Home » Recent (Slider) » रंजन के सीनेट सदस्य मनोनयन पर छात्रों में हर्ष ,लोगों ने दिया बधाई

रंजन के सीनेट सदस्य मनोनयन पर छात्रों में हर्ष ,लोगों ने दिया बधाई

मधेपुरा

अभाविप के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रंजन यादव को बीएनएमयू में सीनेट सदस्य मनोनयन पर छात्रों में हर्ष का माहौल है।जिला मुख्यालय स्थित वार्ड संख्या 23 निवासी रंजन यादव मधेपुरा कॉलेज के बीएड प्रशिक्षु हैं। उन्होंने बीएनएमयू से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल है। रंजन का पैतृक घर घैलाढ़ प्रखंड स्थित बुद्धनगर बेलोखड़ी गांव में है। उनके पिता तारणी प्रसाद यादव सिंचाई विभाग, सहरसा में प्रधान सहायक से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। रंजन वर्ष 2012 से छात्र राजनीति में सक्रिय है। वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभिन्न दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन किया है। इसमें विवि अध्यक्ष, जिला संयोजक व विभाग संयोजक के पद शामिल है।

वर्तमान में रंजन अभाविप के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य हैं। छात्रहित जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर वे लागतार विवि में संघर्षरत रहे हैं। सीनेट सदस्य मनाेनीत होने पर रंजन ने कहा कि छात्र हित के मुद्दों को सदन में प्रमुखता से उठाएंगे।कोसी टाइम्स से बातचीत करते हुए श्री यादव ने कहा छात्र का मुद्दा मेरे लिए अहम होगा .बीते दिन हुए सीनेट के बैठक का रंजन यादव ने विरोध किया था कोसी टाइम्स से कहा था कि बैठक में सभी माननीय सदस्य ने भी छात्र हित का कोई मुद्दा नही उठाया सब अपने लिए रोये और अच्छा अच्छा खाना खाकर निकल लिए ,आज जब रंजन यादव से पूछा गया क्या रंजन यादव का आवाज अब मीटिंग में गूंजेगा तो बड़े बेबाकी से उन्होंने कहा किसी भी सुरत में मै कभी भी चुप नही रहूँगा छात्र हित का मुद्दा बिल्कुल  ही बैठक में उठेगा और अंजाम तक पहुँचाया भी जायेगा .

रंजन के  सीनेट सदस्य मनोनीत होने पर अभाविप के प्रदेश कार्यकारिणी समिति डॉ. ललन प्रसाद अद्री, विवि प्रमुख डॉ. राजेंद्र यादव, जिला प्रमुख डॉ. किशोर सिंह, प्रो. दिलीप कुमार, विभाग संयोजक अभिषेक यादव, जिला संयोजक शशि यादव, राजू सनातन, तरुण कुमार, ऋषभ कुमार, सोना यादव, समीक्षा यदुवंशी, दिलीप कुमार दिल, आसिफा वसी, पल्लवी राय, उपेंद्र कुमार भरत, विराट राज, चंदन कुमार सहित काफी संख्या में लागों बधाई दी है।

Comments

comments

x

Check Also

“बिहार की धरती”

बिहार की धरती चाणक्य आर्यभट्ट और अशोक गौरवान्वित हुआ समस्त भूलोक बौद्ध–जैन–सिख–नव अवतरण शिक्षा–ज्ञान का उदित संचरण दिनकर की कलम-राष्ट्र ...