Home » Others » सहरसा:सोनबरसा राज में आयरन युक्त पानी पीकर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं लोग

सहरसा:सोनबरसा राज में आयरन युक्त पानी पीकर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं लोग

Advertisements

**सात निश्चय योजना के तहत स्वच्छ पेयजल से कोशो दूर है यहां के लोग

राज आर्यन गुड्डू

कोसी टाइम्स@महुआ बाजार,सहरसा

सोनबरसा राज प्रखंड क्षेत्र के अधिकांश पंचायत महुआ उत्तरवारी, रघुनाथपुर बैठमुसहरी, सरौनी-मधेपुरा, बरगांव,बरसम में आयरन की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है । जिसे रोकने में विभाग असफल साबित हो रहा है।सोनबरसा प्रखंड क्षेत्र के लोगों की मानें तो पानी में काफी मात्रा में आयरन रहता है ।जिसे सफेद कपड़ो में पीलापन व दांत में कालापन , अधिकांश लोगों के पेट में गैस की बीमारी हो जाती है ।लोग आयरन युक्त पानी पीने को विवश हैं। पानी का रंग स्थितियां बयां कर जाती है।

इस पानी का उपयोग करने वाले यहां के ग्रामीण बताते हैं कि स्नान करो तो शरीर पीला, पानी से कपड़ा धोने से कपड़े पीले हो जाते हैं, पानी से दांत पीले, भोजन पकाने पर भोजनपीला पड़ जाता है।बर्तन पीले ,काले हो जाते हैं यानी जिससे पानी से संर्पक हुआ वह चीज पीला काला बन कर पानी का छाप बन जाता है।इस क्षेत्र के लोगों को अभी तक स्वच्छ पेयजल नहीं मिल पा रहा है जो कि बहुत ही चिंताजनक व दुर्भाग्यपूर्ण है।।आखिर इस क्षेत्र के लोग करे तो क्या करे।क्योंकि पानी में इतना मात्रा में आयरन है कि पानी को अगर चापाकल से चलाकर पीना चाहे तो पानी में आर्यन के साथ-साथ पानी से अजीब बदबू भी आती है।जिसको पीना किसी बड़े बीमारी को आमंत्रण देना जैसा है।
जबकि सरकार द्वारा शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए मिनी वाटर पंप प्रत्येक गांव में लगाने का प्रावधान है ।यहाँ तक की मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत हर घर शुद्ध पेयजल मुहैया कराने की योजना भी है। लेकिन विडंबना ही कहा जाए कि धरातल पर अब तक यह योजना उतर नहीं पाई है ।यहां शुद्ध पेयजल आपूर्ति की दिशा में विभाग कोई प्रयास नहीं कर रहा है। जबकि सरकार की योजना है कि हर घर नल व शुद्ध पेयजल पहुंचाया जाए ।ताकि लोगों को शुद्ध पानी मिल सके और लोगो को बीमार होने से बचाया जा सके।

हर घर नल की योजना प्रखण्ड से नही कराई जा रही है।इसे पीएचईडी विभाग को करने के लिए दिया गया है।इसलिए इस बारे में बताने में मैं असमर्थ हूँ।

रेणु सिन्हा (बीडीओ)
सोनबरसा राज

आयरनयुक्त पानी पीने से पेट से सम्बंधित बहुत सारी बीमारियां उपन्न होती है। जैसे कि पेट मे गेस की समस्या,लिवर खराब होना,और आयरनयुक्त पानी में फ्लोराइएड की मात्रा होने से दांत समन्धित बीमारीयां भी उतपन्न होती है जैसे कि समय से पहले दांत का खराब होना।

डॉ० नवीन कुमार 
सोनबरसा पीएचसी

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

सहरसा लोको रनिंग पायलट की भूख हड़ताल सम्पन्न,एस एस ने जूस पिला कराया हड़ताल समाप्त

सुभाष चन्द्र झा कोसी टाइम्स@सहरसा लोको रनिंग पायलट द्वारा 24 घंटे का भूख हड़ताल मंगलवार को सम्पन्न हुआ । प्रभारी ...