Home » Breaking News » सहरसा में बेटे का अपहरण फिर हुआ मामला दर्ज, अब नामजद आरोपी द्वारा केस नहीं उठाने पर दूसरे बेटे को अपहरण का दे रहा है खुला धमकी.

सहरसा में बेटे का अपहरण फिर हुआ मामला दर्ज, अब नामजद आरोपी द्वारा केस नहीं उठाने पर दूसरे बेटे को अपहरण का दे रहा है खुला धमकी.

राज आर्यन गुड्डू

कोसी टाइम्स@महुआ बाजार,सहरसा 

सोनबरसा राज प्रखण्ड क्षेत्र के बसनही थाना अंतर्गत बरीबन निबासी श्रवण साह के 11वर्षीय पुत्र नवीन के अपहरण के छह माह बीत जाने के बाद भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है।हालांकि नवीन का कोई ठोस सुराग तो नहीं मिला लेकिन फेसबुक के जरिये कानपुर से आई वायरल तस्वीर से लगता है कि पुलिस के मशक्कत के बाद मासूम नवीन को बरामद किया जा सकता है। लेकिन स्थानीय पुलिस द्वारा खास दिलचस्पी नहीं लेने के कारण आज तक परिजनों के लिए नवीन सपना का सागर बना हुआ है. मासूम पुत्र घर से खो जाने के बाद परिजन का हाल क्या होगा यह तो अंदाजा लगाने से भी दूर की बात है।अपहृत नाबालिग नवीन के माता-पिता व परिजन स्थानीय थाना बसनही का चक्कर काटते-काटते कई जोड़ें चप्पल तोड़ चुके हैं।अपहृत नवीन के माता-पिता ने सहरसा पुलिस अधीक्षक से लेकर आईजी डीआईजी तक का दरवाजा खटखटाया लेकिन सुशासन की सरकार में एक मां को अपने पुत्र का न्याय नहीं मिला।मिली जानकारी के अनुसार बीते छह माह पूर्व 14 सितंबर 2018 को 11वर्षीय नवीन का घर के समीप से ही अपहरण कर लिया गया था।

अपहृत नवीन अपने परिजन के साथ

अपहृत नवीन के परिजनों द्वारा स्थानीय पुलिस थाना बसनही में अपहरण का मामला भी दर्ज कराया गया तत्कालीन थानाध्यक्ष ने मामला को गंभीरता से लेते हुए लगातार हर जगह छापेमारी भी किया लेकिन उन्हें कोई सुराग नहीं मिल पाया।लेकिन परिजनों के द्वारा दर्ज कराए गए अपहरण के मामले में 5 नामजद आरोपी में तत्कालीन थनाध्यक्ष ने दो को तो गिरफ्तार कर खानापूर्ति तो कर दी थी। लेकिन 3 बचे हुए नामजद आरोपी की अभी तक न ही गिरफ्तारी हुई और ना ही अपहृत नवीन को बरामद किया गय।हालांकि परिजनों का आरोप है कि दो नामजद की गिरफ्तारी के बाद जो 3 नामजद आरोपी बचे हुए हैं,अगर उसे गिरफ्तार कर पूछताछ किया जाए तो नवीन के अपहरण का खुलासा किया जा सकता है।अपहृत नाबालिक नवीन के मां रंजू देवी ने कहा कि बीते 8 मार्च को नामजद आनंद साह मेरे घर पर आकर मुकदमा उठा लेने की धमकी दीया जिसकी सूचना हमने स्थानीय थाना बसनही को दीया।लेकिन बसनही पुलिस ने धमकी देने वाले आरोपित से इस संबंध में पूछताछ तक तो दूर की बात घटना स्थल तक जाना भी मुनासिब नही समझा।नवीन के माँ ने खुले रूप से कहा कि आनंद शाह के द्वारा मुझे व पूरे परिवार को बर्बाद कर देना वह दूसरे बेटे की अपहरण का भी धमकी मिल रहा है।केस नहीं उठाने पर और उनके द्वारा धमकी दिया जाता है।अब देखना दिलचस्प होगा कि एक बेटे की सदमा में तो पूरा परिवार अपना जीवन बर्बादी के तौर पर जीने को मजबूर हैं और नामजद आरोपी के द्वारा दूसरे बेटे को भी केस नहीं उठाने पर अपहरण करने का खुले तोर पर धमकी मिल रहा है। लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन आखिर इस मामले में कहां तक कार्रवाई करती है और कहां तक पीड़ित परिवार को न्याय दिलाती है।

Comments

comments

x

Check Also

“बिहार की धरती”

बिहार की धरती चाणक्य आर्यभट्ट और अशोक गौरवान्वित हुआ समस्त भूलोक बौद्ध–जैन–सिख–नव अवतरण शिक्षा–ज्ञान का उदित संचरण दिनकर की कलम-राष्ट्र ...