लाइव वेबकास्टिंग के द्वारा जिले के 25 मतदान केंद्रों से लाइव वेबकास्टिंग भी सुचारू रूप से जारी रहा। जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक दो घंटे पर मतदान का औसत की जानकारी दी जाती रही। 75 सहरसा विधानसभा के अंतर्गत 347 मतदान केंद्रों में से 31 मतदान केंद्रों से थोड़ी बहुत शिकायत मिली जिसे समय पर दुरुस्त कर दिया गया।

जानकारी देते एआरओ सदर एसडीओ शंभूनाथ झा ने बताया कि सहरसा विधानसभा के लगभग 31 मतदान केंद्रों से सुबह के समय थोड़ी बहुत शिकायत मिली जिसे तत्काल दूर कर दिया गया। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत सौर बाजार के दो मतदान केंद्रों पर ईवीएम को गड़बड़ी के कारण बदलना पड़ा जबकि छह जगहों से वीवीपैट की शिकायत मिली जिसे दूर कर लिया गया। उन्होंने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण एवं सुचारु रुप से मतदान जारी रहा।वहीं जिला कंट्रोल रूम द्वारा शांतिपूर्ण मतदान की जानकारी के अलावे प्रथम दो घंटे के मतदान के बाद नौ बजे 9.34 प्रतिशत मतदान होने की जानकारी दी गयी। जबकि दिन के 3 बजे तक 42 प्रतिशत मतदान होने की सूचना दी गयी।

पीठासीन पदाधिकारियों को ईवीएम संचालन के जानकारी का था अभाव

मतदान केंद्रों पर ईवीएम के खराबी की शिकायत को लेकर जिला प्रशासन द्वारा पूर्व में पूरी तैयारी की गयी थी। मतदान केंद्रों से जानकारी मिलते ही निर्धारित क्षेत्रों के लिये तैनात ईवीएम, वीवीपैट मैकेनिक इसे ठीक करने का काम किया। अधिकांश शिकायतों वाले बूथों पर ईवीएम एवं वीवीपैट पूरी तरह सही थे जबकि कनेक्शन एवं ऑपरेट करने के तरीके के कारण इस तरह की शिकायत मिल रही थी। जिसे प्रशिक्षित मैकेनिकों द्वारा तत्काल दुरुस्त किया गया।

ईवीएम एवं वीवीपैट को ऑपरेट करने का प्रशिक्षण जिला प्रशासन द्वारा लगभग तीन चरणों में पूरी मुस्तैदी के साथ दिया गया था लेकिन पीठासीन पदाधिकारी इसका लाभ नहीं उठा सके। जिसके कारण ईवीएम एवं वीवीपैट में गड़बड़ी की शिकायत मिल सका। अधिकांश शिकायत वाले जगहों पर वीवीपैट एवं ईवीएम के कनेक्शन को लेकर ही था।कुछ जगहों पर ईवीएम ऑपरेट करने का तरीका तक पीठासीन अधिकारी भूल गये थे। जिस कारण उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ा।मतदाताओं द्वारा की गयी शिकायतों के बाद इसे दुरुस्त कराया गया।

मतदाता पर्ची के बाद भी नहीं दे सके मतदान ःः
जिले के अधिकांश मतदान केंद्रों पर मतदाता पर्ची नहीं मिलने के कारण एवं मतदाता सूची से नाम हट जाने के कारण मतदाताओं को मतदान केंद्र से वापस लौटना पड़ा। कई मतदाता को मतदाता पर्ची रहने के बावजूद भी मतदान केंद्र पर नाम नहीं होने की बात कह लौटाया गया।जिला प्रशासन द्वारा लगभग सभी बूथों पर हेल्प डेस्क की व्यवस्था की गयी थी, लेकिन इन जगहों से भी मतदाताओं को उचित जानकारी नहीं दिये जाने के कारण मतदाताओं को वापस लौटना पड़ा।

यही हाल जिला मुख्यालय के जिला परिषद में बने आदर्श मतदान केंद्रों पर भी रहा. सैकड़ों मतदाता सूची में नाम नहीं होने एवं बीएलओ द्वारा मतदाता पर्ची नहीं दिये जाने के कारण मतदान से वंचित रह गये। कुछ ऐसे मतदाता भी आदर्शमतदान केन्द्र में मौजूद थे जिन्हें मतदाता पर्ची तो थी लेकिन मतदान केंद्रों पर उनका नाम मिलान करने के वक्त नाम नहीं पाये जाने से लौटा दिया गया.

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

हिमा दास 20 दिन के अंदर पांचवां गोल्ड मेडल किया अपने नाम

  भारतीय स्टार ऐथलीट हिमा दास ने शनिवार को एक और गोल्ड मेडल अपने नाम किया। चेक रिपब्लिक में जारी ...