Home » Breaking News » सहरसा में कुख्यात बुलेट साह की गैंगवार में हत्त्या,गोलियों से किया छलनी

सहरसा में कुख्यात बुलेट साह की गैंगवार में हत्त्या,गोलियों से किया छलनी

Advertisements

**माली खड़ा मुख्य मार्ग से काशनगर जाने वाली शिवपुर कच्ची सड़क के समीप की घटना

राज आर्यन गुड्डू

कोसी टाइम्स@महुआ बाजार,सहरसा

 

शनिवार को काशनगर ओपी क्षेत्र में मारा गया अपराधी बुलेट साह उर्फ विमलेंदु की पारिवारिक पृष्ठभूमि मे भी उसके पिता व सौतेले पिता की हत्या कर दी गई थी।तथा खुद बुलेट अपने सौतेले भाई रंजीत साह की हत्या का नामजद अभियुक्त था।कुल मिलाकर इस परिवार के चार सदस्यों की हत्या की गई थी।
मृतक बुलेट साह के पिता अशोक साह मूलतः काशनगर के निवासी थे।जो महुआ के तेलयारी टोला मे पूर्व मुखिया देवनारायण साह के पड़ोस मे बस गए थे तथा पुर्व मुखिया देवनारायण साह के काम धंधे में हाथ बंटाने लगे थे।इसी बीच पुर्व मुखिया देवनारायण साह व अशोक साह के पत्नी शांति देवी के बीच प्रेम संबंध हो गया।पत्नी के अवैध संबध मे अशोक साह द्वारा बाधक बनने पर देवनारायण साह से झगड़ा हो गया।तथा देवनारायण साह ने उसकी पत्नी शांति देवी को जबरन अपने पास रखकर अशोक साह को मारपीट कर भगा दिया।उसके बाद अशोक साह कुछ दिन अकेले मंगलाबाजार बजार मे रहने लगा।इसके कुछ दिनों के अंदर 1988 मे अशोक साह की हत्या हो गई।जिसमें देवनारायण साह समैत अन्य को नामजद किया गया।तब से मृतक बुलेट साह की माँ शांति देवी देवनारायण साह के साथ ही रहने लगी।तथा तीन पुत्र व एक पुत्री की मां भी बनी।ईसी बीच 5 जुलाई 2004 को पूर्व मुखिया देवनारायण साह की भी हत्या कर दी गई।


इन घटनाओं के बीच पुर्व मुखिया देवनारायण साह के दोनों पत्नियों क्रमशःमंजुला देवी तथा शांति देवी के बच्चे बालिग हो गए तथा आपस मे देवनारायण साह की संम्पत्ति के लिए लड़ने लगे।देवनारायण साह की पहली पत्नी मंजुला देवी मुखिया बन गई और पंचायत का काम धाम उनका बड़ा पुत्र रंजीत कुमार साह उर्फ टुनटुन संम्भालने लगा जबकि दुसरी पत्नी शांति देवी का पुत्र बुलेट साह अपराधिक गतिविधियों में शामिल होकर अपने सौतेले भाई रंजीत कुमार साह से आपसी रंजिश रखने लगा।तथा अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर बीते 11 अप्रैल 2017 की रात अपने दवा दुकान पर बैठे रंजीत साह की हत्या गोली मारकर कर दिया।
उस दिन से बुलेट साह फरार होकर पूर्ण रूप से अपराधिक गतिविधियों में शामिल हो गया।काशनगर पुलिस के अनुसार मृतक बुलेट साह कुख्यात मनी पासवान समैत कई अन्य गिरोह की शागिर्दी करने लगा था।तथा विश्वस्त सूत्रों के अनुसार कुछ दिनों से वो घटना स्थल से एक ढेड किलोमीटर दूर कोपा पंचायत के तिरासी गांव को अपना ठिकाना बनाए हुए था।तथा महुआ ,ग्वालपाड़ा, बुधमा ,खजुराहा तथा सहरसा तक अपना गतिविधि चलाता था।काशनगर पुलिस घटना स्थल से बरामद मृतक के मोबाईल हैन्डसेट मे शामिल नम्बरों की तफ्तीश अच्छी तरह से करे तो हत्या का उद्भेदन आसानी से किया जा सकता है।

Comments

comments

Advertisements
x

Check Also

शुरुआत क्षणो में ईभीएम में आई गड़बड़ी को फौरन ठीक कर सुचारूपूर्वक हुआ मतदान,कई केन्द्र पर बीएलओ की हुई शिकायत

सुभाष चन्द्र झा कोशी टाइम्स @ सहरसा. लोकसभा चुनाव के तृतीय चरण में मधेपुरा लोकसभा एवं खगड़िया लोकसभा के लिये ...