Home » Recent (Slider) » कटिहार : जिला जदयू महासचिव के निर्मम हत्या पर शोक सभा का आयोजन , प्रशासन को चेतावनी

कटिहार : जिला जदयू महासचिव के निर्मम हत्या पर शोक सभा का आयोजन , प्रशासन को चेतावनी

 

मुरली मनोहर घोष
कोसी टाइम्स@ बारसोई, कटिहार.

बारसोई अनुमंडल के तेलता ओपी अंतर्गत 14 मार्च को कटिहार जिला जदयू के महासचिव सह बलरामपुर प्रखंड के रामपुर हरदार के मुखिया पति मोहम्मद खुशदिल के निर्मम हत्या के बाद यहां आम जनता सहित जनप्रतिनिधियों में सुरक्षा को लेकर काफी चिंता है तथा वे भयाक्रांत हैं।

हत्या के दूसरे दिन पोस्टमार्टम के बाद शव के आने के पश्चात मृतक के अंतिम दर्शन के लिए यहां लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। मृतक एक खुशमिजाज एवं असहाय लोगों को हर तरह की सहायता पहुंचाने वाला सामाजिक व्यक्ति था जिसके कारण बहुत ही कम समय में वह क्षेत्र में आम लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया था। शव के आने के बाद प्रखंड के आम जनता सहित जन प्रतिनिधियों ने यहां एक शोक सभा का आयोजन कर मृतक की आत्मा को शांति तथा उनके परिवार के सदस्यों को धैर्य प्रदान करने हेतु ईश्वर से प्रार्थना की।

24 घंटों के अंदर गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन करने की धमकी

वहीं इस मौके पर सुरजापुरी जन क्रांति मोर्चा के संयोजक ख्वाजा शाहिद ने कहा कि पुलिस अपराधी के गठजोड़ के कारण इस क्षेत्र में अपराधियों का मनोबल अपने चरम सीमा पर है जिसके कारण क्षेत्र में इस तरह की घटना में लगातार वृद्धि हो रही है। पुलिस यहां आम जनता एवं जनप्रतिनिधियों को सुरक्षा देने में विफल है तथा यही कारण है कि पुलिस प्रशासन से लोगों का विश्वास धीरे-धीरे ख़त्म होने लगा है तथा पुलिस द्वारा अपराधियों को संरक्षण दिए जाने से लोगों में भय एवं आक्रोश व्याप्त है ।

श्री शाहिद ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए आगे कहा है कि अगर 24 घंटे के अंदर पुलिस द्वारा सभी अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो वह आम जनता के साथ आंदोलन करने हेतु विवश हो जाएंगे । इस मौके पर बलरामपुर प्रखंड के प्रमुख मोहम्मद अनीस, उप प्रमुख अली हैदर, मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष हाजी मोहसिन, जदयू प्रखंड अध्यक्ष कमल दास , मोहम्मद आजाद , नूर सरवर, वली सागर सहित क्षेत्र के सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Comments

comments

x

Check Also

“बिहार की धरती”

बिहार की धरती चाणक्य आर्यभट्ट और अशोक गौरवान्वित हुआ समस्त भूलोक बौद्ध–जैन–सिख–नव अवतरण शिक्षा–ज्ञान का उदित संचरण दिनकर की कलम-राष्ट्र ...