Home » Breaking News » सहरसा में बिजली मिस्त्री की मौत पर शंकर चौक को जाम कर लोगों ने काटा बबाल

सहरसा में बिजली मिस्त्री की मौत पर शंकर चौक को जाम कर लोगों ने काटा बबाल

Advertisements

सुभाष चन्द्र झा
कोसी टाइम्स@सहरसा
सहरसा बिजली विभाग मे सविंदा पर बहाल लाइन मैन विजय कुमार का रविवार की शाम मे रिफ्यूजी कॉलोनी के पास लाइन ठीक करने के दौरान ग्रिड के लापरवाही के कारण असमय एक जिंदादिल नौजवान की मौत हो गई। लोगों ने कहा बिजली विभाग के 11000 सप्लाई ग्रिड मे तार जोड़ने क्रम में उस समय कार्यरत कर्मी के द्वारा लपरवाही से मौत हुई है , इस तरह की हदय विदारक घटना से मर्माहत ने लोगों ने शंकर चौक को जाम कर दिया। शव को बीच सड़क पर आगजनी तथा प्रशासन विरोघी नारे के साथ उग्र प्रदर्शन किया । प्रशासन से दोषी के विरुद्ध कार्रवाई करने तथा मृतक के परिजनों को मुआवजे की मांग की गई। सदर थानाध्यक्ष राजमणि,सदर एसडीओ शंभूनाथ झा तथा विद्युत कार्यपालक अभियंता राहुल कुमार घटना स्थल पर पहुँच कर भीड़ से वार्ता कर जाम को हटाया । प्रशासन ने दोषी बिजली मिस्त्री को निलंबित करने की सूचना दी साथ ही मृतक के परिजनों को चार लाख रुपये मुआवजा की अनुशंसा की गई है ।ट्रांसफार्मर के रिपेयर के दौरान ही आई बिजली के लगे झटके से हुए थे घायल,आधे घंटे तक तड़पते रहे ट्रांसफार्मर के नीचे ।लेकिन उन्हें अस्पताल तक पहुंचाने में आसपास लोगों ने हिम्मत नहीं दिखाई । उनके साथ काम कर रहे बिजलीकर्मी मो अशफाक भी विजय को तड़पते देख अपना होश गँवा बैठे । फिर लगभग आधे घंटे तक वे भी ट्रांसफार्मर के नीचे थरथर कांपते रहे । वे वही खड़े लोगों से विनती करते रहे । लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। हालांकि इस दौरान बिजली पुनः कट गई थी । फिर आधे घंटे के बाद कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाई और घायल विजय कुमार को गांधी पथ स्थित निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया । जहां से चिकित्सकों ने उन्हें पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया । लेकिन जब-तक उन्हें एंबुलेंस में लादकर पटना के लिए निकला जाता , तब-तक अस्पताल में ही उनकी मौत हो गई ।मालूम हो कि मृतक लाइनमैन विजय कुमार महिषी विधानसभा क्षेत्र के पूर्व जदयू विधायक गुंजेशर सह के नाती है । उनके घायल होने की सूचना पर वे स्वयं निजी नर्सिंग होम पहुंचे । उन्होंने विजय कुमार नाती बताते हुए बिजली विभाग की लापरवाही की बातें भी कही । उन्होंने बिजली विभाग पर सवाल उठाया कि जब बिजली विभाग के लाइनमैन बिजली का सर डॉन लेकर ट्रांसफार्मर पर तार जोड़ रहे थे। साथ ही उनके साथ अन्य बिजली कर्मी भी मौजूद थे तो , किसने फीडर से बिजली चालू करवाई। बिना कर्मी के पोल से नीचे उतरे बिजली को चालू करना … बड़ा सवाल उठता है । जिसकी वे स्वयं जांच की मांग करेंगे और जांच करवाएंगे ।
मृतक के पिता ने भी बिजली विभाग पर गंभीर आरोप लगाते हुए लाइन चालू होने पर सवाल खड़े किए हैं । स्थानीय लोगों को भी बिजली विभाग के प्रति आक्रोश देखा जाता है । लगभग 3 घंटे इलाज के दौरान कोई भी वरीय पदाधिकारी निजी नर्सिंग होम नहीं पहुंचे थे । जिससे भी लोगों में आक्रोश देखा जा रहा था। जिसके कारण सोमवार को शंकर चौक जाम कर दिया गया ।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

शुरुआत क्षणो में ईभीएम में आई गड़बड़ी को फौरन ठीक कर सुचारूपूर्वक हुआ मतदान,कई केन्द्र पर बीएलओ की हुई शिकायत

सुभाष चन्द्र झा कोशी टाइम्स @ सहरसा. लोकसभा चुनाव के तृतीय चरण में मधेपुरा लोकसभा एवं खगड़िया लोकसभा के लिये ...